ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

उत्तर-प्रदेश

कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के कर्मचारियों का मानदेय न्याय संगत किया जाए - एसोसिएशन

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

१० मई २०१९

लखनऊ और नई दिल्ली से एक साथ

उ.प्र. कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय शिक्षक शिक्षणेत्तर वेयफेयर एसोसिएशन ने सरकार से मांग की है कि कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में कार्यरत कर्मचारियो के मानदेय वृद्धि के प्रस्ताव में जो अनियमितता है उसका तुरंत निराकरण किया जाए। इस बारे में एसोशिएसन की प्रदेश अध्यक्ष रितु गुप्ता ने थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ को बताया है कि एक ज्ञापन राज्य परियोजना निदेशक, सर्व शिक्षा अभियान विद्या भवन निशातगंज लखनऊ को दिया गया है।


एसोसिएशन समय समय पर अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करता रहा है। संग्रहित तस्वीर। प्रतीकात्मक उपयोग के लिए।

इसमें जिन मुद्दों की तरफ परियोजना का ध्यान खींचा गया है उसमें विद्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि के लिए राज्य परियोजना कार्यालय द्वारा जो न्यूनतम मजदूरी के लिए कॉस्ट शीट तैयार की जा रही है उसमें न्यूनतम मजदूरी से कम मानदेय निर्धारित किया जा रहा है उस पर ध्यान खींचा गया है। तथा समस्या को हल करने की मांग एसोसिएशन की तरफ से की जा रही है। साथ ही सरकार को दिए गए ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि वार्डन, फुल टाइम्स टीचर, अंशकालिक शिक्षक, ऊर्दू शिक्षक, लेखाकार, चपरासी, चौकीदार, रसोईयां तथा सहायक रसोईयां, के मानदेय में वृद्धि जो दर्शायी गयी है, उसमें यदि 25 फीसदी पीएफ की कटौती कर दी जाएगी तो वर्तमान में मिलने वाला मानदेय और कम हो जाएगा। जिससे गुजारा करना कर्मचारियों के लिए और मुश्किल हो जाएगा। एसोसिएशन ने सरकार से मांग की है कि मानदेय में वृद्धि के उपरांत ईपीएफ का अंशदान अलग से किया जाए। साथ ही वार्डेन, फुलटाइम्स टीचर एवं अन्य सभी को ईपीएफ की सुविधा का लाभ दिया जाना चाहिए।

एसोसिएशन ने कहा है कि न्यूनतम मजदूरी का सिद्धांत यह है कि सभी कर्मचारियों को समान कार्य के बदले समान वेतन मिलना चाहिए। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो यह सामाजिक न्याय के विपरीत होगा। जिन और प्रमुख मांगों को एसोसिएशन ने मुद्दा बनाया है और जिनके हल की उम्मीद सरकार से की है उसमें –
1- सभी कर्मचारियों को समान कार्य के बदले समान वेतन दिया जाए।
2- सभी कर्मचारियों को ईपीएफ का लाभ दिया जाए।
3- 24 घंटे की कार्य वाध्यता समाप्त की जाए।
4- विद्यालय के उच्चीकरण किए जाने पर इन्हीं शिक्षकों को सहायक अध्यापक बनाया जाय, क्योंकि सभी वर्तमान अध्यापक सभी आवश्यक शैक्षिक योग्यताओं को पूरी तरह से पूरी करते हैं।


एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष रितु गुप्ता ने थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ से यह भी कहा कि कस्तूरबा आवासीय विद्यालय में भी सभी तरह की सरकारी छुट्टियां, साप्ताहिक अवकाश, चिकित्सकीय अवकाश, अर्नलीव्स दी जानी चाहिए। अभी सिर्फ कैज्युअल्स लीव्स दी जाती है। और महीने में दो साप्ताहिक अवकाश जिसे रोटेशन कहते हैं कि सुविधा प्रदान की जाती है जो न्यायसंगत नहीं है। उन्होंने कुछ विद्यालयों में डीसी द्वारा मनमानापन किए जाने और परेशान किए जाने घटना को संज्ञान में होने की बात कही और कहा कि इस मुद्दे को भी एसोसिएशन गंभीरता से ले रहा है।



जरा ठहरें...
रेप पीड़िता को आरोपी ने साथियों के साथ केरोसिन छिड़क जिंदा जलाया
आयोध्या पर सर्वोच्च फैसला: सत्यमेव जयते...!
अयोध्या पर फैसले से पहले शीर्ष न्यायाधीश ने उ.प्र. के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की
उत्तर प्रदेश से तंग आ चुके हैं, जंगलराज है वहां - सर्वोच्च न्यायालय
उन्नाव कांड: सर्वोच्च न्यायालय को ‘योगी’ और उ.प्र. ‘पुलिस’ पर भरोशा नहीं, मामला दिल्ली स्थांनातरित
विश्व की सबसे ऊंची और भव्य प्रतिमा होगी भगवान राम की
अचानक शाह से मिले मुख्यमंत्री योगी, सत्र के बाद मंत्रिमंडल में होगा फेरबदल!
नीति आयोग आठ जिलों की तरह हर जिले का कायाकल्प की योजना बनाएं – योगी आदित्यनाथ
किसानों की उन्नत किस्म की फसल को एक्सपोर्ट करने की सुविधा देगी सरकार - योगी
थानेदार और अन्य पुलिस कर्मियों को जेल भेजने के आदेश
मुख्यमंत्री योगी का 600 भ्रष्ट अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई...!
जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायतों का निवारण न करने वाले अधिकारियों पर डीएम की कड़ी कार्रवाई
उ.रे. ने फैजाबाद में इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सिस्टम की स्थापना की
जिलाधिकारी शाही ने कोतवाली पट्टी का किया अचानक निरीक्षण, कोतवाली में गंदगी की भरमार!
उ. प्र. का प्रतापगढ़ जिला अपराधियों का बना अड्डा...!
भाजपा नेता सुरेंद्र सिंह की हत्या, कंधा देने पहुंची स्मृति ईरानी...!
योगी के उ.प्र. में पत्रकार की जमीन कब्जा करने वाले दंबगों की अंजाम भुगतने की धमकी
उ.प्र. में योगी राज में पत्रकार के घर पर गुंडों और दबंगों का कब्जा!
अखिलेश राज में ९७ हजार करोड़ कहां खर्च हुए कोई हिसाब ही नहीं!
मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर हो रहा हवा-हवाई साबित, शिकायत कर्ता को नहीं मिलती उचित सहायता!
एमनेस्टी इंटरनेशनल ने उन्नाव बलात्कार कांड और हत्या को बर्बर कार्रवाई बताया!
गांवों का विकास का पैसा ग्राम प्रधान और अधिकारी डकार रहे हैं!
‘उ.प्र. में स्वच्छ भारत की बुनियाद महज दो इंच पर टिकी’!
प्रतापगढ़ से चलने वाली पदमावत एक्सप्रेस रेल गाड़ी बूचड़खाना बनी!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.