ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

चंडीगढ़

१० वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता ने अस्पताल में बच्ची को जन्म दिया

चंड़ीगढ़

एजेंसी समाचार

यहां के सरकारी अस्पताल में दस वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता ने गुरुवार को लड़की को जन्म दिया। बच्ची के साथ उसके चाचा ने कई बार दुष्कर्म किया था। अस्पताल के सूत्रों ने कहा कि मां और बच्ची की हालत स्थिर है। नवजात को गहन चिकित्सा देखरेख में रखा गया है क्योंकि उसका वजन कम है। बच्ची सेक्टर 32 के गवर्मेट मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में बीते दो दिनों से भर्ती थी। चिकित्सकों का एक दल उसके स्वास्थ्य की निगरानी में लगा था। बच्ची का प्रसव सिजेरियन सर्जरी से कराया गया। सर्वोच्च न्यायालय ने बीते महीने दुष्कर्म पीड़िता को गर्भपात कराने की अनुमति देने की मांग की याचिका को खारिज कर दिया था। अदालत ने यह कदम उसके जीवन को खतरे के मद्देनजर लिया था।


अदालत ने कहा था, "मेडिकल बोर्ड द्वारा की गई सिफारिश को ध्यान में रखते हुए हम मानते हैं कि न तो यह लड़की के हित में होगा और न ही 32 सप्ताह के भ्रूण के हित में। हम गर्भपात को अस्वीकार करते हैं।" यह आदेश वकील आलोक श्रीवास्तव की एक जनहित याचिका पर आया, जिन्होंने 18 जुलाई को चंडीगढ़ की जिला अदालत द्वारा गर्भपात कराए जाने से इनकार करने पर सर्वोच्च अदालत का दरवाजा खटखटाया था। प्रधान न्यायाधीश जे.एस. खेहर और डी.वाई. चंद्रचूड़ की खंडपीठ ने मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट के बाद याचिका को नामंजूर कर दिया। इस बोर्ड को चंडीगढ़ पोस्टग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च ने अदालत के आदेश पर गर्भवती बच्ची की जांच के लिए बनाया था। इसमें गर्भपात से लड़की के जीवन को खतरे की चेतावनी दी गई थी। साभार।




जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.