ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

अपराध जगत

नीरव मोदी की गिरफ्तारी के पीछे कोई बड़ी साजिश तो नहीं...?

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्य़ूज़

नई दिल्ली, २१ मार्च २०१९

भारत का हजारों करोड़ डकारने वाला भगोड़ा नीरव मोदी को लंदन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। यही नहीं लंदन की अदालत ने उसे जमानत देने से भी इंकार कर दिया है। नीरव मोदी को लंदन पुलिस ने उस समय गिरफ्तार किया है जब भारत में लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। जिसके अंतर्गत नई सरकार का गठन होने वाला है। ऐसे समय में नीरव मोदी की गिरफ्तारी पर कई सवाल उठ रहे हैं। भारत की प्रमुख विपक्षी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस के साथ तमाम विरोधी दल के नेता नीरव मोदी को लेकर मौजूदा सत्तासीन दल भाजपा पर तीखे प्रहार करते रहे हैं।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ विदेश दौरे के दौरान मंच पर मौजूद नीरव मोदी। नीरव मोदी की उस समय की और आज की दो तस्वीरें इनसेट में।

विरोधी दल के नेता नीरव मोदी के साथ सरकार और भाजपा का सांठ-गांठ करके हजारों करोड़ रूपए डकारने का भी आरोप लगाते रहे हैं। फिलहाल नीरव मोदी उसके मामा मेहुल चौकसी दोनों पर इस घोटाले में शामिल होने का आरोप है। मेहुल चौकसी का कई वीडियो वाइरल हो चुका है जिसमें प्रधानमंत्री के आवास में एक कार्यक्रम में वह मौजूद था। और प्रधानमंत्री मोदी उसे मेहुल भाई करके पुकारते दिखते हैं। दूसरी सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि कई बार मीडिया में ऐसी ख़बरें आयीं कि अब नीरव मोदी को गिरफ्तार करना लगभग असंभव हो चुका है। उसके पास तमाम पासपोर्ट हैं। उसने एक ऐसे देश की नागरिकता हासिल कर रखी है जहां से उसे भारत लाना लगभग असंभव हो गया है। समय-समय पर तमाम ऐसी ख़बरें आती रहीं। यही नहीं नीरव मोदी की एक ऐसी फोटो भी वायरल हुई जिसमें विदेश में प्रधानमंत्री मोदी के सरकारी दौरे के दौरान मोदी के साथ मंच पर वह भारतीय प्रतिनिधियों के साथ  पहली पंक्ति में सामूहिक तस्वीर में भी दिखता है। जिसको लेकर विरोधी दलों ने मोदी और उनकी सरकार पर जमकर हमले के साथ आलोचना भी की। सवाल उठता है कि भारत में चुनावी समर में नीरव की गिरफ्तारी के पीछे कोई नया पैंतरा और खेल तो नहीं छिपा है।

सूत्रों से ऐसी अपुष्टि जानकारी मिली है कि अभी नीरव मोदी को भले ही गिरफ्तार कर लिया गया है बाद में उसे जमानत जरूर मिलेगी। वर्तमान में जो यह सब जो कुछ भी हो रहा है वह भारत में राजनीतिक लाभ के लिए सरकार की एक चाल हो सकती है। कुछ लोगों का कहना है कहीं इसके पीछे मौजूदा भारतीय सरकार ने कहीं ब्रिटेन सरकार से कोई गोपनीय समझौता तो नहीं कर रखा है? ऐसी तमाम अटकलें लगायी जा रही हैं। क्योंकि एक तरह से सूत्र यह भी कह रहे हैं कि नीरव मोदी को जानबूझकर लंदन आने के लिए कहा गया और उससे एक समझौते के तहत गिरफ्तार करने का एक बड़ी साजिश रची गयी है जिससे भारत में मौजूदा सत्तारूढ़ पार्टी को देश में हो रहे आम चुनावों में राजनीतिक लाभ मिल सके।


सूत्र यह भी कहते हैं कि हिंदी में एक कहावत है ‘आ बैले मुझे मार’ यानि परेशानी को खुद बुलाना। नीरव मोदी को अच्छी तरह यह पता था कि लंदन उसके लिए सुरक्षित नहीं है तो फिर वह क्यों लंदन आया? जहां उसकी आसानी से गिरफ्तारी हो गयी। उसका मामा  मेहुल चौकसी भारतीय एजेंसियों की पकड़ से अगर बाहर है तो भांजा कैसे आसानी से पुलिस की हिरासत में आ गया...? यह एक बड़ा प्रश्न उठना स्वाभाविक है। कहा तो यहां तक जा रहा है कि नीरव मोदी की लंदन में मौजूदगी की ख़बर जान-बूझकर मीडिया के जरिए प्रचारित करवाया गया।


फिलहाल पंजाब नैशनल बैंक के 13 हजार करोड़ रुपये से अधिक के घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी पुलिस की गिरफ्त में है। नीरव मोदी को बुधवार को वेस्टमिंस्टर मैजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया, जहां उसकी जमानत अर्जी खारिज हो गई। कोर्ट ने नीरव को 29 मार्च तक के लिए जेल भेज दिया। इसके साथ ही मामले की सुनवाई भी स्थगित हो गई और अब चीफ मैजिस्ट्रेट के सामने 29 मार्च को अगली सुनवाई होगी। अदालत भारत में उसके प्रत्यर्पण को लेकर मामले की सुनवाई करेगी।



जरा ठहरें...
हर हालात से निपटने के लिए तैयार हैं हम - महानिदेशक सीआईएसएफ
किडनी कांड में दिल्ली के दो डॉक्टरों के नाम सामने आए
दिल्ली पुलिस भ्रामक फोन कॉल के खिलाफ कार्रवाई करे
वाड्रा और ईडी आमने सामने: पूछताछ की गोपनीयता भी है कोई..?
ऋषि शुक्ला सीबीआई के नए मुखिया बने
नागेश्वर राव की नियुक्त गैरकानूनी - कांग्रेस
सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ न्यायाधीश पर लगा आरोप!
Exclusive: उ.प्र. पुलिस के महानिदेशक ओपी सिंह होंगे सीबीआई के नए निदेशक...?
एक आईपीएस के रूप में सदैव ईमान रहा, सरकार ने न्याय का गला घोंट दिया- आलोक वर्मा, पूर्व सीबीआई निदेशक
दिल्ली के शेल्टर होम के बच्चियों के साथ क्रूरता की हदें पार, मिर्च डाली जाती थी
दिल्ली से सटे गुरूग्राम में सिपाही को सरेआम अगवा किया गया
एसएसबी ने पूर्वोत्तर में चौकसी बढ़ाने के लिए 18 नई चौकियां बनाई!
रेलवे सुरक्षा बल ने तेलंगाना एक्सप्रेस से लगभग पौने तीन कुंतल चांदी ले जाने वाले गिरोह को पकड़ा
सीबीआई का सरकार पर बड़ा आरोप, नीरव मोदी की जांच रोकने के लिए हुआ स्थानांतरण
दिल्ली में सेना के मेजर पर बलात्कार का आरोप
रेल सुरक्षा बल ने अनधिकृत टिकट बुकिंग एजेंट को पकड़ा
उत्कृष्ट सेवा के लिए 29 CISF अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस पदक
सरकार ने माना आधार के जरिए धोखाधड़ी हुई और बैंक से पैसे निकाले गए!
सरकार गुड़ग्राम के लुटेरे पंचतारा ‘मेदांता’ अस्पताल पर कब कार्रवाई करेगी?
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.