ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

भाजपा को ७ सौ करोड़ से ज्यादा तो कांग्रेस को १९८ करोड़ चंदा मिला

नई दिल्ली

१८ अगस्त २०१७

निर्वाचन निगरानी समूह 'एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने गुरुवार को जारी अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया है कि वित्त वर्ष 2012-13 से 2015-16 के बीच चार वर्षो में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 705 करोड़ रुपये का जबकि कांग्रेस को 198 करोड़ रुपये का कॉर्पोरेट चंदा मिला है। एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, इन चार वर्षो के दौरान कॉर्पोरेट एवं व्यापारिक घरानों ने पांच राष्ट्रीय पार्टियों को कुल 956.77 करोड़ रुपये का चंदा दिया। भाजपा ने सत्या इलेक्टोरल ट्रस्ट से 193.62 करोड़ रुपये का चंदा मिलने की घोषणा की है, जबकि कांग्रेस ने 57.25 करोड़ रुपये और राकांपा ने 10 करोड़ रुपये चंदा मिलने की घोषणा की है।


भारत सरकार द्वारा 2013 में शुरू की गई इलेक्टोरल ट्रस्ट योजना के बाद स्थापित हुई जनरल इलेक्टोरल ट्रस्ट इस अवधि में सर्वाधिक चंदा देने के मामले में दूसरे नंबर पर है। जनरल इलेक्टोरल ट्रस्ट ने इस दौरान भाजपा को 70.70 करोड़ रुपये और कांग्रेस को 54.10 करोड़ रुपये का चंदा दिया। वहीं माकपा और भाकपा को सर्वाधिक चंदा देने वालों में एसोसिएशन और यूनियन सबसे ऊपर हैं। माकपा को विभिन्न एसोसिएशनों से इस अवधि में 1.09 करोड़ रुपये मिले, जबकि भाकपा को 15 एसोसिएशन एवं यूनियन से 14.64 करोड़ रुपये का चंदा मिला। वित्त वर्ष 2012-13 में राष्ट्रीय दलों को चंदा देने वालों में रियल एस्टेट सेक्टर सबसे ऊपर रहा और इस वित्त वर्ष में रियल एस्टेट सेक्टर से सभी दलों को कुल 16.95 करोड़ रुपये का चंदा मिला। इसमें भी भाजपा सर्वाधिक चंदा पाने वालों में सबसे ऊपर रही। भाजपा को वित्त वर्ष 2012-13 में रियल एस्टेट सेक्टर से कुल 15.96 करोड़ रुपये का जबकि कांग्रेस को 95 लाख रुपये का चंदा मिला। इस मामले में कांग्रेस 198.16 करोड़ रुपयों के साथ दूसरे स्थान पर तो है, लेकिन शीर्ष पर मौजूद भाजपा की अपेक्षा बहुत कम है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) और मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) को सबसे कम कॉर्पोरेट चंदा मिला है, जो क्रमश: चार फीसदी और 17 फीसदी है। एडीआर की इस रिपोर्ट में भाजपा, कांग्रेस, भाकपा, माकपा और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) को राष्ट्रीय पार्टी माना गया है।

मायावती की बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिला हुआ है, लेकिन एडीआर की रिपोर्ट में बसपा को शामिल नहीं किया गया है। एडीआर का कहना है कि बसपा को इसलिए शामिल नहीं किया गया है, क्योंकि पार्टी ने खुद घोषणा कर रखी है कि उसे इस अवधि में किसी भी दानदाता से 20,000 रुपये से अधिक का चंदा नहीं मिला है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि देश की इन पांच राष्ट्रीय पार्टियों को 1,933 ऐसे दानदाताओं से कुल 384.04 करोड़ रुपये का चंदा मिला है, जिन्होंने चंदे के फॉर्म में पैन नंबर का उल्लेख नहीं किया है। इसके अलावा इन पार्टियों को कुल 355.08 करोड़ रुपये का चंदा देने वाले 1,546 दानदाताओं ने अपने पतों का भी उल्लेख नहीं किया है। मजेदार बात यह है कि बिना पैन नंबर और बिना पते वाले इस तरह के कुल चंदों की राशि का 99 फीसदी (159.59 करोड़ रुपया) भाजपा को मिला है।


संयोग की बात यह भी है कि इन दलों को इस अवधि में मिले चंदे की कुल राशि का 60 फीसदी अकेले वित्त वर्ष 2014-15 में मिले, जब देश में लोकसभा चुनाव हुए थे। एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, राजनीतिक दलों को इस अवधि में सर्वाधिक चंदा देने वालों में 260.87 करोड़ रुपये के साथ सत्या इलेक्टोरल ट्रस्ट सबसे ऊपर रहा। सत्या इलेक्टोरल ट्रस्ट ने 2012-13 वित्त वर्ष में कोई चंदा नहीं दिया था और अगले तीन वर्षो में उसने कुल 35 लेनदेन कर सर्वाधिक राशि चंदे में दी।




जरा ठहरें...
कर्नाटक पर सर्वोच्च न्यायालय का बड़ा फैसला, फैसला अब अध्यक्ष लेंगे
सत्र के दौरान गैरहाजिर रहने वाले सांसदों और मंत्रियों की प्रधानमंत्री नें मांगी सूची
मौसम विभाग ने इन राज्यों में भारी बारिश की भविष्यवाणी की
कर्नाटक: मंगलवार तक फैसला लें विधानसभा अध्यक्ष – सर्वोच्च न्यायालय
प्रधानमंत्री ने कहा सांसद अपने क्षेत्र में पद यात्रा करें
राजधानी के लोगों पर मंडराया ओजोन का जानलेवा खतरा
देश का आम बजट पेश हुआ, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला आम बजट!
योगी सरकार ने ६०० भ्रष्ट अधिकारियों पर की कड़ी कार्रवाई, २ सौ की मांगी सूची
किसी का भी बेटा हो ऐसी हरकत बर्दाश्त नहीं की जाएगी - प्रधानमंत्री मोदी
सुशील शिंदे हो सकते हैं कांग्रेस के नए अध्यक्ष
अमेरिका को दो टूक, एस-400 पर नहीं झुकेगा भारत...!
हमने अपना लक्ष्य नहीं बदला है, हमें आगे बढ़ना है - प्रधानमंत्री
ब्लॉक के कारण कई दर्जन रेलगाड़ियां उ.रे. ने रद्द की!
योग दिवस: प्रधानमंत्री ने रांची में किया योगभ्यास, बोले वेलनेस पर होना चाहिए ध्यान
२१ जून योग दिवस: प्रधानमंत्री सहित शीर्ष मंत्री देश के इन हिस्सों में करेंगे योगा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शीर्ष स्तर के १५ अधिकारियों को किया बर्खास्त
जेपी नड्डा भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष बने
सबका साथ सबका विकास का लक्ष्य पूरा करे नीति आयोग - प्रधानमंत्री
केंद्रीय मंत्री की मौजूदगी में वंदेभारत में परोसा गया सड़ा चावल, मामले में कार्रवाई का आश्वासन
पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की तैयारी में केंद्र सरकार...?
प्रधानमंत्री मोदी का मालदीव में भव्य स्वागत, और सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित
आठ कैबिनेट समितियों का गठन, सभी में अमित शाह शामिल
देश के नए गृहमंत्री के सामने चुनौतियां और प्राथमिकताएं....?
"सरकार बनते ही ये फैसले तेजी से ले सकती है नई मोदी सरकार"
'नायडू' के सपनों का कुनबा हुआ ध्वस्त...?
हर साल रेलवे में यात्रा के दौरान १७ हजार चोरियां...!
उपयोगी ख़बर: मोबाइल कनेक्शन की तरह अब बदले जा सकेंगे DTH कनेक्शन
आईआरसीटीसी से टिकट बुक कराने के लिए आधार अनिवार्य...?
सरकार बनते ही धारा 370 खत्म कर देंगे - शाह
योगी के उ.प्र. में पत्रकार की जमीन कब्जा करने वाले दंबगों की अंजाम भुगतने की धमकी
मुख्यमंत्री योगी ने भी नहीं सुनी एक पत्रकार की फरियाद, दबंगों का हो गया कब्जा
उ.प्र. में योगी राज में पत्रकार के घर पर गुंडों और दबंगों का कब्जा!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.