ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

कारोबार-समाचार

प्रगति मैदान में लगने वाला मेला आम आदमी की पहुंच से दूर
यहां बिकने वाला हर उत्पाद, बाजार के भाव से 4 से 10 गुना है महंगा

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, 15 नवंबर 2022

दिल्ली के प्रगति मैदान में हर साल लगने वाला अंतराष्ट्रीय व्यापार मेला सोमवार से शुरू हो चुका है। मेला 14 से 27 नवंबर तक चलेगा। इसे आम जनता के लिए 19 नवंबर से खोला जाएगा। व्यापार मेले में प्रत्येक दिन लगभग 40,000 दर्शकों के आने की संभावना है। फिलहाल प्रगति मैदान में टिकटों की बिक्री नहीं होगी। टिकट ऑनलाइन और चयनित मेट्रो स्टेशन (सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन को छोड़कर) पर मिलेंगे इसबार मेले का विषय ''वोकल फार लोकल, लोकल टू ग्लोबल'' रखा गया है। ''वोकल फोर लोकल'' अभियान के तहत भारतीय उत्पाद प्रदर्शित किए गए हैं। मेले में लगभग 2500 प्रदर्शक शामिल हैं।

ये तो कुछ खास बात रही मेले की। अब आम आदमी से जुड़ी बातें करते हैं। देश में सुरसा की तरह मुंह फैलाए मंहगाई के आगे जहां देश का आम आदमी वेबश और असहाय है। आम आदमी की खरीदने की क्षमता जहां घटी  है वहीं प्रगित मैदान में लगने वाले इस मेले की बात करें तो मेले में आए जितने भी उत्पाद हैं वो आम आदमी की पहुंच से काफी दूर हैं। सामान्य बाजार में मिलने वाले उत्पादों की कीमत यहां पर 4 गुना से लेकर 10 गुना अधिक दाम में बेची जा रही है। कहने का मतलब प्रगति मैदान में ग्राहकों को लूटा जा रहा है। उदारहरण के तौर पर हम आपको कुछ तथ्य रख रहे हैं। सामान्य बांस की मेले में 20 रूपए में मिलने वाली बांसुरी की कीमत 200 रूपए में बेची जा रही है। दो ढाई हजार की आर्थोपेडिक चटाई की कीम यहां मिल रही 14 हजार के आसपास। इसी तरह 10 रूपए का मिलने वाला रिमोट कवर 100 रूपए में बेचा रहा है। दो ढ़ाई हजार की गणेश की मूर्ति 35 से 45 हजार रूपए में बेचा जा रहा है। इसी तरह दिल्ली के चावड़ी बाजार में मिलने 7-8 सौ रूपए वाला काजू की कीमत यहां 17 से 18 सौ रूपए किलो में बेचा जा रहा है। 

इसी तरह दिल्ली के चादंनी चौक में मिलने वाला 100 से 150 रूपए का 3डी कैलेंडर की कीमत प्रगति मैदान में 12 सौ रूपए में बेचा जा रहा है। इसी प्रकार सामान्य बाजार में खाने पीने की चीजों का दाम भी उछाल माल रहा है। सामान्य कालीन की कीमत जो बाजार में 4 से 5 सौ रूपए में मिल जाता है यहां पर उसकी कीमत दो से तीन हजार में बेचा जा रहा है। आनलाइन घरेलू चीजें 50 से 60 रूपए में उपलब्ध है यहां पर उसकी कीमत 2 से 3 सौ रूपए वसूला जा रहा है। ये तो महज कुछ उदाहरण है। बाकी प्रगति मैदान में मिलने वाला हर सामान की कीमत बाजार भाव से बहुत ज्यादा वसूला जा रहा है।

इन सबके बावजदू फिर भी यदि आप 14 से 18 नवंबर 2022 के बीच इस मेले में जाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको 500 रुपये एंट्री फीस देनी होगी. जबकि बच्चों के लिए टिकट प्राइस 150 रुपये है। यानि प्रवेश शुल्क में भी कोई कमी नहीं है। वहीं 19 से नवंबर से 27 नवंबर तक बड़ों की  प्रवेश के लिए 80 रुपये जबकि बच्चे के टिकट के लिए 40 रुपये देने होंगे। सप्ताहांत पर व्यापार मेले में यदि जाएंगे तो टिकट की कीमत बड़ो के लिए 150 रुपये और बच्चों के लिए 60 रुपये निर्धारित की गई है। दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन के 67 स्टेशन पर टिकट की सुविधा होगी। आइटीपीओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर भी टिकट खरीद सकेंगे। 








जरा ठहरें...
इस बार अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में उत्तर प्रदेश का पंडाल अलग अंदाज में दिख रहा है
प्रगति मैदान में लगने वाला विश्व व्पापार मेला होगा इस बार बिल्कुल जुदा
प्रगति मैदान में लगेगा ब्राईब्रेंट-2022 मेला, सभी घरेलू उपकरणों की होगी प्रदर्शनी
SBI ने दिल्ली एम्स को दान किए 10 विद्युत वाहन
एथनाल, पेट्रोल और बैट्ररी से चलेगी नए भारत की यह कार
एसबीआई ने भारत के 6 राज्यों में ग्राम सेवा कार्यक्रम की शुरूआत की
अत्याधुनिक सुरक्षा, सुरक्षा, आपदा प्रबंधन और अग्निशमन उपकरण प्रदर्शित किए गए"
प्रगति मैदान में अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा पेशेवरों का महामेले का आयोजन
अगले पांच वर्षों में 300 पीएम गति शक्ति कार्गो टर्मिनल विकसित करने की योजना
विबग्योर मार्वल्स विकासशील देशों के साथ की चर्चा
राष्ट्रीय राजमार्गों के किनारे अमृत सरोवर का निर्माण, कायाकल्प करेंगे - अलका उपाध्याय
दिल्ली में SBI की मोबाइल मेडिकल यूनिट परियोजना की शुरूआत
आधुनिक मूलभूत अवसंरचना के विकास के लिए समर्पित है रेलटेल
2022 के दौरान भारत ने 13.5 मिलियन टन तैयार इस्पात का निर्यात किया
इस्पात मंत्रालय ने लौह और इस्पात क्षेत्र में धातुकर्मियों को दिए पुरस्कार
सीएनजी और पीएनजी के दामों में फिर भारी बढ़ोत्तरी
प्रयागराज रेल मंडल ने विद्युतीकरण का सौ फीसदी लक्ष्य हासिल किया
कबाड़ की कमाई से पश्चिम रेलवे हुआ माला-माल
अब स्वदेश दर्शन ट्रेन में तीर्थयात्रियों के लिये ए.सी. की सुविघा हुई उपलब्ध
इस्पात मंत्रालय की हिंदी सलाहकार समिति ने प्रगति की समीक्षा मदुरै में हुई
"भारतीय वाहन उद्योग को बड़े अवसरों से लाभ उठाना चाहिए" - डॉ. पांडेय
माल ढुलाई के मामले में रेलवे ने सारे रिकार्ड तोड़े
ग्रीन स्‍टील अथवा 'लो कार्बन स्टील' के विनिर्माण पर जोर
एसबीआई ने राष्ट्रीय सांप्रदायिक सद्भाव फाउंडेशन को दो करोड़ रुपये दी
विश्व व्यापार मेला 14 नवंबर से प्रगति मैदान में
भुवनेश्वर - जयपुर के बीच पहली सीधी उड़ान की शुरूआत
एसबीआई दिल्ली प्रधान कार्यालय ने मनाया सतर्कता दिवस
‘उड़ान योजना’ के तहत शिलांग-डिब्रूगढ़ मार्ग पर पहली सीधी उड़ान को हरी झंडी
इस्पात मंत्रालय द्वारा पीएलआई योजना पर एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन
अब उपहार के जरिए IRCTC यात्रियों को लुभाने में जुटा
IRCTC रक्षा बंधन पर महिला यात्रियों को दे रहा है विशेष कैश बैक का ऑफर
एसबीआई की दिल्ली एनसीआर में आठ नई शाखाओं की शुरूआत
भारतीय स्टेट बैंक ने मनाया अपना 66वां बैंक दिवस
IRCTC अब बनाएगा प्री फार्म: जिनसे तैयार होती है पानी की बोतलें
स्टेट बैंक ने होम लोन कारोबार में 5 लाख, करोड़ रुपए के आंकड़े को पार किया
भारतीय स्टेट बैंक की पुनर्निर्मित "शाखा" का उद्घाटन
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.