ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

पर्यटन-संस्कृति

चाँदनी चौक के वैभव में बाधा है अतिक्रमण और अवैध निर्माण

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

१८ जुलाई २०१७

दिल्ली के दिल चांदनी चौक के खत्म हो रहे पुराने वैभव को बचाने के लिए अवैध निर्माण पर रोक लगाने के कड़े निर्देश दिए जाने की सख्त ज़रूरत है यदि समय रहते कदम नहीं उठाए गए तो पुरानी संस्कृति और ऐतिहासिक धरोहरें नष्ट हो जाएंगी। हेरिटेज संस्कृति और पर्यटन प्रेमी होने के नाते केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री  विजय गोयल ने  दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल को पत्र लिख कर चांदनी चौक के बद से बदतर हो रहे हालात को सुधारने का अनुरोध किया है ।


साथ ही उन्होनें उप राज्यपाल को ये सुझाव भी दिया है कि केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय को पत्र लिख कर चांदनी चौक को स्मार्ट सिटी का दर्जा दिए जाने पर ज़ोर दिया जाए। विजय गोयल ने ऐतिहासिक और सांस्कृति महत्व वाले चांदनी चौक  की बदहाली पर गहरी चिंता जतायी है। यहां से दो बार लोक सभा सांसद रहने के नाते उनका पुरानी दिल्ली उर्फ शाहजहांनाबाद से करीबी रिश्ता है । चांदनी के पुराने वैभव और  धरोहरों के संरक्षण के लिए उन्होनें अनेक प्रयास किए  हैं । लेकिन अवैध निर्माण अतिक्रमण  ने जहां चांदनी चौक की सूरत ही बिगाड़ दी है वहीं बिजली ,पानी की सप्लाई भी ठीक से नहीं हो पा रही है । गोयल ने अपने पत्र में लिखा है कि चांदनी चौक को बचाने के लिए शाहजहांनाबाद पुनर्विकास बोर्ड बनाया गया था ताकि शहरी विकास की दौड़ में पुरात्तव और सांस्कृति महत्व का ये एतिहासिक स्थान नज़र अंदाज़ ना हो जाए और इसका संरक्षण और रख रखाव  भी होता रहे । उन्होनें उपराज्यपाल से अनुरोध किया है कि शाहजहांनाबाद पुनर्विकास  बोर्ड के नियम और उद्देशय लागू करने के लिए ज़रूरी  निर्देश जारी किए जाएं ।

चांदनी चौक में एक से बढ़ कर एक पुरातत्व महत्व की इमारतें और एतिहासिक पर्यटन स्थल हैं जिनकी कारीगरी पूरी दुनिया के लिए मिसाल है। भले ही इनका आर्थिक दृष्टि से महत्व ना हो लेकिन सामाजिक – सांस्कृति दृष्टि से ये अनमोल हैं। इस सिलसिले में उन्होंने दिल्ली के उप मुख्यमंत्री से मुलाकात कर चांदनी चौक के हालात पर चिंता जताते हुए सुधार और सरंक्षण के लिए आवश्यक कदम उठाने को कहा था। लेकिन अफसोस की अब तक इस दिशा में दिल्ली सरकार और शाहजहांनाबाद पुनर्विकास बोर्ड ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया ।  





जरा ठहरें...
रोमानिया में पढ़ाया जाता है रामायण और महाभारत के अंश
जुर्माने के साथ श्री श्री के विश्व सांस्कृतिक महोत्सव समारोह की इजाजत
सरकार ने शुरू किए स्वच्छ पर्यटन मोबाइल एपीलेकशन
विदेशी पर्यटकों के आगमन में 6.5 प्रतिशत का इजाफा
पर्यटन मंत्रालय ने आयोजित किया अंतरराष्‍ट्रीय रामलीला सम्‍मेलन
विदेशी पर्यटकों के आगमन (एफटीए) में 1.7 प्रतिशत का इजाफा
2016-17 तक विदेशी पर्यटकों के आगमन में बढ़ोत्तरी : डॉ. महेश शर्मा
भक्तिकालीन साहित्य के सूर थे सूरदास
मकाउ में भारतीय पर्यटक दे रहे हैं देसी खाने को वरीयता
सम दिन में मैथून करने से सुखी प्रसव होता है - गरूण पुराण
केरल सरकार की मेहनत रंग लाई, पर्यटकों की संख्या में भारी इजाफा
कौन है आज का प्रेमचंद? हिंदी साहित्य का अमर साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद
रामचरित मानस की दुर्लभ प्राचीन पांडुलिपि बरामद
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें