ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

क्या आप जानते हैं

डायनेमिक टैम्पिंग एक्सप्रेस: ब्रॉडगेज लाइन के नीचे गिट्टी बिछाने के लिए अपनी तरह की पहली मशीन

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

रेल पथों का रख-रखाव और संरक्षा मानकों के उच्च स्तर को बनाए रखने के लिए भारतीय रेलवे विश्व में उपलब्ध अत्याधुनिक मशीनों और तकनीकों का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। उत्तर रेलवे ने ब्रॉडगेज रेल पथों के लिए “डायनेमिक टैम्पिंग एक्सप्रेस” मशीन को अपने बेडे में शामिल किया है । यह मशीन 42 मशीनों की श्रृंखला की पहली मशीन है जो भारतीय रेलवे में शामिल होकर सेवा प्रदान करने जा रही है। रेलवे बोर्ड के सदस्य, इंजीनियरिंग, एम.के. गुप्ता ने हाल ही में उत्तर रेलवे में इस मशीन को शामिल किया है।


जब कोई रेलगाड़ी सामान्तर पटरियों पर चलती है तो उससे बहुत अधिक बल उत्पन्न होता है जैसे-जैसे गाड़ी की गति बढती है पटरियों पर दबाव भी बढ़ता जाता है । पटरियों , स्लीपरों और गिट्टियों से तैयार रेल पथ एक इलास्टिक सिस्टम है जो रेलगाड़ी के गुजर जाने के बाद वापस अपनी पूर्व स्थिति में आ जाता है किंतु समय के साथ और रेल पटरियों पर निरंतर दबाव पड़ने से इस सिस्टम के तत्व के विचलित होने की संभावना होती हैं । रेलगाड़ियों के सुगम और दुर्घटना रहित परिचालन के लिए नियमित अंतरालों पर लेवलिंग, लिफ्टिंग, लाइनिंग और टैम्पिंग जैसे अनुरक्षण कार्य करने पड़ते हैं। इससे रेल पथ की आदर्श ज्योमैट्री सुनिश्चित होती है। टैम्पिंग वह प्रक्रिया है जो स्लीपरों के नीचे गिट्टी को दबाकर पुन: व्यवस्थित करती है ताकि पटरियां सही स्थिति में रहे।

नई 09-3X डायनेमिक टैम्पिंग एक्सप्रेस एक सैल्फ प्रोपैल्ड, बाई डायरेक्शनल सिंगल यूनिट हाई आउटपुट टैम्पिंग और स्टैब्लिाइजिंग मशीन है। इस मशीन से इंटिग्रेटिड स्टैब्लिाइजेशन ट्रेलर की भी सुविधा मिलती है। इससे एक अलग स्टैब्लिाइजिंग मशीन की आवश्यकता समाप्त होती है जो परिचालन लागत और ट्रैक पजेशन को कम करता है। यह मशीन नवीनतम मापक एवं रिकॉर्डिंग उपकरणों से सुसज्जित है। इस मशीन द्वारा टैम्पिंग किये जाने के बाद बिना किसी अतिरिक्त मेजरिंग रन के सभी जरूरी ट्रैक पैरामीटरों का कार्य सुनिश्चित हो जाता है। इससे परिचालन लागत और ट्रैक पजेशन में कमी आती है ।





जरा ठहरें...
ज्यादा आम खाने से बढ़ सकता है वजन!
सीबीएसई के छह लाख विद्यार्थी फिर से देंगे परीक्षा!
"रेलवे का वर्तमान परिचालन बेहद खराब"
सीमा सुरक्षा बल के जांबाज टीम ने बनाया नया कीर्तिमान
डॉटा लीक पर सरकार सख्त, आईटी मंत्रालय से हर कदम उठाने को कहा
वित्त मंत्री अरूण जेटली गुर्दे की गंभीर बीमारी से पीड़ित, प्रत्यारोपण की तैयारी?
देश में दूध का उत्पादन तीन साल में २० प्रतिशत बढ़ा - राधा मोहन
रेलवे में ९० हजार लोगों की होगी भर्ती
रेलवे के 182 नंबर का गलत इस्तेमाल करने वालों से नियंत्रण कक्ष परेशान!
वैज्ञानिक ऐसे पटाखे बनाएं जिससे प्रदूषण न फैले - डाक्टर हर्ष वर्धन
पांच साल में 11 हजार नहीं 61 हजार करोड़ का हुआ महाघोटाला
वैज्ञानिकों ने माना रामसेतु मानव निर्मित है
'आधार' के पूर्व चेयरमैन नीलकणि अपनी आधी संपत्ति दान में दी!
सरकार की घोषणा ८३ हजार किमी सड़कों का होगा निर्माण
भारत दुनिया में कुल दूध उत्पादन की १९ प्रतिशत अकेले करता है!
४० की उम्र में ६९ बच्चों का जन्म दिया
30 किलो से ज्यादा वजन के कुत्ते को घोड़ा मानता है रेलवे!
प्राकृतिक अपदाओ में मुफ्त में मदद नहीं करती भारतीय सेना
२८ साल की महिला ने १० बच्चों को जन्म दिया
मानव मांस का शौकीन था ब्रिटिश राजघराना
२०५ साल के बाबा, १०५ साल से नहीं खाया एक अन्न भी!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.