ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

एक साल में घरेलू बाजार में तेल की कीमत 28 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ी!

नई दिल्ली

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में लगातार तेजी रहने से घरेलू वायदा बाजार में तेल का भाव पिछले एक साल में करीब 28 फीसदी बढ़ा है जबकि पिछले तीन साल में देखें तो लोकल कमोडिटी एक्सचेंज पर कच्चे तेल के दाम में 32 फीसदी से ज्यादा का इजाफा हुआ है। कच्चे तेल में आई हालिया तेजी भू-राजनीतिक तनाव से प्रेरित है। अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस की तरफ से सीरिया में सैन्य कार्रवाई शुरू करने से खाड़ी देशों का संकट गहरा गया है जिससे पिछले हफ्ते कच्चे तेल का भाव पिछले करीब 40 महीने के ऊपरी स्तर पर चला गया।


एक साल पहले 13 अप्रैल 2017 को कच्चे तेल का अप्रैल एक्सपायरी वायदा 3,442 उछलने के बाद 3,420 रुपये प्रति बैरल पर बंद हुंआ था। तीन साल पहले के स्तर से तुलना करें तो एमसीएक्स पर कच्चे तेल का अप्रैल वायदा 13 अप्रैल को तीन साल पहले के मुकाबले 1084 रुपये प्रति बैरल या करीब साढ़े 32 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई। तीन साल पहले 13 अप्रैल 2015 को कच्चे तेल का अप्रैल एक्सपायरी वायदा 3,319 उछलने के बाद 3,273 रुपये प्रति बैरल पर बंद हुंआ था। हालांकि सोमवार को थोड़ी नरमी थी मगर भाव अभी तक करीब तीन साल से अधिक के ऊपरी स्तर पर बना हुआ है। अमेरिकी क्रूड 0.86 फीसदी फिसलकर 66.81 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था और लंदन ब्रेंट क्रूड 0.73 फीसदी की गिरावट के साथ 71.85 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था। केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर विजय केडिया भू.राजनीतिक दबाव को ही कच्चे तेल के दाम में तेजी का प्रमुख कारण मानते हैं। उन्होंने कहा कि निस्संदेह सीरिया और यमन का संकट तेल के भाव में उछाल आने का कारण है, मगर ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर पश्चिम की टेढ़ी नजर, ओपेक देशों द्वारा उत्पादन में कटौती से भी तेल बाजार में तेजी का रुख रहा है। उनके मुताबिक, अमेरिका में शेल से तेल के उत्पादन में बढ़ोतरी से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव पर लंबी अवधि में दबाव रह सकता है।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में न्यूयार्क मर्के टाइल एक्सचेंज पर अमेरिकी कच्चा तेल यानी डब्ल्यूटीआई के मई एक्सपारी वायदे का भाव पिछले हफ्ते 67 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर बंद हुआ। वहीं, बेंट्र क्रूड लंदन में आईसीई पर साढ़े 72 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर के भाव पर बंद हुआ। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर कच्चे तेल का अप्रैल वायदा पिछले हफ्ते के अंतिम कारोबारी सप्ताह 4403 रुपये प्रति बैरल की ऊंचाई छूने के बाद तकरीबन गत कारोबारी सत्र के मुकाबले एक फीसदी की बढ़त के साथ 4,362 रुपये प्रति बैरल पर बंद हुआ। जबकि एक साल पहले की तुलना में एमसीएक्स पर कच्चे तेल का अप्रैल वायदा 13 अप्रैल यानी पिछले हफ्ते के अंतिम कारोबारी सप्ताह को एक साल पहले के मुकाबले 961 रुपये प्रति बैरल या करीब 28 फीसदी की बढ़त के साथ 4403 रुपये प्रति बैरल की ऊंचाई छूने के बाद 942 रुपये यानी साढ़े 27 फीसदी की बढ़त के साथ 4,362 रुपये प्रति बैरल पर बंद हुआ। 16 अप्रैल 2018।





जरा ठहरें...
जोसेफ को न्यायाधीश बनाने से सरकार का फिर इंकार!
आसाराम के साथ प्रधानमंत्री सहित कई भाजपा नेताओं के वीडियो सामने आए!
संसद भी कास्टिंग काऊच अछूती नहीं - रेणुका चौधरी
राहुल बोले: मोदी सिर्फ मोदी के लिए काम कर रहा है
१२ साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म पर मौत की सजा का प्रावधान
मोदीराज में पिछले चार साल में पेट्रोलियम पदार्थों के दाम उच्च स्तर पर!
जस्टिस लोया की जांच नहीं - सर्वोच्च न्यायालय
महिला पत्रकार की गाल छूकर बुरे फंसे राज्यपाल महोदय!
चीन और भारत के संबंधों को सुधारने को लेकर विदेशी मंत्री जाएंगी चीन
आखिरकार आरोपी भाजपा विधायक को सीबीआई ने किया गिरफ्तार!
वाह रे योगी राज! और उनके बेशर्म अधिकारी!
भाजपा हिंदुस्तान की सबसे अमीर पार्टी बनी, तो कांग्रेस की आय घटी!
एनडीए से अलग होंगे, नीतिश, पासवान और कुशवाहा?
वाह रे योगी का जनता दरबार: फरियादी युवक को, योगी ने डांटकर भगाया!
पेट्रोल और डीजल के दाम पांच साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचा!
मजदूरों के लिए स्वर्ग बनता केरल! देश का एक मात्र राज्य जिसने मजदूरों को पलकों पर बैठाया!
कर्नाटक विधानसभा चुनाओं की घोषणा, १२ को मतदान और 15 नतीजे
पांच साल में सांसदों के खाने पर ७५ करोड़ की छूट दी गयी
केजरीवाल और उनके २० विधायकों को उच्च न्यायालय से बहुत बड़ी राहत!
त्यागी बोले बेटा 40 साल का है, जेडीयू से कोई लेना देना नहीं
भारत का जीएसटी सबसे जटिल और सबसे ऊंचा टैक्स वाला है - विश्व बैंक
गोरखपुर और फूलपुर के नतीजों ने भाजपा को दिखाई उसकी औकात!
ये लो अब 32 सौ करोड़ का टीडीएस घोटाला!
जीआरपी को रेलवे की सेवा से मुक्त किया जाए – उमाशंकर झा, आरपीएफ एसो.
राहुल का मोदी पर हमला, बोले प्रधानमंत्री बताएं कैसे हुआ पीएनबी घोटाला!
रेलवे के 182 नंबर का गलत इस्तेमाल करने वालों से रेलवे कर्मी परेशान!
दिल्ली शहर के स्टेशन कब तक विश्वस्तरीय बनेंगे पता नहीं – विश्वेश चौबे, महाप्रबंधक उत्तर रेलवे
2017 की कुल संपत्ति का 73 प्रतिशत हिस्सा एक प्रतिशत अमीरों के पास पहुंचा’
पांच साल में भाजपा ने 80 हजार करोड़ इक्ट्ठा की - अन्ना
एक साल में सुरक्षा बलों के 383 जवान शहीद हुए - आईबी
भाजपा को ७ सौ करोड़ से ज्यादा तो कांग्रेस को १९८ करोड़ चंदा मिला
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.