ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रापर्टी समाचार

मोदी का अगला निशाना बेमानी संपत्ति रखने वालों पर!

आकाश श्रीवास्तव

14 नवंबर 2016

500 और 1000 के नोट के बाजार से वापस लिए जाने से लोगों को हो रही दिक्कतों के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से 50 दिन का वक्त मांगा है। पीएम ने कहा है कि लोगों को दिक्कत होगी लेकिन उसके बाद वे उन्हें उनके सपनों का भारत देंगे। मोदी ने कहा कि सरकार का कालेधन के खिलाफ यह पहला वार है। अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। पीएम ने अगले चरण में बेनामी संपत्ति वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही। मोदी के मुताबिक, 'जिनके पास भी बेनामी संपत्ति है, हम उसपर हमला बोलने वाले हैं। '


भावुक हुए पीएम
गोवा में कई प्रॉजेक्ट्स की शुरुआत करते हुए मोदी कई बार विपक्षी राजनीतिक दलों पर हमलावर हुए तो एक मौका ऐसा भी आया कि वे भावुक हो गए। रुंधे हुए गले से मोदी ने कहा, 'मेरे देशवासियों, मैंने घर, परिवार सब कुछ देश के लिए छोड़ा है। मैं कुर्सी के लिए पैदा नहीं हुआ।' नोट बदलने के लिए लोगों को हो रही परेशानी पर मोदी ने कहा कि उन्हें बस 30 दिसंबर तक का वक्त चाहिए। मोदी के मुताबिक, 'एक बार सफाई हो जाती है तो छोटा मोटा मच्छर भी नहीं आता।' मोदी ने अपने संबोधन में विपक्षी पार्टियों पर जमकर हमला बोला। राहुल गांधी और कांग्रेस पर बिना नाम लिए तीखा हमला कहा। कहा कि 2जी और कोयला घोटाले वाले लाइन में लगे हैं। कुछ लोगों को आज 4000 के नोट बदलने के लिए लाइन में खड़ा होना पड़ रहा है। मोदी ने आगे कहा, 'जिनको पॉलिटिक्स करनी हो करें। जिनका लुट चुका है, वे रोते हुए आरोप लगाते हैं। लेकिन मेरे ऑनेस्ट देशवासी सिर्फ 50 दिन का साथ चाहिए।' मोदी ने राजनीतिक दलों पर चुटकी लेते हुए कहा कि कालेधन के खिलाफ इस मुहिम पर पार्टियों को बोलने की हिम्मत नहीं हो रही। पार्टियों के लोग हंसकर सिर्फ इतना कह पा रहे हैं कि मोदी ने अच्छा किया।

अगला निशाना-बेनामी संपत्तियां
मोदी ने यह साफ कर दिया कि वर्तमान मुहिम के बाद उनके निशाने पर बेनामी संपत्ति रखने वाले लोग होंगे। मोदी ने कहा, 'हम जानते हैं और आपको भी पता है कि दिल्ली के किसी बाबू का यहां गोवा में फ्लैट बना हुआ है। मुझे गोवा के बिल्डरों से शिकायत नहीं। लेकिन गोवा में जिसकी सात पीढ़ी में कोई नहीं रहा, उसने फ्लैट यहां खरीदा। गोवा में दूसरे के नाम फ्लैट खरीदा। हमने कानून बनाया है, जो भी बेनामी संपत्ति होगी, दूसरे के नाम संपत्ति होगी, हम उस पर कानूनन हमला बोलने वाले हैं। यह संपत्ति देश की है, देश के गरीब की है। यह सरकार सिर्फ और सिर्फ देश के गरीबों की मदद करना कर्तव्य मानती है, मैं ऐसा करके रहूंगा।'


'सांसदों ने किया मेरे फैसले का विरोध'
मोदी ने कहा कि उनके कुछ फैसलों का सांसदों तक ने विरोध किया। मोदी ने कहा, 'मैं देखा है कि घर में शादी है, लोग जूलरी खरीदते हैं। बीवी का जन्मदिन है जूलरी खरीदते हैं।...जूलर भी हिसाब नहीं लेते थे। सब कैश में चल रहा था। यह सब क्या कोई गरीब लोग करते थे? ये बंद होना चाहिए कि नहीं? हमने नियम बनाया कि दो लाख रुपए से ज्यादा की जूलरी खरीदते हैं तो आपको अपना पैन नंबर देना होगा। इसका भी विरोध हुआ था। आप हैरान होंगे कि आधे से ज्यादा संसद के मेंबर मुझे यह कहने आए थे कि मोदी जी ये नियम मत बनाओ। कुछ लोगों ने चिट्ठी भेजने की हिम्मत की है। पता नहीं, जिस दिन मैं यह फैसला सार्वजनिक करूंगा, वे पब्लिक में जा पाएंगे कि नहीं।'


'लोग मुझे जिंदा नहीं छोड़ेंगे'
मोदी ने कहा कि उनके विरोधी चाहे जो कर लें कि अब वे पीछे हटने वाले नहीं हैं। मोदी ने कहा, 'मैं जानता हूं कि मैंने कैसी कैसी ताकतों से लड़ाई मोल ली है। मैं जानता हूं कि कैसे कैसे लोग मेरे खिलाफ हो जाएंगे। मैं सत्तर साल का उनका लूट रहा हूं। वे मुझे जिंदा नहीं छोड़ेंगे। मुझे बर्बाद करके रहेंगे। उनको जो करना है करे। भाइयो और बहनों,... 50 दिन मेरी मदद करें। देश 50 दिन मेरी मदद करे। जोर से तालियों के साथ मेरी इस बात को स्वीकार करें आप।'



जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें