ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

चर्चा में

दिल्ली में सोमवार से आफत: कड़े नियमों के साथ सम-विषम शुरू

नई दिल्ली

11 नवंबर 2017

राष्ट्रीय हरित अधिकरण यानि एनजीटी ने दिल्ली में 13 से 17 नवंबर तक सम-विषम योजना चलाने को शनिवार को मंजूरी दे दी। एनजीटी ने इस योजना को मंजूरी देते हुए कहा कि इससे महिलाओं, दोपहिया वाहनों और सरकारी कर्मचारियों को किसी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी। एनजीटी ने यह भी कहा कि भविष्य में पीएम2.5 का स्तर 300 से ऊपर और पीएम10 का स्तर 500 से ऊपर होने की स्थिति में सम-विषम योजना स्वचालित रूप से लागू हो जाएगी।


एनजीटी ने कहा है कि इस योजना के तहत केवल आपातकालीन वाहनों को ही छूट दी जाएगी। डीडीए का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील राजीव बंसल ने फैसला आने के बाद संवाददाताओं से कहा, "एनजीटी ने आज अपने आदेश में कहा कि अगर भविष्य में पीएम2.5 का स्तर 300 से ऊपर और पीएम10 का स्तर 500 से अधिक होता है तो सम-विषम योजना स्वचालित रूप से लागू हो जाएगी।"

बंसल ने कहा, "प्राधिकरण ने यह भी कहा कि इस योजना के तहत वीआईपी वाहनों, महिलाओं या सरकारी कर्मचारियों को किसी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी।" उन्होंने कहा, "केवल दमकल गाड़ियों, एम्बुलेंस और ठोस अपशिष्ट ले जाने वाले वाहनों जैसे आपातकालीन वाहनों को ही छूट दी जाएगी।" अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुसार पीएम2.5 और पीएम10 की सुरक्षित सीमा 25 और 60 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर है, जबकि राष्ट्रीय मानकों के अनुसार यह क्रमश: 40 और 100 यूनिट हैं।





जरा ठहरें...
गुजरात चुनाव से पहले आरएसएस प्रमुख ने फिर अलापा राम मंदिर मार्ग
राष्ट्रपति भवन अब आम लोगों के लिए सप्ताह में चार दिन खुलेगा
राहुल ने कहा जीएसटी का पांच नहीं एक स्लैब हो
नीरज शर्मा की जगह चौधरी बने उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी
दिल्ली के जानलेवा प्रदूषण पर सर्वोच्च न्यायालय का कड़ा निर्देश
कोहरे से निपटने के लिए उत्तर रेलवे ने कसी कमर!
आधुनिक साजो शौकत के साथ मंगलवार से शुरू हुई दिल्ली काठगोदाम ट्रेन!
दिल्ली में विश्व खाद्य समारोह का आयोजन, 10 अरब डॉलर की निवेश की उम्मीद
पटाखे पर लगे प्रतिबंध से व्यापारियों में भारी नाराजगी, भाजपाध्यक्ष से मिला प्रतिनिधि मंडल
सर्वोच्च न्यायालय ने दिल्ली और एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक लगाया
अन्ना की हुंकार 50 लोग मिलकर नहीं लड़ सकते भ्रष्टाचार से!
'जिसने लोकसभा का मुंह नहीं देखा, वह मुझ पर नौकरी पाने का आरोप लगा रहा'
उधर बुलेट की आधार शिला रखी, इधर राजधानी पटरी से उतरी!
एक ऐसी दूरबीन जो १०० प्रकाश वर्ष दूर तक देख सकेगी!
प्रतिदिन 25-प्रतिशत बच्चे भूखे रह जाते हैं
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें