ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

प्याज के स्टॉक होल्डरों के साथ मिलीभगत के कारण दिल्ली में प्याज की कालाबाजारी हो रही है

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, ८ नवंबर २०१९

मनोज तिवारी ने दिल्ली में प्याज के दामों में आये जबरदस्त उछाल को केजरीवाल सरकार की लापरवाही बताते हुय कहा कि प्याज ने एक बार फिर दिल्ली की जनता के किचन का बजट बिगाड़ दिया है, दामों में जबरदस्त इजाफा दर्ज किया गया है और प्याज दिल्ली में 100 रूपये प्रति किलों बिक रही है और यदि यही स्थिति रही तो 100 का आंकड़ा पार कर जायेगी। 100 रूपये के दाम में प्याज आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग व मध्यम वर्ग के लोगों की पहुंच से दूर जा रही है। प्याज की समस्या को लेकर केन्द्र सरकार ने दिल्ली सरकार को कई बार पत्र लिखकर प्याज के भण्डारण के लिए कहा, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री ने प्याज की पर्याप्त मात्रा बताकर केन्द्र सरकार से प्याज लेने से इंकार कर दिया।


आखिर मुख्यमंत्री जनता के दुश्मन बने हुये हैं, जमाखोरों को क्यों बढ़ावा दे रहे हैं। प्याज जैसी मूल खाद्य पदार्थ की बढ़ती कीमतों को रोकने में क्यों केजरीवाल सरकार फेल है। तिवारी ने कहा कि दिल्ली सरकार के पास प्राइज स्टेबिलाइजेशन फंड है जिसमें उपलब्ध करोड़ों रूपये आपातकाल में बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने व भण्डारण के लिए है, यदि दिल्ली सरकार ने इसका इस्तेमाल किया होता तो आज दिल्ली में प्याज की कीमतें आसमान न छू रही होती। केन्द्र सरकार ने प्राइज स्टेबिलाइजेशन फंड का इस्तेमाल करके भंडारण किया है जिसे वह केन्द्रीय भण्डार, नैफेड, एन.सी.सी.एफ और मदर डेयरी के बूथों के माध्यम से 23.90 पैसे प्रति किलों प्याज बेच रही है। सितम्बर में ही दिल्ली के मुख्यमंत्री को प्याज संकट के बारे में केन्द्र सरकार द्वारा चेता दिया गया था, लेकिन दलगत राजनीति से प्रेरित मुख्यमंत्री ने जनता के हित को किनारें कर विज्ञापनों पर करोड़ों रूपये खर्च किये। प्राइज स्टेबिलाइजेशन फंड का प्रयोग न कर केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की जनता को मंहगाई की मार झेलने के लिए अकेला छोड़ दिया है। दिल्ली में पिछले एक हफ्ते में प्याज का खुदरा मूल्य 45 प्रतिशत बढ़कर 100 रुपये किलो को पार करने जा रही है।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक एक अक्टूबर को प्याज का भाव 65 रुपये किलो था। आकंड़ों के मुताबिक प्याज की कीमतों में पिछले साल की तुलना में करीब तीन गुना वृद्धि हुई है और इसी बढ़ोतरी की जिम्मेदार केजरीवाल सरकार है।





जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.