ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

खिड़की से साधारण रेल टिकट लेने का झंझट हुआ खत्म

आकाश श्रीवास्तव

नई दिल्ली

नई दिल्ली। एक नवंबर से रेलवे ने पूरे देश में मोबाइल ऐप के जरिए जनरल टिकट खरीदने की सुविधा उपलब्ध करा दी है। अभी तय यह सुविधा कुछ रेल मंडलों में उपलब्ध थी और कुछ में नहीं थी लेकिन अब यह प्रणाली पूरे देश में उपलब्ध हो गई है। यात्री चाहे छोटे स्टेशन पर हो या बड़े स्टेशनों के आसपास, वह रेलवे टिकट काउंटर की कतार में खड़े हुए बिना जनरल टिकट क्षणभर में हासिल कर सकता है। अब यात्रियों को टिकट जेब में रखने और गुम होने के खतरे से भी फुर्सत मिल जाएगी। अब मोबाइल में सुरक्षित टिकट ही टीटीई को दिखाया जा सकता है।


रेलवे अधिकारियों का मानना है कि आरक्षित श्रेणी में शुरुआती दौर में ई-टिकटों की बिक्री कम थी, जबकि वर्तमान ई-टिकटों की बिक्री काउंटर से बिकने वाले टिकटों की संख्या में दो गुनी अधिक हो चुकी है। इसका असर यह है कि रेलवे के जिन आरक्षित टिकट काउंटरों पर सुबह से आधी रात से कतार लगती थी, वहां अब गिनती के लोग पहुंच रहे हैं। तत्काल टिकटों की अतिरिक्त सुविधा काउंटर पर न मिले तो यह भीड़ भी आधी हो जाएगी। रेलवे को इसका बड़ा फायदा यह हुआ है कि इससे आरक्षित टिकट काउंटरों पर कर्मचारियों और कंप्यूटर्स की संख्या भी घटकर दो तिहाई रह गई है। इसके विपरीत अनारक्षित यानि साधारण टिकटों के लिए बड़े स्टेशनों पर भारी कतार लग रही है। कतार के चक्कर में बड़ी संख्या में यात्री टिकट भी नहीं ले पाते. अनारक्षित टिकटों की अॉनलाइन बिक्री से यात्रियों के साथ रेलवे को भी फायदा है। फिलहाल, उत्तर रेलवे की ओर से यह बताया गया है कि उत्तर रेलवे, पूर्वोत्तर रेलवे और उत्तर मध्य रेलवे के सभी स्टेशनों के यात्रिय़ों को यह सुविधा एक नवंबर से मिलने लगी है।

इसके लिए आपको मोबाइल में गूगल प्लेट स्टोर, विंडो स्टोर या ऐप स्टोर पर जाकर यूटीएस अॉन मोबाइल ऐप डाउनलोड करना होगा। इसके बाद यात्री को ऐप में अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर करना होगा। नजदीकी रेलवे स्टेशन, ट्रेन की श्रेणी, क्लास, टिकट टाइप, यात्रियों की संख्या और उस रूट का नाम जिस पर ज्यादातर आना-जाना होता है, भी रजिस्टर करना होगा। रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद रेलवे के आर-वॉलेट पर जीरो वैलेंस का खाता खुल जाएगा। इसके बाद आर-वॉलेट को रेलवे के यूटीएस काउंटर से रिचार्ज कराया जा सकता है. वेब पोर्टल या मोबाइल ऐप से भी रिचार्ज करना संभव है।


प्रत्येक रिचार्ज पर पांच फीसदी का बोनस राशि भी आर-वैलेट पर प्राप्त होगी यानि 100 रुपये के रिचार्ज पपर 105 रुपये आर-वॉलेट में जमा होंगे। इस ऐप से रेलवे स्टेशन के पांच किमी के दायरे में रहकर किसी भी स्टेशन से देश के किसी भी स्टेशन के लिए टिकट बुक किया जा सकता है। प्लेटफार्म पर खड़े होकर टिकट खरीदने में दिक्कत आ सकती है यानि स्टेशन परिसर के बाहर रहकर ही यूटीएस से टिकट खरीदना संभव होगा।




जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.