ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

अपराध जगत

ममता सरकार को कोर्ट ने लताड़ा, कोर्ट ने कहा हमारे आदेश से बड़ा है मैन्युअल

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, १५ मई २०१९

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का एक तस्वीर साझार करने के लिए गिरफ्तार भाजपा कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा को सोमवार को रिहा ना करने पर सर्वोच्च न्यायालय ने नाराजगी जाहिर की है। कोर्ट को पश्चिम बंगाल सरकार ने बताया कि डीजी जेल के मुताबिक उसे 9.40 बजे रिहा किया गया है. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि ये आदेश कल जारी किया गया था, उसे कल रिहा क्यों नहीं किया गया? पश्चिम बंगाल सरकार ने बताया कि ये आदेश शाम पांच बजे मिला था, जेल मैन्यूअल के चलते रिहाई नहीं हो पाई।


सर्वोच्च न्यायालय ने नाराजगी जताई कि क्या जेल मैन्यूअल सर्वोच्च न्यायालय के आदेश से बड़ा है? सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि पहली नजर में प्रियंका की गिरफ्तारी मनमानी है। अगर उसे रिहा नहीं किया गया तो अवमानना का मामला शुरू करेंगे। साथ ही कोर्ट ने कहा कि आधे घंटे में प्रियंका को रिहा किया जाए। हालांकि, सर्वोच्च न्यायालय को बताया गया कि उसे सुबह 9.40 पर रिहा किया गया और वह रातभर जेल में रहीं। बता दें, सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को प्रियंका शर्मा को जमानत दी थी।

बता दें, भारतीय जनता युवा मोर्चा की कार्यकर्ता प्रियंका पिछले शुक्रवार से कोलकाता की जेल में बंद थी. 25 वर्षीय प्रियंका की ओर से उनके परिवार ने दर्ज एफआईआर रद्द करने और जमानत पर रिहा करने की अर्ज़ी सुप्रीम कोर्ट में लगाई थी. सोशल मीडिया पर अपनी प्रोफाइल में प्रियंका ने खुद को हावड़ा जिला भारतीय जनता युवा मोर्चा के क्लब सेल का संयोजक बताया है। प्रियंका ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर प्रियंका चोपड़ा-जोनास की तस्वीर पर ममता बनर्जी का चेहरा सुपर इम्पोज कर मजाकिया तस्वीर शेयर की थी। जिसके बाद हावडा पुलिस ने शिकायत के आधार पर एफआईआर। दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया था।


इससे पहले प्रियंका के वकील नीरज किशन कौल ने न्यायालय को बताया कि पुलिस ने इस मामले की क्लोजर रिपोर्ट दाखिल की तो इसकी जानकारी राज्य सरकार और जेल प्रशासन ने ना तो प्रियंका के परिवार को दी ना ही मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया। सुप्रीम कोर्ट अब जुलाई में याचिका पर सुनवाई करेगा कि क्लोजर रिपोर्ट दाखिल होने के बाद माफी की जरूरत नहीं है। प्रियंका के वकील ने कोर्ट को बताया कि प्रियंका को रिहा करने से पहले जबरन माफीनामा लिखवाया गया।




जरा ठहरें...
जज की कार गड्ढे में गिरी, गंभीर रूप से घायल
दिल्ली पुलिस आयुक्त को गृहमंत्री ने लगाई फटकार
पूरे देश में टिकट दलालों पर रेलवे की कार्रवाई
ईडी के सामने वाड्रा की हुई पेशी
चिटफंड मामला : सर्वोच्च न्यायालय ने राजीव कुमार की गिरफ्तारी से रोक हटाई
भारत ने लिट्टे पर पांच साल के लिए और प्रतिबंध बढ़ाया
१९८४ सिक्ख दंगा: सर्वोच्च न्यायालय ने १५ लोगों को बरी किया
पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे शेखर तिवारी की दिल्ली में रहस्यमयी मौत...?
आयकर विभाग ने गिलानी का दिल्ली स्थिति प्लैट को कुर्क किया!
नीरव मोदी की गिरफ्तारी के पीछे कोई बड़ी साजिश तो नहीं...?
हर हालात से निपटने के लिए तैयार हैं हम - महानिदेशक सीआईएसएफ
किडनी कांड में दिल्ली के दो डॉक्टरों के नाम सामने आए
दिल्ली पुलिस भ्रामक फोन कॉल के खिलाफ कार्रवाई करे
वाड्रा और ईडी आमने सामने: पूछताछ की गोपनीयता भी है कोई..?
दिल्ली के शेल्टर होम के बच्चियों के साथ क्रूरता की हदें पार, मिर्च डाली जाती थी
दिल्ली से सटे गुरूग्राम में सिपाही को सरेआम अगवा किया गया
एसएसबी ने पूर्वोत्तर में चौकसी बढ़ाने के लिए 18 नई चौकियां बनाई!
सीबीआई का सरकार पर बड़ा आरोप, नीरव मोदी की जांच रोकने के लिए हुआ स्थानांतरण
सरकार गुड़ग्राम के लुटेरे पंचतारा ‘मेदांता’ अस्पताल पर कब कार्रवाई करेगी?
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.