ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

चर्चा में

पदमावत की आड़ में स्कूली बस पर हमला, निकम्मी बन रही हरियाणा सरकार

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

25 जनवरी 2018

25 जनवरी को फिल्म पदमावत रिलीज होने के बाद हरियाणा में जिस तरह से स्कूल बस पर हमला हुआ वह हरियाणा सरकार की निकम्मेपन की कहानी बयां तो करती ही है साथ ही देश के सर्वोच्च न्यायालय के आदेश की धज्जियां भी उड़ा दी है। फिल्म पदमावती से पदमावत हो चुकी इस फिल्म को देश के सर्वोच्च न्यायालय से हरी झंडी मिल चुकी है। इसके बावजूद इस तरह की घटना होना सर्वोच्च अदालत की अवमानना के साथ साथ सरकारों की निकम्मेपन की भी कहानी है जो घटिया राजनीति करने पर उतारू हैं।


बता दें कि फिल्म पद्मावत का विरोध कर रही भीड़ ने बुधवार दोपहर को सोहना रोड पर स्कूली बस पर हमला किया था। बस में 30 स्टूडेंट और 3 टीचर सवार थे। बच्चों ने किसी तरह बस की फ्लोर पर झुककर खुद को बचाया था। अधिकारियों के मुताबिक घटना घमरोज गांव के पास हुई जब भीड़ ने बस पर लाठियों और पत्थरों से हमला कर दिया। स्कूली बस पर हुए हमले के सिलसिले में पुलिस ने 18 लोगों को गिरफ्तार किया उन्हें कोर्ट में पेश किया, जिसके बाद उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। सवाल यह है कि हरियाणा की बेशर्म पुलिस ने आरोपियों की रिमांड क्यों नहीं मांगी। इतनी बड़ी घटना के बाद हरियाणा के डीजीपी का यह कहना कि कि राज्य के सभी सिनेमाघरों को पर्याप्त सुरक्षा दी गई है बेहद अफसोसजनक है।

स्कूल के एक स्टाफ ने घटना के बाद बताया, 'हम जैसे ही स्कूल से बाहर आए, बस पर हमला हो गया। यहां तक कि पुलिस भी उनको काबू नहीं कर सकी। बच्चों ने किसी तरह बस में नीचे झुककर खुद को बचाया।'  इस बीच हरियाणा के मंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा है कि प्रशासन को अंदाजा ही नहीं था कि पद्मावत का विरोध कर रहे लोग स्कूल बस पर भी हमला कर सकते हैं। गुरुग्राम के पुलिस उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने बताया कि पूरे जिले में धारा 144 लगा दी गई है। उन्होंने कहा, 'जिले में धारा 144 लागू है। यह 28 जनवरी तक लागू रहेगी। संवेदनशील जगहों पर एग्जिक्यूटिव मैजिस्ट्रेट और पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है। हमने लोगों से शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील की है।' हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि स्कूलों और कॉलेजों को बंद करने को लेकर कोई आदेश नहीं जारी किया गया है।


इस बीच राजपूत करणी सेना ने 'पद्मावत' के विरोध में हरियाणा के गुरुग्राम में स्कूल बस पर पथराव में अपनी भूमिका से गुरुवार को इनकार किया। करणी सेना के प्रवक्ता विजेंद्र सिंह ने पत्रकारों से कहा, "राजपूत कभी भी स्कूल बस पर हमला करने के बारे में सोच भी नहीं सकते। यह राजनेताओं की साजिश है, जो हमारे शांतिपूर्ण विरोध को कमजोर करना चाहते हैं।" उन्होंने कहा, "हमारा इतिहास सामने से नेतृत्व करने का रहा है। जिन्होंने पथराव किया, उन्हें कोई नहीं पहचानता और इसके लिए करणी सेना को दोषी ठहराया जा रहा है।




जरा ठहरें...
कांग्रेस ने कहा मोदी सरकार बैकिंग क्षेत्र पर श्वेत पत्र जारी करे!
गीतांजली समूह के खिलाफ लगभग दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी का मामला दर्ज
पाकिस्तान को गुप्त सूचनाएं देने के आरोप में वायुसेना का ग्रुप कैप्टन गिरफ्तार!
अन्ना बोले मोदी सरकार का 30 दिन का वादा 3 साल बाद भी पूरा नहीं हुआ!
आधार की अनिवार्यता पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू
प्रवीण तोगड़िया को हटाने की तैयारी में जुटा आरएसएस
केजरीवाल पर चौतरफा इस्तीफे की मांग
''पासपोर्ट का रंग बदलने से नागरिकों में भेदभाव पैदा होगा"
सर्वोच्च न्यायालय के बागी न्यायाधीशों से बात करेंगे मुख्य न्यायाधीश
डीएमसी ने मैक्स से मांगा जवाब, मुसीबत बढ़ी
इस बार २४ साहित्यकारों को साहित्यकार अकादमी पुरस्कार मिलेगा
राष्ट्रपति भवन अब आम लोगों के लिए सप्ताह में चार दिन खुलेगा
राहुल ने कहा जीएसटी का पांच नहीं एक स्लैब हो
नीरज शर्मा की जगह चौधरी बने उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी
'जिसने लोकसभा का मुंह नहीं देखा, वह मुझ पर नौकरी पाने का आरोप लगा रहा'
एक ऐसी दूरबीन जो १०० प्रकाश वर्ष दूर तक देख सकेगी!
प्रतिदिन 25-प्रतिशत बच्चे भूखे रह जाते हैं
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.