ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

अपराध जगत

अपनी मौत से एक दिन पहले एडीजी प्रयागराज को सुलभ ने लिखा था पत्र
प्रतापगढ़ में एबीपी न्यूज के पत्रकार की बेरहमी से हत्या, एडीटर गिल्स ने उ.प्र. पुलिस की निंदा की

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

इलाहाबाद, प्रतापगढ़ और नई दिल्ली से एक साथ, 14 जून 2021

प्रतापगढ़ में एबीपी गंगा के संवाददाता सुलभ श्रीवास्तव की संदिग्ध हालत में मौत हो गई है। दो दिन पहले ही उन्होंने अपनी हत्या की आशंका जताई थी। उन्होंने प्रयागराज जोन के एडीजी को पत्र लिखकर शराब माफियाओं के हाथों हत्या का अंदेशा जताया था। उन्होंने पत्र लिखकर कहा था कि शराब माफियाओं से उनकी जान को खतरा है। सुलभ की मौत की वजह प्रतापगढ़ पुलिस ने बिना पोस्टमार्टम की रिर्पोट आए बिना सड़क हादसा बता दिया था। पत्रकारों की सबसे बड़ी संस्था एडीटर गिल्स ने सुलभ श्रीवास्तव की हत्या की कड़े शब्दों में निंदा की है साथ ही उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्य प्रणाली पर भी प्रश्न चिन्ह लगाते हुए निंदा की।

अपनी मौत से पहले एक दिन पहले एडीजी प्रयागराज को सुलभ ने पत्र लिखकर अपनी और अपने परिवार के साथ होने वाले किसी अनहोनी की अशंका जतायी थी और सुरक्षा की मांग की थी। अब पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत के मामले में पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। इससे पहले पुलिस ने पत्रकार की हत्या को हादसा बताया था। आरोप है कि शराब माफिया को बचाने में जुटी थी पुलिस। दुर्भाग्य ये है कि जिस चैनल एबीपी गंगा में पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव काम करते थे उसने योगी सरकार और पुलिस विभाग की दलाली अनवरत जारी रखते हुए इस प्रकरण को हत्या की बजाय सड़क दुर्घटना बता कर खबर चलाने का काम कर रहा था। समाचार चैनल, सोशल मीडिया आदि जगहों पर सवाल उठाए जाने के बाद पुलिस बैकफ़ुट पर आई और पोस्टमार्टम के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। सवाल उठ रहा है कि क्या शराब माफिया से मिलीभगत के कारण पुलिस वाले हत्या को हादसा बताने पर तुले हुए थे?

सुलभ श्रीवास्तव ने दो दिन पहले ही उन्होंने अपनी हत्या की आशंका जताई थी. उन्होंने प्रयागराज जोन के एडीजी को पत्र लिखकर शराब माफियाओं के हाथों हत्या का अंदेशा जताया था। उन्होंने पत्र लिखकर कहा था कि शराब माफियाओं से उनकी जान को खतरा है। प्रतापगढ़ के कटरा इलाके में उनकी बाइक के साथ हादसा हुआ है। पहले कहानी गढ़ी गयी कि बारिश की वजह से सड़क पर फिसलन थी। जिस वजह से बाइक पलटने की आशंका जताई जा रही है। सुलभ के सिर पर गंभीर चोटें आई। ये हादसा उस वक्त हुआ जब सुलभ क्राइम ब्रांच द्वारा अपराधियों को पकड़े जाने की खबर की कवरेज कर घर लौट रहे थे। गंभीर रूप से घायल हुए सुलभ को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। हादसा बीती रात करीब साढ़े 9 बजे हुए। 

उधर, पत्रकार की मौत को लेकर आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने निशाना साधा है। संजय सिंह ने इसे हत्या करार दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "शराब माफियाओं के खिलाफ खबर चलाने के कारण यूपी में एक पत्रकार की हत्त्या हो जाती है जबकि एक दिन पहले सुलभ जी ने एडीजी को पत्र लिखकर हत्त्या की आशंका जताई थी लेकिन सब सोते रहे।" कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी पत्रकार की मौत को लेकर योगी सरकार पर हमला करने से नहीं चूकीं। उन्होंने सरकार से सवाल किया कि क्या जंगलराज को पालने-पोषने वाली यूपी सरकार के पास पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव जी के परिजनों के आंसुओं का कोई जवाब है?



पत्रकार शुलभ श्रीवास्तव, फाइल फोटो।





जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Third Eye World News: वीडियो
चौकिए मत यह भारत का...
Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.