ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख

महबूबा के देश विरोधी बोल, तिरंगा न उठाने की कसम

23 अक्टूबर 2020

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती की रिहाई के साथ ही घाटी में ठंडी पड़ी सियासी गतिविधियां अब आने वाले दिनों में तेज होती नजर आएंगी। अपनी 14 महीने की हिरासत के बाद आज पहली बार पत्रकारों के समक्ष रूबरू हुई महबूबा मुफ्ती के बयानों ने यह स्पष्ट कर दिया कि उनकी पार्टी जम्मू-कश्मीर को वहीं दर्जा वापस दिलाने में जमीन-आसमान एक कर देगी। उन्होंने कहा कि भाजपा ने जिस तरह पिछले साल जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया है वह हमारे लोगों के साथ डकैती से कम नहीं है। उनका यह कदम गैरकानूनी और असंवैधानिक था।


केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि भारत जम्मू-कश्मीर की भूमि चाहता है न कि उसके लोग। अपने आवास पर बुलाई गई इस पत्रकारवार्ता में महबूबा मुफ्ती ने कहा कि वह अनुच्छेद 370 फिर से लागू होने तक कोई झंडा नहीं उठाएगी। देश के ध्वज (तिरंगे) के साथ हमारा संबंध इस ध्वज (जम्मू-कश्मीर के ध्वज) की वजह से है। जब हमारा झंडा हमारे हाथ में आएगा, हम उस झंडे को भी उठाएंगे। उन्होंने पत्रकार सम्मेलन के दौरान भी अपने टेबल पर जम्मू-कश्मीर के झंडे के साथ पार्टी का झंडा ही रखा हुआ था। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के झंडे की तरफ इशारा करते हुए कहा कि जब तक मेरा झंडा हमारे पास वापस नहीं आ जाता है। कोई भी दूसरा झंडा (तिरंगा) नहीं उठाएगा, मेरा झंडा उठने के बाद ही दूसरा झंडा उठाएंगे। मेरा झंडा मेरे सामने है।
चुनावी सियासत से दूर रहने का एलान: महबूबा ने अनुच्छेद 370 की पुनाबहाली का यकीन दिलात हुए कहाकि जिन्होंने हमसे हमारा हक छीना है, उन्हें हमारा हक लौटाना है। मैं अपने लोगों को जम्मू-कश्मीर की अवाम को इसका यकीन दिलाती हूं। महबूबा मुफ्ती ने इस दौरान चुनावी सियासत से दूर रहने का एलान करते हुए कहा कि जब तक हमें हमारा संविधान और झंडा नहीं लौटाया जाएगा, हम किसी भी चुनाव में हिस्सा नहीं लेंगे। उन्होंने कहा कि कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए हजारों लोगों ने अपनी जान दे दी है, अब राजनीतिक नेताओं के लिए भी समय है।" अनुच्छेद 35A और 370 की बहाली की लड़ाई किसी पार्टी की लड़ाई नहीं है, बल्कि जम्मू कश्मीर के लोगों की लड़ाई है। "लोगों को भी हमारा समर्थन करना चाहिए।"

भाजपा हर मोर्चे पर नाकाम हो चुकी है: महबूबा मुफ्ती ने इस दौरान बिहार चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अनुच्छेद 370 का मुद्दा उछाले जाने पर कहा कि बिहार में वोट हासिल करने के लिए उनके पास दिखाने को कुछ नहीं है। वहां वहां के लोगों को कह रहे हैं कि हमने अनुच्छेद 370 रद कर दिया है अब आप जम्मू-कश्मीर में जमीन खरीद सकते हैं। लोगों को पेश आ रहे मुद्दों का वह जिक्र नहीं कर रहे हैं। केंद्र सरकार गरीबी उन्मूलन, बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था और विकास से जुड़े मुद्दाें पर नाकाम हाे चुकी है। लोगों को दिखाने के लिए कुछ नहीं है, इसलिए वहां भी अनुच्छेद 370 के नाम पर मूर्ख बनाने का प्रयास किया जा रहा है।


भाजपा से गठजोड़ हमारी सबसे बड़ी भूल: महबूबा ने पत्रकारों के समक्ष एक बार फिर अपने गठबंधन का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा से हाथ मिलाना उनकी सबसे बड़ी गलती थी। भाजपा के साथ अपने गठबंधन के फैसले पर महबूबा ने कहा कि उन्होंने जिन्न को एक बोतल में डालने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुए। "स्वर्गीय मुफ्ती मोहम्मद सईद को पता था कि दक्षिणपंथियों का तूफान आ रहा है, उन्होंने उनसे हाथ मिलाने की कोशिश की और जम्मू-कश्मीर को चलाने के बारे में कहा।"



जरा ठहरें...
आतंकियो ने सुरंग के जरिए नगरोटा पहुंचे?
जम्मू - कश्मीर: देश के दूसरे हिस्से के लोग अब खरीद सकेंगे जमीन
अब्दुल्ला की देश की प्रति गद्दारी, दिया राष्ट्रविरोधी बयान
पुलवामा मुठभेड़ में लश्कर के 2 आतंकी ढेर, 1 जवान घायल
उधमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लिंक समय से पूरा हो – मनोज सिन्हा
सिविल सेवा का टॉपर राजनीति छोड़ फिर प्रशासनिक सेवा में लौटने की तैयारी में…!
पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा बने जम्मू कश्मीर के नए उपराज्यपाल
लद्दाख में चीन ने पीछे किए अपने कदम...!
लेह में प्रधानमंत्री ने भरी हुंकार, लेह भारत का मस्तक...!
जाना था रक्षामंत्री को, लेकिन अचानक लद्दाख के अग्रिम मोर्चे पर पहुंचे प्रधानमंत्री
चीन को जवाब देने के लिए वायुसेना ने शुरू की आपात हवाई पट्टी का निर्माण
जम्मू-कश्मीर: आज से इतिहास और भूगोल दोनों बदल गए
कुलगाम में बड़ा आतंकी हमला, पांच मजदूरों की आतंकियों ने निर्मम हत्या की!
कश्मीर घाटी में सोमवार से सभी पोस्टपेड मोबाइल फोन चालू
अभूतपूर्व मोदी सरकार: जम्मू कश्मीर पुनर्गठन विधेयक राज्यसभा से पास!
आज के इस ऐतिहासिक फैसले को हमने साल भर पहले ही ब्रेक कर दी थी..!
जम्मू कश्मीर को तीन हिस्सों में बांटने की सरकार की तैयारी...?
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.