ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

धर्म/तीज़-त्यौहार

अब एक दिन में ५० हजार ही वैष्णव देवी के दर्शन करेंगें

नई दिल्ली

१३ नवंबर २०१७

एनजीटी ने माता वैष्णो देवी धाम को लेकर बड़ा फैसला सुनाया है. एनजीटी ने अपने फैसले में माता वैष्णो में किसी भी प्रकार के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी है. इसके साथ ही एनजीटी ने कहा है कि माता के दर्शन के लिए आने वाले भक्तों की संख्या को भी नियंत्रित किया जाए.


एनजीटी ने कहा है कि वैष्णो देवी में एक दिन में 50 हजार श्रद्धालु ही दर्शन करें. एनजीटी ने कहा है कि यदि यात्रा के दौरान 50 हजार से ज्यादा यात्री हो जाएं तो उन्हें या तो कटरा में ही रोका जाए या फिर उन्हें यात्रा के मुख्य पड़ाव अर्धकुआंरी में ही रोका जाए. एनजीटी ने कहा है कि माता के भवन पर किसी भी स्थिति में ज्यादा संख्या में भीड़ ना पहुंचे.

एनजीटी ने कहा है कि 24 नवंबर तक श्रद्धालुओं के लिए नया रास्ता खोले श्राइन बोर्ड. नए रास्ते पर सिर्फ बैटरी कारें और श्रद्धालु चलेंगे. इस रास्ते पर टट्टू भी नहीं चलेंगे. एनजीटी ने कटरा में गंदगी करने पार 2000 रुपये जुर्माना लगाने का आदेश दिया है. बता दें कि माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड मां वैष्णो देवी भवन और यात्रा से संबंधित सभी सुविधाओं की देख रेख करता है. राज्य के राज्यपाल इसके प्रमुख होते हैं.





जरा ठहरें...
दिल्ली के गुरूद्वारों के खाने सरकारी मापदंड पर उम्दा उतरे
रामदेव ने उ.प्र. में फूड प्रोसेसिंग पार्क रद्द कर दिया
अमरनाथ यात्रा के लिए पंजीकरण शुरू लगभग पौने दो लाख लोगों ने कराया पंजीकरण
दिल्ली भाजपा ने मनाई महावीर जयंती
हरीनगर जेल रोड पर नवरात्रि मेला उत्सव का आयोजन
आखाड़ा परिषद ने दो और बाबाओं को फर्जी घोषित किया
सरकार ने कहा रामसेतु को नष्ट नहीं किया जाएगा
धर्म संसद में दावा एक साल के अंदर राममंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा!
पतांजलि के बाद श्रीश्री तत्वा बाजार में जल्द
विश्व हिंदू परिषद का ऐलान ६ दिसंबर तक ५१ लाख बंजरगी शामिल किए जाएंगे
रोमामिया में ११वीं में पढ़ाया जाता है रामायण और महाभारत के अंश
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.