ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

बिहार

सत्ता सेवा के लिए मेवा खाने के लिए नहीं -नीतिश कुमार

28 जुलाई 2017

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा उन्होंने कहा कि सत्ता लोगों की सेवा के लिए होती है, न कि 'मेवा' के लिए। इससे पहले उन्होंने विधानसभा में विश्वास मत हासिल किया। विश्वास मत के पक्ष में 131, जबकि विरोध में 108 वोट पड़े। बिहार में नवगठित सरकार ने बिहार विधानसभा का एकदिवसीय विशेष सत्र आहूत किया था। विधानसभा की कार्यवाही प्रारंभ होने के पूर्व ही राजद और कांग्रेस के विधायकों ने जमकर हंगामा किया। विधानसभा की कार्यवाही के दौरान भी अंदर टोकाटोकी का दौर चलता रहा। इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सरकार के पक्ष में विधानसभा में विश्वास मत पेश किया। विश्वास मत पर चर्चा में भाग लेते हुए नीतीश ने लोगों से वादा किया, "अब बिहार में सरकार चलेगी, जनता की सेवा करेगी और भ्रष्टाचार और अन्याय को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।"


मुख्यमंत्री ने कहा, "हमने कई समस्याओं का सामना किया, बावजूद इसके गठबंधन धर्म का पालन करने का हरसंभव प्रयास किया। परंतु जब स्थिति खराब हो गई और जनता परेशान होने लगी तो इसके अलावा और कोई रास्ता नहीं था।" इसके पूर्व राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए उन्हें रणछोड़ कहा। उन्होंने कहा, "संघ मुक्त भारत बनाने की बात कहने वाले नेता ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सामने घुटने टेक दिए।" तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार में हिम्मत थी तो उन्होंने मुझे बरखास्त क्यों नहीं किया? उन्होंने कहा कि साजिश के तहत मुझे और मेरे परिवार को फंसाया गया।

तेजस्वी ने नीतीश को स्वार्थी बताते हुए कहा, "नीतीश को जब हमारी जरूरत थी, तब हमारे साथ आ गए और आज जब भाजपा की जरूरत है, तब सुशील कुमार मोदी के साथ आ गए।" विश्वास मत के पक्ष और विपक्ष में चर्चा के बाद मतदान शुरू हुआ। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने शुरू में ध्वनिमत से मतदान कराने की कोशिश की, लेकिन दोनों ओर से तेज आवाज के कारण निर्णय नहीं हो सका। इसके बाद मतदान कराया गया, जिसमें विश्वास मत के पक्ष में 131, जबकि विरोध में 108 मत पड़े। विधानसभा से बाहर निकलने के बाद भाजपा नेता प्रेम कुमार ने कहा कि यह पहले से ही तय था कि बिहार की जनता राजग के साथ है। उन्होंने कहा कि आज पूरा परिवार खुश है। उन्होंने विश्वास मत प्राप्त करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बधाई दी।


ज्ञात हो कि राजद ने गुप्त मतदान का आग्रह किया था। विधानसभा के विशेष सत्र को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। विधानसभा की कार्यवाही का सीधा प्रसारण भी रोका गया। उल्लेखनीय है कि महागठबंधन से अलग होने के लिए नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद नीतीश ने भाजपा नीत राजग के अन्य दलों के सहयोग से सरकार बनाई और गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।



जरा ठहरें...
शादी के छह महीने भी नहीं हुआ कि लालू के बेटे ने दी तलाक की अर्जी
बिहार में बड़ी संख्या में पत्रकारों की मान्यता रद्द करने की तैयारी में सरकार
मुजफ्फरनगर बालिका कांड के बहाने भाजपा नीतिश को घेरने में जुटी
बिहार को विशेष राज्य की मांग का दर्जा पारा चढ़ने लगा है
बिहार में इंजीनियर का पकडुवा विवाह करवाया
Exclusive: नीतिश-भाजपा में बढ़ी दूरियां, कभी भी हो सकता है तलाक...!
भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने भाजपा को अलविदा कहा!
मंत्री के बेटे को नहीं मिली जमानत
लालू को फैसला बुधवार को सुनाया जाएगा!
चीनी मिल का ब्यॉलर फटा आधा दर्जन से ज्यादा मजदूरों की मौत
मोदी 2018 में ही चुनाव करा सकते हैं - लालू
कल मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा और आज फिर मुख्यमंत्री बने!
लालू के पूरे कुनबे पर सीबीआई का छापा
आखिर सेना कैसे पार करेगी गंगा - उच्च न्यायालय
बिहार में बनेगा विश्व का पहला रामायण विश्वविद्यालय
'सुपर-30' के संस्थापक ने खूब बेले हैं 'पापड़'
विश्व के सबसे बड़े राम मंदिर का निर्माण शुरू, मुस्लिम परिवार ने दान की जमीन
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.