ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

’50 दिनों में भारत में 7.5 लाख करोड़ रुपये के व्यापार का नुकसान’

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, 14 जून 2020

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट ) ने आज कहा कि गत 24 मार्च को देश भर में लॉकडाउन लागू किया गया था जिसके परिणापस्वरूप लॉक डाउन के गत 50 दिनों में भारतीय खुदरा व्यापार में लगभग 7.50 लाख करोड़ का कारोबार नहीं हुआ जिसके परिणामस्वरूप केंद्र ईवा राज्य सरकारों को लगभग 1 .5 लाख करोड़ रुपये के जीएसटी राजस्व का नुकसान हुआ है। कैट  ने कहा है कि लॉकडाउन हटाए जाने के बाद देश के व्यापार बाज़ारों में लगभग केवल 20  प्रतिशत ग्राहकों के आने की सम्भावना है। क्योंकि कोरोना का डर अभी भी उपभोक्ताओं के बीच बना हुआ है जो उन्हें बाजारों में जाने से रोकेगा।


व्यापारियों के इस बेहद बड़े वित्तीय संकट के कारण यह भी उम्मीद है कि लॉकडाउन खुलने के बाद देश भर में कम से कम 20 प्रतिशत व्यापारियों को अपना व्यापार बंद करना पड़ सकता है और उसके साथ ही लगभग 10 प्रतिशत व्यापारी जो इन 20 प्रतिशत व्यापारियों  पर निर्भर हैं, के भी व्यापार बंद करने की आशंका है। कैट ने यह भी कहा कि लॉक डाउन के बाद देश में व्यापार करने का तौर तरीका पूरी तरह से बदलेगा जिसके अंतर्गत  सहयोगात्मक और व्यवस्थित व्यवसाय, पेशेवर तरीका , उन्नत और आधुनिक तरीके से युक्त खुदरा व्यापार ,स्वास्थ्य सुरक्षा एहतियाती उपाय, चौबीसों घंटे आंतरिक सुरक्ष, डिजिटल और संपर्क रहित भुगतान और अन्य व्यावसायिक प्रौद्योगिकियों को अपनाना, स्वच्छता बनाए रखना, ग्राहक केंद्रित व्यावसायिक वातावरण नया होगा।

व्यवसाय का प्रतिमान। डिजिटल ई कॉमर्स के साथ भौतिक दुकानों का एकीकरण एक अन्य क्षेत्र है और नियमों, विनियमों और कानूनों का कड़ाई से अनुपालन,  व्यापार की मूल बातें होगी जिसके चलते भारत में पूरे खुदरा व्यापार का परिदृश्य बदलेगा। कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि कोविड -19 ने भारतीय खुदरा व्यापार में एक बहुत बड़ी अपूरणीय सेंध लगा दी है जिसका पूरे देश के रिटेल व्यापार पर बेहद विपरीत प्रभाव पड़ेगा। व्यापार का भविष्य बहुत अनिश्चितता की चपेट में है। लॉक डाउन खुलने के बाद व्यापार में धन का चक्र और पैसे की आवाजाही कम से कम 45-60 दिनों के बाद ही शुरू हो सकेगी और व्यापार में धन का चक्र शुरू होने में समय लगेगा और उम्मीद है कि कम से कम दिसंबर, 2020 तक व्यापार पूरे रूप से चल पायेगा।


हालाकिं देश भर के व्यापारी अग्गामी नवरात्र से दिवाली तक होने वाले त्योहारी कारोबार में तेजी की उम्मीद कर रहे हैं ! लॉक डाउन के कारण से आम लोगों का खर्चा बेहद काम हुआ है और लोग पैसे की कुछ बचत कर पाए होने और आगामी दिवाली त्योहार के मौसम के दौरान बचत किये हुए धन के खर्च किये जाने की उम्मीद है !फिलहाल  यही देश में व्यापारियों के लिए आशा की एकमात्र किरण है।




जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.