ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

दिल्ली में ठंड़ ने सारे रिकार्ड तोड़ दिए

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, ३० दिसंबर २०१९

वर्ष 1901 के बाद यह दूसरा मौका है जब दिल्लीवासियों को इतने लंबे समय तक शीतलहर का प्रकोप झेलना पड़ा है। राहत की बात यह है कि स्कूलों में छोटे बच्चों के लिए शीतकालीन अवकाश शुरू हो गया है। सफदरजंग में सोमवार सुबह न्यूनतम तापमान 2.6 और पालम में 2.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। दिल्ली के अलावा एनसीआर के नोएडा , गुरूग्राम , फरीदाबाद और गाजियाबाद समेत अन्य क्षेत्रों में कोहरे छाया हुआ है। इस समय दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत भीषण ठंड और घने कोहरे की चपेट में है। दिल्ली हो या फिर उससे सटे नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद, सोमवार सुबह पूरी तरह कोहरे की गहरी चादर में ढक गए। सुबह तकरीबन 7 बजे राजधानी दिल्ली लो विजिबलिटी के कारण गायब ही नजर आई। घने कोहरे का असर ट्रेनों के साथ-साथ फ्लाइट्स पर भी पड़ा है।


इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर घने कोहरे की वजह से सुबह छह बजे से ही यातायात पर व्यापक असर पड़ा। दृश्यता कम रह जाने से केवल कैट 3 बी प्रौद्योगिकी से लैस विमान और इसके लिए प्रशिक्षित पायलट ही टेक आफ और लेंडिग कर सके। घने कोहरे की वजह से छह उड़ाने रद करनी पड़ी तथा 21 उड़ानों को डायवर्ट किया गया, जबकि 40 फ्लाइट्स को रद कर दिया गया है। इसके अलावा बड़ी संख्या में उड़ानों की आवाजाही भी प्रभावित हुई । दिल्ली आने वाली विभिन्न राजधानी गाड़ियों के अलावा बड़ी संख्या में कई अन्य रेलगाड़िया कई-कई घंटों की देरी से चल रही हैं । घने कोहरे की वजह से दृश्यता कम रहने के कारण सड़क यातायात पर भी असर पड़ा और चालकों को पीली बत्ती जलाकर वाहन चलाना पड़ा।

मौसम विभाग के अनुसार राजधानी दिल्ली में आज का दिन पिछले 119 वर्षों में सबसे ठंडा दिन रहा है। दिल्ली में 14 दिसम्बर से ही कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। शनिवार को सुबह कुछ इलाकों में न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस से भी नीचे दर्ज किया गया था। रविवार सुबह सबसे कम तापमान आया नगर में 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शनिवार को यहां तापमान 1.7 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया था। दिसम्बर माह में 29 दिसंबर तक औसत तापमान 19.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। यह स्तर 1997 के 17.3 डिग्री के बाद का सबसे कम है।





जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.