ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

देश एवं राजनीति

उर्वरक कंपनियां प्रतिदिन 50 टन आक्सीजन की आपूर्ति करेंगी
कोरोना के मरीजों को देखते हुए उर्वरक कंपनियों ने उठाया यह कदम

एजेंसी समाचार

नई दिल्ली, 29 अप्रैल 2021

केंद्र ने बुधवार को कहा कि इफ्को जैसी उर्वरक कंपनियों द्वारा कोविड-19 मरीजों के उपचार के लिए अस्पतालों को प्रतिदिन 50 टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति किये जाने की उम्मीद है। केन्द्र सरकार ने एक बयान में कहा कि इफ्को, गुजरात स्टेट फर्टिलाइजर एंड केमिकल्स (जीएसएफसी), गुजरात नर्मदा वैली फर्टिलाइजर एंड केमिकल्स (जीएनएफसी) और अन्य उर्वरक कंपनियां ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने में जुटी हैं। हालांकि, सरकार ने कोई समयरेखा नहीं बतायी कि इन उर्वरक संयंत्रों द्वारा ऑक्सीजन की आपूर्ति कब से उपलब्ध कराई जा सकेगी।


उर्वरक और रसायन राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने यहां एक बैठक में सार्वजनिक और निजी दोनों उर्वरक कंपनियों के साथ ऑक्सीजन उत्पादन बढ़ाने की संभावना पर चर्चा की। मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘कुल मिलाकर यह उम्मीद की जाती है कि प्रतिदिन लगभग 50 टन मेडिकल ऑक्सीजन कोविड ​​-19 रोगियों को उर्वरक संयंत्रों द्वारा उपलब्ध कराया जा सकता है। यह कदम आने वाले दिनों में देश के अस्पतालों में मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन की आपूर्ति को बढ़ाएगा। मंत्रालय के अनुसार, सहकारी उर्वरक कंपनी इफ्को गुजरात के अपने कलोल इकाई में 200 घन मीटर प्रति घंटे की क्षमता वाले एक ऑक्सीजन संयंत्र लगा रही है और कुल क्षमता 33,000 घन मीटर प्रति दिन होगी। जीएसएफसी ने अपने संयंत्रों में छोटे बदलाव किए हैं और तरल ऑक्सीजन की आपूर्ति शुरू की है, जबकि जीएनएफसी ने वायु पृथक्करण इकाई शुरू करने के बाद चिकित्सा उद्देश्यों के लिए तरल ऑक्सीजन की आपूर्ति भी शुरू कर दी है।

जीएसएफएस और जीएनएफसी दोनों ने अपनी ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसमें कहा गया है कि यह अन्य उर्वरक कंपनियां, सामाजिक निगमित दायित्व (सीएसआर) वित्तपोषण के माध्यम से देश के चुनिंदा स्थानों पर अस्पतालों / संयंत्रों में मेडिकल संयंत्र स्थापित करेंगी। बैठक में, मंत्री ने उर्वरक कंपनियों से कहा कि वे ऑक्सीजन उत्पादन की अपनी मौजूदा क्षमता को बढ़ायें और अस्पतालों को मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाते हुए, इस महामारी के समय में समाज की मदद के लिए आगे आयें।





जरा ठहरें...
केंद्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा कॉलोनियों का पुनर्विकास का काम तेज
एक राष्ट्र एक राशन कार्ड से प्रवासी मजदूरों को होगा फायदा - श्रम सचिव
गणतंत्र दिवस पर राजपथ पर दिखी भारत की आन बान शान की तस्वीर
सर्वोच्च न्यायालय ने कृषि विधेयक के लागू होने पर लगाई रोक, गठित की समिति
गाँव और कृषि आत्मनिर्भर व्यवस्था के दो मज़बूत आधार: नरेंद्र सिंह तोमर
कृषि विधेयक पास: प्रधानमंत्री बोले किसानों तक तकनीकि पहुंचने में आसानी होगी
"एक दिन ऑक्साईचीन और पीओके हमारा होगा"
वॉपकॉस ने 1110 करोड़ रुपये की अब तक सर्वाधिक आय अर्जित की!
देश की सबसे बड़ी सुरंग देश को समर्पित, प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.