ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

उ.प्र. में 20 से 25 दिसम्बर के बीच मनाया जा रहा है गुड गवर्नेन्स
मुख्य सचिव ने वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए वरिष्ठ अधिकारियों को दिए निर्देश

आकाश श्रीवास्तव

लखनऊ, 20 दिसंबर 2021

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में बताया कि पूरे प्रदेश में 20 दिसम्बर, 2021 से 25 दिसम्बर, 2021 तक गुड गवर्नेन्स वीक मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गुड गवर्नेन्स वीक में जन शिकायतों का तत्परता से निस्तारण कराये जाने हेतु अभियान चलाया जाये तथा जन सामान्य को प्रदान की जा रही सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार लाया जाये। उन्होंने गुड गवर्नेन्स वीक में किये गये कार्यों की रिपोर्ट मुख्यालय में सामान्य प्रशासन विभाग को भेजने के भी निर्देश दिये।

मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि सभी गोवंश आश्रय केन्द्रों का प्रति सप्ताह स्थलीय निरीक्षण कराया जाये। उन्होंने कहा कि ठण्ड से किसी भी गोवंश की मृत्यु नहीं होनी चाहिए तथा उनके लिए पर्याप्त शेड, भूसा, चारा, पानी व इलाज के पुख्ता इंतजाम होने चाहिए। उन्होंने कहा कि गोवंश आश्रय केन्द्रों की व्यवस्थाओं में कोई शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी तथा निरीक्षण में कमी मिलने पर दोषियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। मुख्य सचिव ने जिलाधिकारियों से कहा कि निराश्रित गोवंश सड़कों पर न दिखें उन्हें गोवंश आश्रय केन्द्रों तक पहुंचाने की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाये। 

उन्होंने कहा कि डीपीआरओ एवं बीडीओ अभियान चलाकर छुट्टा पशुओं को गो आश्रय केन्द्रों में भिजवायें तथा उनकी इयर टैगिंग भी सुनिश्चित करवायें। उन्होंने कहा कि आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए जरूरत के अनुसार कैटल केचर की भी व्यवस्था की जा सकती है। उन्होंने बताया कि गो आश्रय केन्द्रों की व्यवस्था तथा गोवंश सहभागिता योजना के लिए 100 करोड़ रुपये की धनराशि इसी माह अवमुक्त की जा रही है। माह जनवरी, 2022 में भी 100 करोड़ रुपये की धनराशि उपलब्ध कराई जायेगी। गोवंश आश्रय स्थलों के संचालन व रख-रखाव तथा सहभागिता योजना के लिए धन की कोई कमी नहीं है। 
 
मुख्य सचिव ने कहा कि पिछले 3-4 दिनों से शीतलहर का प्रकोप प्रारंभ हो चुका है, रैन बसेरों की स्थापना, कम्बल व अलाव आदि के लिए सभी जिलों को पर्याप्त धनराशि काफी पहले ही उपलब्ध कराई जा चुकी है। सभी जिलाधिकारी रैन बसेरों की व्यवस्थाओं का एक बार निरीक्षण अवश्य करा लें तथा यह सुनिश्चित कर लें कि कोई भी व्यक्ति सड़क अथवा खुले में सोता हुए न मिले। उन्होंने कहा कि गरीबों को कम्बल वितरण तथा सार्वजनिक स्थानों पर अलाव की भी तत्काल व्यवस्था की जाये। 

मुख्य सचिव ने कहा कि ओमिक्रॉन कई देशों के साथ भारत में भी आ गया है, इससे बहुत अधिक सावधान रहने की जरूरत है। अन्तर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए निर्धारित प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जाये। उन्होंने कहा कि जिनका अभी तक वैक्सीनेशन नहीं हुआ है, उनका वैक्सीनेशन कराया जाये। वैक्सीनेशन ही लोगों की जान बचायेगा। उन्होंने वैक्सीनेशन की प्रगति बढ़ाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन में कुछ जनपदों में बहुत अच्छा काम हुआ है, बाकी जिले भी उनसे प्रेरणा लेकर वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा करें। उन्होंने कहा कि सभी हॉस्पिटल्स एवं उपकरणों को एक बार चेक करा लिया जाये, जिलाधिकारी स्वयं एक बार निरीक्षण कर लें।

उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सालयों में की गई व्यवस्थाओं का मॉकड्रिल कराया जाये जिसमें पीकू बेड्स की उपलब्धता, चिकित्सा उपकरणों, वेन्टीलेटर्स, ऑक्सीजन प्लान्ट्स की क्रियाशीलता, स्टाफ व दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता आदि का निरीक्षण व सत्यापन किया जाये। उन्होंने कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराने तथा सोशल डिस्टेन्सिंग व मास्क के लिए जन सामान्य को जागरूक करने पर जोर दिया। उन्होंने पब्लिक एडेªस सिस्टम को दुरूस्त करने तथा इन्टीग्रेटेड कन्ट्रोल रूम को एक्टिवेट करने के भी निर्देश दिये।   



मुख्य सचिव अधिकारियों से बात करते हुए।





जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.