ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

प्रधानमंत्री मोदी ने कश्मीर में हिंदू-सिखों की हत्या पर चुप्पी ओढ़ने वालों को खरी खरी सुनाई

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, 12 अक्टूबर 2021

जम्मू-कश्मीर में सिखों और हिंदुओं की चुन-चुनकर हत्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुप्पी ओढ़े विपक्षी दलों और मानवाधिकारों के लिए जब-तब प्रदर्शन करने वाले लोगों को इशारों-इशारों में सुना दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि एक ही प्रकार की किसी घटना में कुछ लोगों को मानवाधिकार का हनन दिखता है और वैसी ही किसी दूसरी घटना में उन्हीं लोगों को मानवाधिकार का हनन नहीं दिखता।


उन्होंने कहा, 'एक ऐसे समय में जब पूरी दुनिया विश्व युद्ध की हिंसा में झुलस रही है, भारत ने पूरी दुनिया को अधिकार और अहिंसा का मार्ग सुझाया है। बापू को देश ही नहीं, पूरा विश्व मानव अधिकारों और मानवीय मूल्यों के प्रतीक के रूप मे देख रहा है। बीते दशकों में ऐसे कितने ही अवसर विश्व के सामने आए हैं, जब दुनिया भ्रमित हुई है, भटकी है लेकिन भारत मानवाधिकारों के प्रति हमेशा प्रतिबद्ध रहा है, संवेदनशील रहा है। गणित की वह शाखा कौन सी है जो त्रिभुजों के कोणों से जुड़े संबंधों का अध्ययन करती है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान को पिछले दिनों कश्मीर में हिंदुओं और सिखों की टारगेट किलिंग से जोड़कर देखा जा रहा है। 'सलेक्टिव व्यवहार लोकतंत्र के लिए नुकसानदायक'पीएम मोदी ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के स्थापना दिवस पर बात इशारों में कही, लेकिन बेहद तीखी कही। पीएम मोदी ने कहा कि मानव अधिकारों पर चुनिंदा व्यवहार लोकतंत्र के लिए खतरा है। उन्होंने कहा, 'मानवाधिकार का बहुत ज्यादा हनन तब होता है जब उसे राजनीतिक रंग से देखा जाता है, राजनीतिक चश्मे से देखा जाता है, राजनीतिक नफा-नुकसान के तराजू से तौला जाता है। उन्होंने कहा कि इस तरह का सलेक्टिव व्यवहार, लोकतंत्र के लिए भी उतना ही नुकसानदायक होता है।



अफगानिस्तान पर क्‍या हो दुनिया का रुख? G-20 शिखर सम्‍मेलन में तालिबान का तोड़ बताएंगे पीएम मोदी!'अपना-अपना हित देखकर मानवाधिकार की व्याख्या करना गलत' मोदी ने कहा कि हाल के वर्षों में मानवाधिकार की व्याख्या कुछ लोग अपने-अपने तरीके से, अपने-अपने हितों को देखकर करने लगे हैं। एक ही प्रकार की किसी घटना में कुछ लोगों को मानवाधिकार का हनन दिखता है और वैसी ही किसी दूसरी घटना में उन्हीं लोगों को मानवाधिकार का हनन नहीं दिखता। इस प्रकार की मानसिकता भी मानवाधिकार को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाती है।









जरा ठहरें...
कश्मीर से आतंकियों की सफाए के लिए सरकार की रणनीति, कश्मीर से आगरा लाए गए आतंकी
भारत ने कोरोना टीकाकरण का एक अरब का लक्ष्य हासिल किया
आतंकियों ने फिर तीन गैर कश्मीरियों को गोली मारी
"कश्मीर में अल्पसंख्यकों की हत्याओं को लेकर केंद्र गंभीर"
लद्दाख में चीनी वायुसेना तीन एअरबेस पर मौजूद – मुकाबले के लिए हम तैयार – वायुसेना प्रमुख
जम्मू – कश्मीर में सुरंग नहीं देश की मजबूत रीढ़ तैयार कर रही है सरकार
ध्वनि की गति से 24 गुना तेज चलने वाली अग्नि-5 मिसाइल का परीक्षण जल्द
अमेरिका, जापान और आस्ट्रेलिया से रणनीतिक साझेदारी मजबूत करेंगे - प्रधानमंत्री
अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि की मौत एक पहेली बनी
रक्षा मंत्रालय को मिली दो नई इमारतें, प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन, तय समय से 20 महीने पहले बनी इमारतें
देश में कोरोना के 28 हजार से ज्यादा मामले दर्ज
राष्ट्रीय राजमार्ग पर उतरे वायुसेना के जंगी जहाज
नहीं आसान है तालिबान का राह, गृहयुद्ध की चुनौती
जनसंख्या नियंत्रण बिल की तरफ धीरे धीरे कदम बढ़ा रही है केंद्र सरकार?
इटावा ब्लॉक प्रमुख चुनाव में भाजपा नेता ने एसपी सिटी को मारा थप्पड़
भारत फ्रांस राफेल डील : फ्रांस ने जांच के लिए एक न्यायायिक समिति बैठायी
मुख्यमंत्री योगी ने भी नहीं सुनी एक पत्रकार की फरियाद, दबंगों का हो गया कब्जा
उ.प्र. में योगी राज में पत्रकार के घर पर गुंडों और दबंगों का कब्जा!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.