ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

क्या आप जानते हैं

मोदी की राष्ट्रीय नीति से परेशान मास्टर कार्ड ने ट्रंप से की शिकायत!

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

३ नवंबर २०१८

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लागू किए गए रुपे कार्ड और मुद्रा स्कीम जैसे योजनाओं को भले ही दुनियाभर में सराहना मिल रही हो, लेकिन कुछ विदेशी कंपनियों को इससे खतरा महसूस हो रहा है। न्यूयॉर्क स्थित डेबिट और क्रेडिट कार्ड सेवा देने वाली कंपनी ‘Mastar Card’ ने पीएम मोदी की शिकायत अमेरिकी सरकार से की है। मास्टरकार्ड ने ट्रम्प सरकार को अपनी शिकायत देते हुए कहा कि मोदी सरकार अपने पेमेंट नेवटर्क को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रवाद का सहारा ले रही है। जून में की गई शिकायत में मास्टरकार्ड ने नई दिल्ली पर संरक्षणवादी नीतियां अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे विदेशी पेमेंट कंपनियों को नुकसान हो रहा है।


मास्टर कार्ड के वाइस प्रेसिडेंट सहारा इंग्लिश ने भेजे गए नोट के माध्यम से कहा कि पीएम मोदी द्वारा डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए किया गया प्रयास सराहनीय था, लेकिन भारत सरकार ने वैश्विक कंपनियों के नुकसान के लिए संरक्षणवादी उपायों की एक श्रृंखला बनाई। अमेरिकी कंपनियां मोदी सरकार की संरक्षणवादी नीतियों की वजह से समस्याओं से जूझ रही हैं। मास्टरकार्ड ने अमेरिकी सरकार से यह प्रस्ताव रखने को कहा कि भारत सरकार रुपे से होनेवाली आमदनी को लेकर भ्रम फैलाने के साथ-साथ इसे विशेष प्रयास के तहत बढ़ावा दे रही है, जिसे रोका जाना चाहिए। रुपे कार्ड के जरि‍ये लेन-देन जल्दी हो जाता है और लागत कम आती है। आपके लेने-देन की सभी जानकारी बस भारत तक ही सीमित रहती है। इसका इस्तेमाल एटीएम से कैश नि‍कालने के अलावा, पीओएस और ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लेन-देन में भी कि‍या जा सकता है।

इसका इस्तेमाल 1.45 लाख एटीएम, 8.75 लाख पीओएस टर्मिनलों और 10,000+ ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर किया जा सकता है। इसके अलावा, रुपे कार्डधारक को बिना किसी लागत के 1 लाख का एक्सीडेंटल बीमा कवरेज भी मिलता है। भारत में 1 अरब डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स में आधे यानी 50 करोड़ कार्ड्स के लिए रुपे पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल हो रहा रहा है। देश में सभी प्रमुख सरकारी बैंक इन दिनों रुपे कार्ड जारी कर रहे हैं। किसी भी अन्य क्रेडिट/डेबिट कार्ड की तरह यह देश के 1.45 लाख एटीएम और 8.75 लाख पीओएस टर्मिनल पर स्वीकार किया जाता है। इसके अलावा, यह 10,000 ई-कॉमर्स वेबसाइट्स पर भी स्वीकार किया जाता है। अब तक देश में 2.5 करोड़ रुपे कार्ड जारी हो चुके हैं और इस पर हर रोज लगभग सात लाख बैंक ट्रांजैक्शन हो रहे हैं।


बहुत सारी विशेषताए होने के बावजूद रुपे कार्ड की कुछ सीमाएं भी हैं, जैसे इसका प्रयोग आप सिर्फ अपने देश यानी भारत में ही कर सकते है। विदेशी एटीएम पर आप इसका प्रयोग नहीं कर सकते। बहुत सी शॉपिंग साइट रुपे कार्ड से पेमेंट स्वीकार नहीं करतीं। वर्तमान में लगभग हर बैंक अपने ग्राहकों को रुपे कार्ड जारी करते हैं।




जरा ठहरें...
दिल्ली की हवा बेहद खराब, ९० प्रतिशत ने माना उन्हें दिक्कत हो रही है
भारत की सारी खुफिया एजेंसियां फेल, प्रधानमंत्री मोदी की जान खतरे में?
दिल्ली में पैदल चलना हुआ बेहद खतरनाक
पूरी दुनिया की ख़बर रखने वाले इंंटरपोल के मुखिया ही हो गए गायब!
रेलवे ने मेल और एक्सप्रेस रैक्स के उन्नयन के लिए ’प्रोजेक्ट उत्कृष्ट’ शुरू किया
रंजन गोगोई बने देश के नए मुख्य न्यायाधीश
अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कर्मियों के पदोन्नति में आरक्षण का मामला राज्यों पर निर्भर - सर्वोच्च न्यायालय
मोदी कैबिनेट का बड़ा फैसला तीन तलाक पर अध्यादेश जारी
जापान में सौ साल की उम्र पार करने वाले ६५ हजार से ज्यादा
राष्ट्रपति ने राज्यसभा के लिए चार हस्तियों को किया मनोनीत
क्नॉट प्लेस बना दुनिया का 9वां सबसे महंगा वाला कार्यालय क्षेत्र!
बिना इंजन की ट्रेन-18 जल्द मिलेगी लोगों को सफर करने के लिए!
वैज्ञानिकों ने माना रामसेतु मानव निर्मित है
30 किलो से ज्यादा वजन के कुत्ते को घोड़ा मानता है रेलवे!
मानव मांस का शौकीन था ब्रिटिश राजघराना
२०५ साल के बाबा, १०५ साल से नहीं खाया एक अन्न भी!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.