ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

चर्चा में

इस बार २४ साहित्यकारों को साहित्यकार अकादमी पुरस्कार मिलेगा

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

हिंदी कवि व वरिष्ठ आलोचक रमेश कुंतल मेघ सहित 24 भाषाओं की कृतियों के रचनाकारों को वर्ष 2017 के साहित्य अकादेमी पुरस्कार के लिए चुना गया है। यह पुरस्कार उन्हें पुस्तक 'विश्व मिथक सरित्सागर' के लिए दिया जाएगा। उर्दू साहित्यकार बेग एहसास को उनकी कृति 'दखमा' के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। साहित्य अकादेमी के सचिव के. श्रीनिवास राव ने कहा, "पुरस्कार योग्य पुस्तकों का चयन इस विषय के लिए निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार संबंधित भाषाओं में तीन सदस्यों की जूरी द्वारा की गई सिफारिशों के आधार पर किया गया।"


उन्होंने कहा कि पुरस्कार योग्य कृतियों का चयन अकादेमी के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद तिवारी की अध्यक्षता में गुरुवार को कार्यकारिणी की बैठक में किया गया। इस वर्ष पुरस्कार के लिए 24 भाषाओं से सात उपन्यासों, पांच कविता संग्रह, पांच कहानी संग्रह, पांच आलोचना, एक निबंध और एक नाटक को चुना गया है। साहित्य अकादेमी से जारी सूचना के अनुसार, अंग्रेजी उपन्यास 'द ब्लैक हिल' के लिए ममंग दाई को, बांग्ला उपन्यास 'सेई निखोंज मनुष्यता' के लिए अफसर अहमद को, कश्मीरी कहानी संग्रह 'येली पर्दा वोथ' के लिए आतुर कृशन रहबर को पुरस्कार के लिए चुना गया। मैथिली कविता संग्रह 'झलक डायरी' के लिए उदय नारायण सिंह 'नचिकेता' को, मराठी कविता संग्रह 'बोलावे ते आम्ही' के लिए श्रीकांत देशमुख को, नेपाली पुस्तक 'कृति विमर्श' के लिए बीना हंगखीम को चुना गया। सूचना के अनुसार, पंजाबी उपन्यास 'स्लो डाउन' के लिए नछत्तर को, राजस्थानी में पुस्तक 'बिना हासल पाई' के लिए नीरज दईया को और संस्कृत में उपन्यास 'गंगापुत्रवेदानां' के लिए निरंजन मिश्रा को पुरस्कार के लिए चुना गया।

चयनित साहित्यकारों को साहित्य अकादेमी पुरस्कार अगले साल 12 फरवरी को यहां होने वाले वार्षिक आयोजन 'साहित्योत्सव' में प्रदान किया जाएगा।





जरा ठहरें...
प्रवीण तोगड़िया को हटाने की तैयारी में जुटा आरएसएस
केजरीवाल पर चौतरफा इस्तीफे की मांग
''पासपोर्ट का रंग बदलने से नागरिकों में भेदभाव पैदा होगा"
सर्वोच्च न्यायालय के बागी न्यायाधीशों से बात करेंगे मुख्य न्यायाधीश
डीएमसी ने मैक्स से मांगा जवाब, मुसीबत बढ़ी
राष्ट्रपति भवन अब आम लोगों के लिए सप्ताह में चार दिन खुलेगा
राहुल ने कहा जीएसटी का पांच नहीं एक स्लैब हो
नीरज शर्मा की जगह चौधरी बने उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी
'जिसने लोकसभा का मुंह नहीं देखा, वह मुझ पर नौकरी पाने का आरोप लगा रहा'
एक ऐसी दूरबीन जो १०० प्रकाश वर्ष दूर तक देख सकेगी!
प्रतिदिन 25-प्रतिशत बच्चे भूखे रह जाते हैं
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें