ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

उत्तर-प्रदेश

भाजपा नेता सुरेंद्र सिंह की हत्या, कंधा देने पहुंची स्मृति ईरानी...!

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

लखनऊ

26 मई 2019

लोकसभा के चुनाव संपन्न हो गये। नईं सरकार की गठन की तैयारियां शुरू होते ही यूपी में हत्या की एक ऐसी वारदात हुईं है जिसने कई सवाल पैदा कर दिए। इस चुनाव में यूपी की अमेठी सीट पर पुरे देश की नजर थी। काँग्रेस के अध्यक्ष राहुल गाँधी के सामने फिर एक बार भाजपा ने स्मृति ईरानी को टिकट दी और जैसा की राजनीति में रे अटकले थी की राहुल इस बार अमेठी से जीत नहीं पाएंगें और परिणाम भी कुछ वैसा ही आया अमेठी ने एक नया इतिहास रचा तो नतीजे के बाद घटी एक घटना ने भी अमेठी में सब को ये सोचने पर मजबूर का दिया की क्या यूपी में फिर एक बार राजनितिक रंजिश में हत्याकांड का दौर शरू हो गया है…? स्मृति के राहुल के सामने जिताने में जिसकी अहम भूमिका रही वह भाजपा के बरोलिया के पूर्व प्रधान सुरेन्द्रसिंह की गोली मार कर हत्या कर दी गई। अभी तो स्मृति ने बतौर सांसद का शपथ भी नहीं लिया और उन्हें गांब बरोलिया में जाकर अपने करीबी की अर्थी को कंधा देना पड़ा और उसके हत्यारे चाहे जहा भी हो उसे पाताल से भी ढूढ़ कर फांसी पर लटकाने की शपथ लेनी पड़ी।


मृतक भाजपा के नेता के परिवार ने रोते रोते कहा की दीदी यानि स्मृति को जिताने की जीद ने उनकी जान ले ली। वजह चाहे जो भी हो लेकिन ये कोई छोटीमोटी घटना नहीं। यूपी बिहार में एक समय था की चुनाव में रंजिश के चलते हिंसा और हत्याए होती थी। बूथ केपचरिंग का तो मानो कारोबार चलता था। लेकिन समय के साथ ये सब कम होते गये लेकिन अमेठी के नये चुने गये सांसद स्मृति के काफी करीबी की हत्या ने राजनितिक पंडितो को ये सोचने पर मजबूर किया की क्या फिर से चुनावी रंजिशो का और हत्याओं का दौर शुरू हो गया…? और यदि इसका जवाब हां है तो इसके लिए आखिर किसे जिम्मेवार ठहरायेंगे….? नेताओं के बिगड़े बोल…? कुछ भी हो जाय बस जितना है….एक नया इतिहास बनाना है…की खेवना…? पूर्व प्रधान सुरेन्द्रसिंह अब इस दुनिया में नहीं लेकिन उनकी मौत ने यूपी में योगी सरकार के सामने भी कई सवाल खड़े कर दियें है।

वर्तमान लोकसभा चुनाव में यूपी के सीएम योगीजी अन्य राज्यों में जाकर यूपी के कानून व्यवस्था की भूरी भूरी प्रशसा करते नहीं थकते थे। विशेषकर गैर भाजपाई राज्यों में जाकर उस दल की खिली उड़ाते थे लेकिन इस हत्या ने शायद योगीजी को भी सोचना पड़ेंगा की आगे चलकर ऐसी कोई हत्याये न हो। स्मृति ने जो शपथ ली है उसे देखते हुए वे इस घटना के पीछे जो कोई भी दल या नेता या कोई आपसी रंजिश वाला हो उसे बेनकाब करे। उनके करीबी जिसने उन्हें अमेठी में जिताने में अपने जान की बाजी लगा दी उनके हत्यारों को फांसी के फंदे तक पहुचाने में कोई कसर बाकी न रखे। ऐसा न हो की केंद्र में मंत्री बनने के बाद वे सुरेन्द्रसिंह की शपथ भूल न जाए। उनकी ये शपथ राम मंदिर जैसी शपथ न रहते हुए उनके परिवार को हर तरह की मदद करे।


ताकि चुनाव में वीवीआईपी प्रत्याशी को जिताने के लिए स्थानीय कार्यकर्ताओं में ये मेसेज जाए की ऐसी घटना के बाद कम से कम उनके परिवार की खैर खबर लेनेवाला कोई तो है। यूपी सरकार भी पूर्व प्रधान की हत्या की जांच जल्द से जल्द करवाएं और आखिर इस हत्या के पीछे की असली वजह क्या है वह सार्वजनिक करे। वरना होंगा यह की फिर चुनाव में कोई स्थानीय कार्यकर्ताओं vvip प्रत्याशी के लिए दिल से काम क्यों करेंगे….?



जरा ठहरें...
कानपुर में प्रधानमंत्री, फतेहपुर में महिला के साथ दुष्कर्म के बाद जिंदा जलाया!
रेप पीड़िता को आरोपी ने साथियों के साथ केरोसिन छिड़क जिंदा जलाया
आयोध्या पर सर्वोच्च फैसला: सत्यमेव जयते...!
अयोध्या पर फैसले से पहले शीर्ष न्यायाधीश ने उ.प्र. के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की
उत्तर प्रदेश से तंग आ चुके हैं, जंगलराज है वहां - सर्वोच्च न्यायालय
उन्नाव कांड: सर्वोच्च न्यायालय को ‘योगी’ और उ.प्र. ‘पुलिस’ पर भरोशा नहीं, मामला दिल्ली स्थांनातरित
विश्व की सबसे ऊंची और भव्य प्रतिमा होगी भगवान राम की
अचानक शाह से मिले मुख्यमंत्री योगी, सत्र के बाद मंत्रिमंडल में होगा फेरबदल!
नीति आयोग आठ जिलों की तरह हर जिले का कायाकल्प की योजना बनाएं – योगी आदित्यनाथ
किसानों की उन्नत किस्म की फसल को एक्सपोर्ट करने की सुविधा देगी सरकार - योगी
थानेदार और अन्य पुलिस कर्मियों को जेल भेजने के आदेश
मुख्यमंत्री योगी का 600 भ्रष्ट अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई...!
जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायतों का निवारण न करने वाले अधिकारियों पर डीएम की कड़ी कार्रवाई
उ.रे. ने फैजाबाद में इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सिस्टम की स्थापना की
जिलाधिकारी शाही ने कोतवाली पट्टी का किया अचानक निरीक्षण, कोतवाली में गंदगी की भरमार!
उ. प्र. का प्रतापगढ़ जिला अपराधियों का बना अड्डा...!
कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के कर्मचारियों का मानदेय न्याय संगत किया जाए - एसोसिएशन
योगी के उ.प्र. में पत्रकार की जमीन कब्जा करने वाले दंबगों की अंजाम भुगतने की धमकी
उ.प्र. में योगी राज में पत्रकार के घर पर गुंडों और दबंगों का कब्जा!
अखिलेश राज में ९७ हजार करोड़ कहां खर्च हुए कोई हिसाब ही नहीं!
मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर हो रहा हवा-हवाई साबित, शिकायत कर्ता को नहीं मिलती उचित सहायता!
एमनेस्टी इंटरनेशनल ने उन्नाव बलात्कार कांड और हत्या को बर्बर कार्रवाई बताया!
गांवों का विकास का पैसा ग्राम प्रधान और अधिकारी डकार रहे हैं!
‘उ.प्र. में स्वच्छ भारत की बुनियाद महज दो इंच पर टिकी’!
प्रतापगढ़ से चलने वाली पदमावत एक्सप्रेस रेल गाड़ी बूचड़खाना बनी!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.