ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

कर्नाटक

शोर-शराबे और हो-हल्ला के बीच थम गया कर्नाटक चुनाव प्रचार

बेंगलुरू

११ मई २०१८

गुरुवार को कर्नाटक में चुनाव प्रचार का शोर शराबा थम गया। शाम पांच बजते ही राजनीतिक पार्टियों ने अपने प्रचार अभियान को समाप्त कर दिया। कर्नाटक की 224 सदस्यीय विधानसभा के लिए 12 मई को मतदान होगा, जबकि चुनाव परिणाम 15 मई को आएगा। कर्नाटक विधानसभा की 223 सीटों पर ही मतदान होगा क्योंकि एक सीट पर भाजपा के उम्मीदवार का निधन होने की वजह से चुनाव रद्द हो गया है।


कर्नाटक में 4 करोड़ 96 लाख मतदाता हैं। चुनाव आयोग ने राज्य में 97 फीसद फोटो पहचान पत्र जारी किए हैं। चुनाव में 56 हजार पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं। महिलाओं और दिव्यांगों के लिए मतदान का विशेष इंतजाम है। सभी पोलिंग स्टेशनों पर EVM के साथ VVPAT का भी इस्तेमाल होगा। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के बारे में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन सत्तारूढ़ कांग्रेस और बीजेपी के शीर्ष नेताओं ने जीत के लिए पूरा दमखम लगा दिया और एक-दूसरे के वोट बैंक को साधने की कोशिश की। बीजेपी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने धुआंधार रैलियां और प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक-दूसरे पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप लगाए। दोनों पार्टियों ने अपनी-अपनी जीत के दावे किए हैं। हालांकि ऑपिनियन पोल्स में त्रिशंकु विधानसभा के आसार जताए गए हैं।

प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पत्रकारों से बात की। कांग्रेस ने जहां मोदी सरकार पर आरोप लगाए, वहीं अमित शाह ने सिद्धारमैया सरकार को घेरा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उनमें खतरा दिखाई देता है और प्रधानमंत्री बनने की उनकी मंशा जाहिर करने के बाद मोदी का उन पर हमला सिर्फ लोगों का ध्यान भटकाने का तरीका है।


राहुल के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस की और राहुल के साथ-साथ सूबे की सिद्धारमैया सरकार पर जमकर निशाना साधा। शाह ने दावा किया कि भाजपा अकेले दम पर 130 से ज्यादा सीटें जीतकर राज्य में सरकार बनाएगी। शाह ने यह भी दोहराया कि सिद्धारमैया दोनों सीट चामुंडेश्वरी और बादामी से चुनाव हार जाएंगे।


राहुल ने संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के विदेशी मूल का मुद्दा उठाने के लिए मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि उनकी मां इतालवी हैं', लेकिन वह अनेक भारतीयों से अधिक भारतीय हैं। वहीं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सिद्धारमैया सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए। अमित शाह ने कहा कि सिद्धारमैया सरकार आजाद भारत की सबसे विफल सरकार है। कर्नाटक में किसानों ने मजबूरी में आत्महत्याएं की है।


जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.