ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

क्या आप जानते हैं

मानसून केरल पहुंचा, नार्थ ईस्ट भी आज पहुंचने की संभावना

नई दिल्ली

३० मई २०१७

गर्मी से झुलस रहे देश के लिए अच्छी खबर है। दक्षिण पश्चिमी मॉनसून मंगलवार को केरल तट पहुंच गया। आज ही उसके उत्तर पूर्वी भारत में भी दस्तक देने की संभावना है। आमतौर पर केरल में मॉनसून के पहुंचने के कुछ दिनों बाद नॉर्थ ईस्ट में बारिश शुरू होती है। हालांकि, इस बार चक्रवाती तूफान मोरा की वजह से नॉर्थ ईस्ट में मॉनसून जल्द पहुंचेगा। मॉनसूनी बादल फिलहाल बंगाल की खाड़ी से उत्तर की ओर बढ़ रहे हैं।


मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, अगले 24 घंटे में इसके केरल के अधिकतर भागों और तमिलनाडु के कुछ हिस्से तक पहुंचने की संभावना है। अनुमान के मुताबिक, मोरा के बुधवार दोपहर तक बांग्लादेश के चटगांव पहुंचने की आशंका है। इस तूफान की वजह से नॉर्थ ईस्ट में मंगलवार और बुधवार को भारी बारिश की भविष्यवाणी की गई है। इसके अलावा, पश्चिम बंगाल और अंडमान-निकोबार द्वीप के मछुआरों को चेतावनी दी गई है कि वे मछली पकड़ने समुद्र में न जाएं। बता दें कि मॉनसून भारत में आम तौर पर सबसे पहले केरल में 1 जून तक पहुंचता है। इस साल भारतीय मौसम विभाग ने 30 मई की तारीख का ऐलान किया था।

इस बात की भी पूरी संभावना है कि इस बार मॉनसून की वजह से जून के पहले हफ्ते में कर्नाटक और महाराष्ट्र समेत पश्चिमी तट और दक्षिणी प्रायद्वीप में बेहतर बारिश होगी।





जरा ठहरें...
नासा एलिएंस पर बड़ा खुलासा जल्द करेगा
४० की उम्र में ६९ बच्चों का जन्म दिया
चोरों ने कैलाश का नोबेल पुरस्कार चुरा लिया
जहां ६० की उम्र में भी जवान दिखती हैं औरतें!
गुमनामों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानों
मोदी सहित किसी की डिग्री नहीं खगाली जा सकती है
मोदी सहित किसी की डिग्री नहीं खगाली जा सकती है!
मोदी सरकार को चेतावनी, बार-बार अध्यादेश लाना सही नहीं माना जाएगा
यूनिसेफ ने अपना ७०वां स्थापना दिवस धूम-धाम से मनाया
नारायण सेवा संस्थान असहायों के लिए समर्पित है
दिव्यांगों के लिए समर्पित है नारायण सेवा संस्थान
देश के 82,000 एटीएम में संशोधन किया गया : वित्त मंत्रालय
देश में 60 हजार से लापता बच्चों का कुछ अता-पता नहीं!
जहां चमगादड़ों की पूजा होती है
रेलवे ने IRCTC की बेवसाइट को दुरूस्त किया
1.5 लाख में से महज 100 शौचालय ही बने
30 किलो से ज्यादा वजन के कुत्ते को घोड़ा मानता है रेलवे!
७५ प्रतिशत मिलावट करने वाली कंपनियां बच निकलती हैं?
प्राकृतिक अपदाओ में मुफ्त में मदद नहीं करती भारतीय सेना
नेहरू नहीं चाहते थे कि राजेंद्र प्रसाद राष्ट्रपति बनें!
पत्नियों के सताए पति बन रहे हैं संयासी!
२८ साल की महिला ने १० बच्चों को जन्म दिया
मानव मांस का शौकीन था ब्रिटिश राजघराना
२०५ साल के बाबा, १०५ साल से नहीं खाया एक अन्न भी!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.