ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

अपराध जगत

कोई भी नौकरशाह कानून से ऊपर नहीं - न्यायालय

नई दिल्ली

१७ जून २०१७

उच्चतम न्यायालय ने आज नरमी दिखाने से इंकार करते हुए केन्द्र को सीआरपीएफ के शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ अवमानना के मुद्दे पर गौहाटी उच्च न्यायालय के एक आदेश का पालन करने का निर्देश दिया। शीर्ष अदालत ने कहा कि नौकरशाह कानून से उपर नहीं हैं। न्यायालय ने सीआरपीएफ के महानिदेशक को उच्च न्यायालय के सामने व्यक्तिगत रूप से पेश होने का निर्देश दिया। उच्च न्यायालय ने अर्द्धसैनिक बल के कुछ शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ अवमानना कार्यवाही शुरू की है। न्यायालय ने कहा कि डीआईजी स्तर के एक अधिकारी उच्च न्यायालय में उपस्थित रहेंगे।


उच्च न्यायालय ने उस मामले में शीर्ष सीआरपीएफ अधिकारी की निजी उपस्थिति का निर्देश दिया था जिसमें अदालत ने अनुशासनात्मक कार्यवाही के बाद जून 2007 में सेवाएं बर्खास्त होने के बाद एक कांस्टेबल की बहाली का आदेश दिया था।न्यायमूर्त आर के अग्रवाल एवं न्यायमूर्त एस के कौल की पीठ ने कहा, नौकरशाह कानून से उपर नहीं हैं। आप :केन्द्र: अंतिम क्षण में क्यों आए हैं? आप जाइए और पेश होइए।हम इस पर रोक नहीं लगाएंगे। एक अधिकारी को वहां जाना होगा। आप उस एक अधिकारी को चुनें। केन्द्र की ओर से पेश वरिष्ठअधिवक्ता अजीत कुमार सिन्हा ने पीठ से कहा कि व्यक्ति की भर्ती आरक्षित श्रेणी में हुई जिसके लिए उच्च न्यायालय की एकल पीठ के सामने असली रिकार्ड भी पेश किये गये। उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने अंतरिम आदेश मंजूर करने से इंकार करते हुए यह कहकर गलती की कि उसकी भर्ती समान्य श्रेणी पद पर हुई, अनुसूचित जनजाति उम्मीदवार के रूप में नहीं। उच्च न्यायालय ने केन्द्र को उस व्यक्ति को बहाल करने का निर्देश दिया था जिसकी फरवरी 2003 में सीआरपीएफ के जनरल ड्यूटी कांस्टेबल के रूप में भर्ती हुई थी लेकिन उसकी सेवाएं जून 2007 में खत्म कर दी गईं।





जरा ठहरें...
पालने के साथ ही ७ सौ से ज्यादा बार किया रेप
उ.प्र. - दरोगा और सिपाही पर छेड़खानी का आरोप
लालू और चिदंबरम के बेनामी संपत्तियों पर छापे
सोनौली बोर्डर से हिजबुल आतंकी नसीर गिरफ्तार
न्यायमूर्ति कर्णन को ६ महीने की सजा
निर्भया गैंगरेप केस: सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया दोषियों की मौत की सजा बरकरार
शिकंजे में दिनाकरन!
पति के दोस्त ने किया बलात्कार
यौन उत्पीड़न के मामले में अधिकारी गिरफ्तार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अभद्र टिप्पणी करने वाले तीन जेल भेजे गए
उच्च न्यायालय के जज के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी
आतंकी बेटे का शव लेने से पिता ने किया इंकार
खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों की नाकामी है IS आतंकी का मारा जाना!
रेल हादसे का मास्टरमाइंड नेपाल में गिरफ्तार : एनआईए
रेलवे में बढ़ते अपराधों पर नकेल कसने के लिए तैयार है आरपीएफ
दिल्ली में 13 करोड़ रूपए बरामद
सलमान के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई
पानी का काला खेल, होटल ताज में पानी की अवैध सप्लाई!
एनआईए ५ हजार फोन कॉल की जांच करेगी
ISI भारत के दलित और ईशाई एनजीओ को पैसा दे रहा है - गृहमंत्रालय
देश के उच्चतम न्यायालय के आठ भ्रष्ट न्यायाधीश हुए!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.