ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

अंडवार निकोबार द्वीप समूह

अंडमान में मिसाइल परीक्षण रेंज को नहीं मिली मंजूरी
पर्यावरण मंत्रालय ने नहीं दी मंजूरी!

नई दिल्ली।

६ अक्टूबर २०१२

अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह के तिल्लाचांग अभयारण्य में मिसाइल परीक्षण रेंज बनाने के नौ सेना के प्रस्ताव को केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने मंजूरी नहीं दी। मंत्रालय का कहना है कि इससे विलुप्त हो रही पक्षियों की प्रजाति मेगापोड का आशियाना उजड़ सकता है। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री जयंती नटराजन ने शुक्रवार को संवाददाताओं से कहा, "यह मुद्दा पिछले माह राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड की बैठक में उठा, जिसमें कई गैर-सरकारी सदस्यों ने इस पर चिंता जताई। मैंने गुरुवार को निर्णय लिया कि रेंज अभयारण्य के दायरे में नहीं आना चाहिए।"

नटराजन ने कहा कि यह बहुत कठिन निर्णय था, क्योंकि इस परियोजना को मंजूरी देने के लिए रक्षा मंत्रालय का बहुत दबाव था। उन्होंने कहा, "इस प्रस्ताव को खारिज करने का निर्णय बेहद कठिन था, क्योंकि इसमें सुरक्षा की बात थी और मिसाइल रेंज देश की सुरक्षा के लिए आवश्यक है। लेकिन पर्यावरण मंत्री के तौर पर देश के वन्यजीवन, वनस्पति तथा पशुओं को बचाना मेरा कर्तव्य है और मुझे ऐसा करना चाहिए।" नौ सेना ने मिसाइल परीक्षण के लिए अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह की पारिस्थितिकीय दृष्टिकोण से संवेदनशील भूमि का अस्थाई इस्तेमाल करने की अनुमति मांगी थी। इसमें प्रस्ताव किया गया था कि परीक्षण साल में एक बार सात से 10 दिन के लिए होगा। लेकिन पिछले माह वन्यजीव बोर्ड की बैठक में इसे खारिज कर दिया गया।



फाइल उपयोग के लिए।




जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.