ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

देश एवं राजनीति

मेरा यह दौरा जवानों को समर्पित है - राष्ट्रपति

लेह लद्दाख

२१ अगस्त २०१७

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद संभालने के बाद दिल्ली से बाहर अपने पहले दौरे में सोमवार को लद्दाख स्काउट्स को प्रेसीडेंट्स कलर्स अवॉर्ड प्रदान किया। मैंने अपने पहले दौरे के लिए जम्मू एवं कश्मीर के खूबसूरत लेह को चुना और मैं हमारे सैनिकों के बीच में बहुत खुश हूं।" कोविंद ने स्काउट्स से हिंदी में कहा, "सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर होने के नाते यह दौरा जवानों को समर्पित है।"


फाइल फोटो।

लद्दाख के स्काउट्स की प्रशंसा करते हुए राष्ट्रपति ने उनके 1947-48 के संघर्ष, चीन से 1962 के युद्ध, पाकिस्तान से 1971 के युद्ध व 1999 के कारगिल संघर्ष में उनकी बहादुरी को याद किया। उन्होंने कहा, "सबसे कठिन जलवायु परिस्थितियों में से एक में तैनात आपकी बहादुरी आपकी संख्या से बड़ी है।" इस दौरान सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा, "राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार संभालने के बाद यह दिल्ली के बाहर मेरी पहली यात्रा है। उन्होंने कहा, "हमने सभी परिस्थितियों में अपने राष्ट्र की संप्रभुता की सुरक्षा का प्रण लिया है। मुझे विश्वास है कि हम इसे पूरा करेंगे और अपने देश के सम्मान व गर्व को बनाए रखेंगे।" प्रेसीडेंट कलर्स युद्ध व शांति काल दोनों के दौरान असाधारण सेवा देने के सेना की एक ईकाई को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है।

यह दौरा लद्दाख में पैंगोंग झील के निकट चीनी जवानों के वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ की कोशिश के दौरान चीन व भारतीय सैनिकों में हुई झड़प के कुछ दिनों बाद हुआ है। सेना प्रमुख इलाके में सुरक्षा की समीक्षा भी करेंगे।





जरा ठहरें...
भाजपा को ७ सौ करोड़ तो कांग्रेस को महज 198 करोड़ चंदा मिला
चीन को सीधा जवाब हमने १९६२ से सबक सीखा है - रक्षा मंत्री
वेंकैय्या नायडू देश के नए उपराष्ट्रपति चुने गए
मोदी सरकार ने आम लोगों पर मंहगाई और टैक्स लादकर जीना दूभर कर दिया - कांग्रेस
सांसद देश भर में तिरंगा-संकल्प यात्रा करें - प्रधानमंत्री
चीन की भारतीय सेना को खुली चुनौती कहा खदेड़ देंगे!
सड़क, राजमार्ग परियोजनाओं को विदेशों तक लेकर जाएगा भारत : गडकरी
खादी को नया पहचान देगा 'खादी बाय पीटर इंग्लैंड'
इस बार रिकार्ड खाद्यान की पैदावार होगी - राधा मोहन सिंह
रेल इंजीनियरिंग की अद्भुत रचना है दुनिया का सबसे ऊंचा पुल
आम लोगों के लिए सस्ती नहीं होने जा रही है उड़ान
देश की सबसे बड़ी सुरंग देश को समर्पित, प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन
दूसरी हरित क्रांति के लिए प्रशिक्षित लोगों की जरूरत - राधा मोहन सिंह
तीन साल में भारत दलहन के मामले में आत्मनिर्भर हो जाएगा – राधा मोहन सिंह
गंगा किनारे घाट और सीढ़ियां जनता बनाए - उमा भारती
जल क्रांति को जन क्रांति में बदलें - उमा भारती
हिंदी के प्रयोग से बढ़ता है देश का सम्मान : जुएल ओराम
सबसे प्रतिष्ठित और बेदाग राजनेताओं में से एक हैं मोती सिंह
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.