ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

खेल-खिलाड़ी

विश्व रोबोट ओलंपियाड का पहली बार भारत में आयोजन होगा

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

२६ नवंबर २०१५

दोहा, कतर में 6 से 8 नवम्बर, 2015 तक आयोजित 12वें विश्व रोबोट ओलंपियाड-2015 में मेडल जीतने वाले भारतीय छात्रों ने आज संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. महेश शर्मा से उनके कार्यालय में मुलाकात की। इस वर्ष के विश्व रोबोट ओलंपियाड की विषय-वस्तु ‘रोबोट अंवेषक’ था। इस आयोजन में 55 से भी अधिक देशों के छात्रों ने भाग लिया। विजेता छात्रों ने मंत्री महोदय के साथ अपने अनुभव साझा किए। डॉ. महेश शर्मा ने विजेता छात्रों के साथ बातचीत की और आगामी आयोजनों में उनकी शानदार सफलता के लिए उन्हें शुभकामनाएं दी।


डॉ. महेश शर्मा ने विश्व रोबोट ओलंपियाड -2015 के मेडल विजेता भारतीय छात्रों से मुलाकात करते हुए।

13वें विश्व रोबोट ओलंपियाड का नवम्बर, 2016 के दौरान दिल्ली में पहली बार आयोजन किया जाएगा। राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद (एनसीएसएम) इंडिया स्टैम फाउंडेशन (आईएसएफ) के साथ मिलकर यह आयोजन करेगी। विश्व रोबोट ओलंपियाड के इतिहास में भारतीय छात्रों ने ड्ब्ल्यूआरओ-2015 में पहली बार तीन मेडल (1 स्वर्ण और 2 रजत) जीते तथा एक रैंक प्राप्त किया है। अहमदाबाद की टीम इंडिया स्टोर्म डाइवर्स तथा इंडिया थंडर डाइवर्स ने प्राथमिक श्रेणी में क्रमशः पहला और दूसरा स्थान तथा दिल्ली की टीम इंडिया शैडो बोट्स तथा टीम इंडिया पाथ फाइंडर्स ने सामान्य श्रेणी में क्रमशः दूसरा और आठवा रैंक हासिल किया है। पूरे देश के 225 से अधिक विभिन्न स्कूलों की टीमों ने अपनी प्रतिभा और सृजनता का प्रदर्शन करने के लिए इस आयोजन में भाग लिया। टीम इंडिया स्टोर्म डाइवर्स (प्राथमिक श्रेणी) (रैंकिंग-1) में अहमदाबाद के अमनशाह, आरव सावला, शौर्य गोयनका, टीम इंडिया थंडर डाइवर्स (प्राथमिक श्रेणी) (रैंकिंग-2) में अहमदाबाद के वीर गांधी, ईशान पटेल, परम अदानी में शामिल हैं। टीम इंडिया शैडो बोट्स (सामान्य श्रेणी) (रैंकिंग-8) में जयंत शर्मा, अमन ठाकुर और रोहन वर्मा तथा टीम इंडिया पाथ फाइंडर्स (सामान्य श्रेणी) (रैंकिंग-8) में धारिया गुप्ता, ईशान सैनी और लक्ष्मण प्रसाद शामिल थे। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व श्रीमती अरविंद मंजीत सिंह, संयुक्त सचिव (संस्कृति) ने किया।

एनसीएसएम संस्कृति मंत्रालय के अधीन एक स्वायत्त सोसाइटी है जो पूरे देश में फैले 25 विज्ञान केंद्रों/ संग्रहालयों/ तारामंडलों का प्रशासन संभालती है। इन सभी के क्षेत्रीय कार्यालय और जिला स्तर केंद्र हैं। जिन्हें सैटेलाइट इकाइयां (एसयू) कहा जाता है। आईएसएफ एक संगठन है जो रोबोटिक शिक्षण मंच और अन्य अनुसंधान आधारित शिक्षण उपकरणओं के माध्यम से छात्रों में कंप्यूटर विज्ञान, विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित (सीएस-स्टेम) की ओर दिलचस्पी पैदा करने के कार्य में लगा है।





जरा ठहरें...
अब खिलाड़ियों को वीआई बनाएंगे - राठौर
राष्ट्रपति ने दिया खेल रत्न पुरस्कार
ब्लू व्हेल को लेकर सरकार बेहद सख्त!
युवाओं को खेल के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए आयोजित किया गया ग्रामीण मैराथन
झाझरिया और सरदार सिंह के साथ अन्य 17 को खेल रत्न पुरस्कार
स्लम दौड़ प्रतियोगिता में ६ हजार युवाओं ने हिस्सा लिया
खेलों से बनेगा स्वस्थ भारत और सशक्त भारत - गोयल
आखिरकार शास्त्री को चुन लिया गया कोच
श्रीकांत ने जीता खिताब आस्ट्रेलिया ओपन सुपर सीरीज खिताब
भारत की पाकिस्तान के हाथों शर्मनाक हार
सेमीफाइनल्स में भारत ने पाकिस्तान को 7-1 से हराया
दीपा, सिंधू, साक्षी को खेल रत्न पुरस्कार
किवियों ने बढ़ाई टीम इंडिया की चिंता
अंतरराष्ट्रीय किक्रेट कौंसिल और युनिसेफ ने शुरु किया स्वच्छता अभियान
सबसे तेजी से 7000 रन बनाने का रिकार्ड कोहली के नाम
सही दिशा में जा रही भारतीय हॉकी : ओल्टमैंस
आईपीएल सट्टेबाजी : सीएसके, राजस्थान रॉयल्स 2 साल के लिए निलम्बित
ओलम्पिक मेजबानी के लिए दावेदारी नहीं करेगा भारत
सफेद जर्सी से धोनी का संयास!
धोनी की साल की कमाई 175 करोड़ से ऊपर
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें