ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

क्या आप जानते हैं

वैवाहिक रिश्ते में शारीरिक संबंध दुष्कर्म नहीं हो सकता - सरकार

नई दिल्ली

३० अगस्त २०१७

केंद्र सरकार ने मंगलवार को दिल्ली उच्च न्यायालय से कहा कि 'वैवाहिक दुष्कर्म' (मैरिटल रेप) को अपराध घोषित करने से विवाह संस्था ढह सकती है और इसके अलावा यह पतियों को परेशान करने का आसान हथियार बन सकता है। केंद्र सरकार की ओर से अदालत में पेश किए गए हलफनामे में कहा गया कि पति और पत्नी के बीच यौन संबंध का कोई विशिष्ट सबूत नहीं हो सकता। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायाधीश सी. हरि शंकर की खंडपीठ के समक्ष पेश अपने हलफनामे में कहा, "इसे पूरी तरह सुनिश्चित करना होगा कि वैवाहिक दुष्कर्म परिघटना न बने, क्योंकि यह पतियों को परेशान करने वाला हथियार बन सकता है और विवाह संस्था को ढहा सकता है।"


केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में कहा है, "अगर पति द्वारा पत्नी के साथ किए जाने वाले सभी यौन संबंधों को वैवाहिक दुष्कर्म की तरह माना जाने लगेगा तो वैवाहिक दुष्कर्म का फैसला सिर्फ और सिर्फ पत्नी के बयान पर निर्भर होकर रह जाएगा। सवाल यह है कि ऐसी परिस्थिति में अदालत किन सबूतों को आधार बनाएगी, क्योंकि पति और पत्नी के बीच यौन संबंध का कोई अंतिम सबूत नहीं हो सकता।" केंद्र सरकार ने कहा कि किसी भी कानून में वैवाहिक दुष्कर्म को परिभाषित नहीं किया गया है, जबकि दुष्कर्म भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 375 में परिभाषित है और वैवाहिक दुष्कर्म को परिभाषित करना समाज में वृहत सहमति की मांग करता है। केंद्र सरकार ने कहा कि दुनिया के अन्य देशों, खासकर पश्चिमी देशों द्वारा वैवाहिक दुष्कर्म को अपराध घोषित करने का यह मतलब नहीं है कि भारत को अनिवार्य रूप से उनका अंधानुकरण करना चाहिए।

केंद्र सरकार ने कहा है कि वह वैवाहिक दुष्कर्म को अपराध घोषित नहीं कर सकती, क्योंकि अशिक्षा, महिलाओं की अधिकांश आबादी का वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर न होने, समाज की मानसिकता, विभिन्न राज्यों की संस्कृति में अत्यधिक विविधता का होना और गरीबी के कारण भारत की अपनी खास समस्याएं हैं।





जरा ठहरें...
दिसंबर से नई शिक्षा नीति लागू होगी - प्रकाश जावडेकर
अगले तीन महीने में नदियों को जोड़ने का काम शुरू होगा
सरकार की घोषणा ८३ हजार किमी सड़कों का होगा निर्माण
देश के सॉलीसीटर जनरल ने दिया इस्तीफा
गुजरात और हिमाचल के चुनावों में सिर्फ वीवीपीएटी मशीनों का होगा इस्तेमाल
गंगा की सफाई में कछुवा भी होगा शामिल
भारत दुनिया में कुल दूध उत्पादन की १९ प्रतिशत अकेले करता है!
सरकार ने 2017-2018 के खाद्यान्नों के उत्पादन का आंकडा पेश किया
मोहन भागवत की दो टूक, हम भाजपा को नहीं नियंत्रित करते!
पेट्रोल पंप वसूलते हैं आपसे शौचालय कर!
४० की उम्र में ६९ बच्चों का जन्म दिया
जहां ६० की उम्र में भी जवान दिखती हैं औरतें!
30 किलो से ज्यादा वजन के कुत्ते को घोड़ा मानता है रेलवे!
प्राकृतिक अपदाओ में मुफ्त में मदद नहीं करती भारतीय सेना
२८ साल की महिला ने १० बच्चों को जन्म दिया
मानव मांस का शौकीन था ब्रिटिश राजघराना
२०५ साल के बाबा, १०५ साल से नहीं खाया एक अन्न भी!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें