ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रापर्टी समाचार

आम्रपाली समूह से खरीददार परेशान

नोएडा

२२ अप्रैल २०१६

देश में ऐसे कई ठेकेदार और बिल्डर्स हैं जो अपनी फीस के लिए मोटी रकम की मांग तो करते है लेकिन अपने वादें पूरा करने में बेईमानी की सारी सीमाएं तोड़ चुके हैं। यदि उनके कार्य को देखा जाये तो मालूम होता है की कितनी ठगी चल रही है। जी हाँ हाल ही में देश के एक चर्चित समाचार चैनलों के स्टिंग में कई ऐसे मामलों का खुलासा हुआ जिसमे बिल्डरों की मनमानी और लोगों का दर्द आसानी से देखा जा सकता है। इसमें देश के जाने माने विल्डर्स शामिल हैं।


फाइल फोटो।

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में आम्रपाली हाउसिंग में कई लोगों ने अपनी जिंदगी सुकून के साथ जीने के लिए घर ख़रीदे लेकिन यहाँ उनकी जिंदगी आम्रपाली  के ही कारण बदतर होती जा रही है। दरअसल बात यह है की 2009 और 2010 में आम्रपाली ग्रुप ने नोएडा और ग्रेटर नोएडा में प्रोजेक्ट्स लॉन्च किया था। जिसे लोगो ने विश्वास कर अच्छी प्रतिक्रिया दी और मकान खरीदने के लिए रूपये भी जमा कर दिए लेकिन आज भी कोई छह वर्षो से तो कोई पुरे सात सालो अपने गृहप्रवेश की राह देख रहा है। लेकिन इनका इन्तजार आज भी ख़त्म नहीं हुआ। आज भी यहाँ कई कमिया है। फ्लैट खरीददारों का कहना है की घर तो इन्हें दे दिया गया लेकिन फ्लैट्स की कमियां यहां रहने वालों से छुपी नहीं हैं। फायर सेफ्टी के उपकरण लगे जरुर हैं लेकिन वो पानी की पाइपलाइन से जुड़े नहीं हैं और ना ही उनके सेंसर्स काम कर रहे है। सुविधाओं की कमियों का तो जितना भी जिक्र हो उतना कम है यहाँ की एक ख़ास बात यह भी है की इस प्रोजेक्ट का ब्रांड एमबेस्डर क्रिकेटर धोनी को बनाया गया था साथ ही उन्हें धोनी के पडोसी बनने के रंगीन ख्वाब भी दिखाए थे लेकिन फ़िलहाल इस मामले में धोनी ने अपना पल्ला झाड लिया है। और वे आम्रपाली से नाता तोड़ चुके हैं।





जरा ठहरें...
अवैध निर्माणों पर होगी अब इसरो की नजर
अवैध निर्माणों पर होगी अब इसरो की नजर
यूनीटेक की यूपी और तमिलनाडु की संपत्तियों को नीलाम करने का दिया आदेश
सर्वोच्च न्यायालय ने जेपी एसोसिएट को दो सौ करोड़ रूपए जमा करने का आदेश दिया
सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली से कहा, प्लैट समय पर दो नहीं तो जेल जाओ!
बिल्डरों पर नियंत्रण के लिए रेरा पहले आ जाना चाहिए था - मोदी
आधार का इस्तेमाल बेनामी संपत्ति वालों के खिलाफ होगा - पीएम
वाजिब कीमत पर ग्राहकों को मकान उपलब्ध कराएगा ओमकार रियल्टर्स एंड डेवलपर्स
कांग्रेस ने कहा सरकार पेट्रोल और रीयलस्टेट को भी जीएसटी के दायरे में लाए
केंद्रीय कर्मचारियों को मिली बड़ी सौगात
एसी रूम लिया तो जीएसटी का अतिरिक्त कर देना पड़ेगा
बेनामी संपत्ति कानून का उल्लंघन करने वाले सावधान!
मोदी का अगला निशाना बेमानी संपत्ति रखने वालों पर!
बिल्डरों की मनमानी पर सरकार कड़ा कदम उठाएगी
बिल्डरों की मनमानी से आम आदमी बुरी तरह परेशान!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.