ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

धर्म/तीज़-त्यौहार

योग ध्यान ही गीता का सार मर्म़ है’’- डा नागेन्द्र
भगवत गीता पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारम्भ हुआ

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

१० जुलाई २०१७

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के स्थानीय पटौदी रोड पर स्थित ओमशान्ति रीट्रिट सेन्टर में दो दिवसीय राष्ट्रीय भगवत गीता सम्मेलन का आज शुभारम्भ करते हुए योग गुरू डा नागेन्द्र ने कहा कि योग और ध्यान ही भगवत गीता के सार मर्म है। उन्होंने कहा कि भगवत गीता एक योग शास्त्र है न की हिंसक युद्ध की शास्त्र। वास्तव में गीता में वर्णित युद्ध मनुष्य के अन्दर के विकारों और अवगुणों के विरूद्ध आन्तरिक लड़ाई है जो दैवी गुणों की आसुरी अवगुणों पर विजय का सूचक है।


उन्होंने आगे कहा कि इस योग शिक्षा को स्कूल स्तर से विश्वविद्यालय स्तर तक लागू करने का प्रयास भारत सरकार कर रही है और इसी से ही एक सकारात्मक और स्वस्थ परिवर्तन बच्चों, व्यक्तियों एवं समाज में आ सकता है। इस सम्मेलन के मुख्य संयोजक राजयोगी बी0के0ब्रजमोहन ने सम्मेलन के मुख्य उद्देश्य के बारे में अवगत कराया तथा ब्रह्माकुमारी संस्था, माउण्ट आबू से पधारे गीता स्काॅलर राजयोगिनी ऊषा तथा जबलपुर से पधारे भगवत गीता व्याख्याकार डाॅ0 पुष्पा पाण्डेय ने भगवत गीता और अहिंसा परमोधर्म पर भारत के विभिन्न प्रान्तों से आये हुए गीता विशेषज्ञ एवं उपकुलपति आदियों के साथ सवाल-जवाब किया।

निष्कर्ष में सबने सहमति व्यक्त की कि गीता में वर्णित युद्ध आन्तरिक विकारों के विरूद्ध अहिंसक युद्ध है और ये गीता ज्ञान जो निराकार परमपिता परमात्मा के द्वारा वर्तमान कलयुग रूपी अति धर्मग्लानी के समय पर एक सभ्य एवं सुसंस्कृत समाज अर्थात सतयुग की स्थापना के लिये दिया गया था। सभी ने ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा दी जा रही आध्यात्मिक शिक्षा एवं राजयोग ध्यान को परमात्मा के द्वारा दी जा रहे वास्तविक गीता ज्ञान व योग का व्यवहारिक रूप कहा। 





जरा ठहरें...
हरि नगर संतोषी मंदिर में नवरात्रि उत्सव शुरू
राष्ट्रपति ने भगवान महावीर के दर्शन को उपयोगी बताया
विश्व पुस्तक मेले को देखने के लिए उमड़े लोग
पूरे देश में गणेशोत्सव की धूम
मनुष्य के उद्धार के लिए श्रीकृण ने कहा था कर्म के अनुसार फल मिलता है
बाबा बूढ़ा अमरनाथ यात्रा में आने वाले यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए - बजरंग दल
तीज और राखी के अवसर पर आयोजित समारोह में विदेशी राजदूतों ने हिस्सा
अमरनाथ यात्रा शुरू हुई
योग को बढ़ावा देने के लिए सरकार पार्कों का निर्माण करेगी - श्रीपद एसो नाइक
योग दिवस कार्यक्रम लखनऊ के रमाबाई मैदान में होगा
रोमामिया में ११वीं में पढ़ाया जाता है रामायण और महाभारत के अंश
अयोध्या में रामलीला का मंचन आज से शुरू
यमुना इतनी ही नाजुक थी तो उत्सव की इजाजत क्यों दी : श्री श्री रविशंकर
पूरे नौ दिन संतोषी मां के मंदिर में छाया रहा भक्तों का तांता
भाजपा राम मंदिर कभी नहीं बनाएगी - शंकराचार्य
'पूजास्थलों में महिलाओं के प्रवेश पर रोक नहीं लगेगी'
देश में कोई जनजाति महिषासुर की पूजा नहीं करती!
साल के अंत तक राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा
पाताल भुवनेश्वर की गुफा, धर्म, रहस्य और रोमांच का संगम है
मस्जिद कभी भी तोड़ी जो सकती है - स्वामी
किसने लिखा जन-जन की आरती ओम जय जगदीश हरे...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें