ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

खेल-खिलाड़ी

सफेद जर्सी से धोनी का संयास!

३१ दिसंबर २०१४

भारत के सफलतम कप्तानों में से एक 'कैप्टन कूल' महेंद्र सिंह धौनी ने मंगलवार को मेलबर्न क्रिकेट मैदान (एमसीजी) पर आस्ट्रेलिया के साथ ड्रॉ हुए तीसरे टेस्ट मैच के बाद टेस्ट प्रारूप से संन्यास लेने की घोषणा कर पूरे क्रिकेट जगत को हैरत में डाल दिया। उनकी जगह अब विराट कोहली को सिडनी में खेले जाने वाले चौथे टेस्ट मैच के लिए टीम की कमान सौंपी गई है। मैच के बाद हुए संवाददाता सम्मेलन के करीब 45 मिनट बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने धौनी के संन्यास की घोषणा की। इससे पहले प्रेस वार्ता में धौनी काफी खुश दिखे और अगले मैच का कोई जिक्र नहीं किया। क्रिकेट प्रशंसकों और विशेषज्ञों के लिए सबसे हैरानी वाली बात धौनी का बीच श्रृंखला से हटना है।


मेलबर्न में ड्रॉ पर समाप्त हुए मैच के बाद आस्ट्रेलिया चार मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अपराजेय बढ़त बना ली है। एडिलेड और ब्रिस्बेन में भारत को हार का सामना करना पड़ा। श्रृंखला का चौथा और आखिरी टेस्ट सिडनी में छह जनवरी से शुरू होना है, जिसमें कोहली भारतीय टीम की कमान संभालेंगे। कोहली इससे पहले एडिलेड में हुए पहले टेस्ट में भारत की कप्तानी कर चुके हैं। बीसीसीआई के सचिव संजय पटेल ने एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि बोर्ड धौनी के फैसले का सम्मान करता है और भारतीय टेस्ट क्रिकेट में अहम योगदान के लिए उनका आभार व्यक्त करता है। बीसीसीआई के अनुसार, "धौनी ने टेस्ट क्रिकेट से तत्काल संन्यास लेने का फैसला किया है। वह अब टी-20 और एकदिवसीय प्रारूप पर ज्यादा ध्यान देना चाहते हैं।" बीसीसीआई ने कहा, "हम धौनी के फैसले का सम्मान करते हैं और भारतीय टेस्ट क्रिकेट मेंबहुमूल्य योगदान देने के लिए उनका आभार व्यक्त करते हैं।" गौरतलब है कि धौनी ने भारत के लिए 90 टेस्ट खेलते हुए 4,876 रन बनाए। धौनी ने 60 मैचों में भारतीय टीम का नेतृत्व किया और बतौर भारतीय कप्तान सबसे ज्यादा 27 जीत हासिल की।

उनकी कप्तानी में भारतीय टीम टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने में कामयाब रही। विदेशी पिचों पर हालांकि बतौर कप्तान धौनी का प्रदर्शन बहुच अच्छा नहीं रहा। विदेशों में खेले 30 टेस्ट में धौनी के नेतृत्व में भारतीय टीम को केवल छह जीत मिली जबकि 15 में उसे हार का सामना करना पड़ा। इंग्लैंड में 2011 में भारत को 0-4 से हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद आस्ट्रेलिया (2011-12) में भी टीम इंडिया को हार का मुंह देखना पड़ा। इंग्लैंड ने 28 साल बाद भारतीय जमीन पर 2012-13 में टेस्ट श्रृंखला जीत धौनी की मुश्किलें और बढ़ा दीं। अपनी ही जमीन पर भारत आठ वर्षो में पहली बार कोई टेस्ट सीरीज हारा था।


धौनी के टेस्ट से संन्यास की घोषणा के बाद कई पूर्व खिलाड़ियों जैसे सचिन तेंदुलकर और आस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग ने उनके लिए सम्मान व्यक्त किया है। तेंदुलकर ने धौनी को उनके शानदार करियर के लिए बधाई दी और साथ ही भारत के लिए विश्व कप बचाने में अहम भूमिका निभाने की भी गुजारिश की। तेंदुलकर ने ट्विटर पर लिखा, "धौनी आपका टेस्ट करियर शानदार रहा। मैंने भी आपके साथ खेलने का आनंद लिया। मेरे दोस्त अब लक्ष्य 2015 विश्व कप है।" धौनी के संन्यास पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए पोंटिंग ने लिखा, "आप एक महान क्रिकेट खिलाड़ी हैं। एक ऐसा खिलाड़ी जिसका भारतीय क्रिकेट हमेशा ऋणी रहेगा।"


उल्लेखनीय है कि धौनी बतौर कप्तान अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 10,000 रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं। साथ ही ऐसा करने वाले वह विश्व के पांचवें खिलाड़ी हैं। इससे पहले पोटिंग (15,440), दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ (14,878), स्टीफन फ्लेमिंग (11,561) और एलन बॉर्डर (11,062) ऐसा कर सके हैं।



जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
देश में बढ़ती आतंकी घटना और सीमापार से पाकिस्तान की तरफ से हो रही गोलाबारी की घटना मोदी सरकार की नाकामी है...
जी हां बिल्कुल मोदी सरकार की नाकामी है।
कोई नाकामी नहीं है।
कह नहीं सकते।
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.