ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

धर्म/तीज़-त्यौहार

व्यापार संगठनों ने सरकार से पटाखे पर लगे प्रतिबंध के खिलाफ कदम उठाने की मांग की

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

११ अक्टूबर २०१७

पर्यावरण सुरक्षा पर उच्चतम न्यायालय की चिंता से सहमति रखते हुए कन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्ज़ ने कहा की दिल्ली एनसीआर में इस दिवाली पटाखे बेचने पर प्रतिबंध एक तरह से व्यापारियों के व्यापार करने के संवैधानिक अधिकार का हनन है। पटाखों का व्यापार देश में सदियों से चला आ रहा है और पूर्ण रूप से क़ानून सम्मत होने के कारण भारतीय संविधान के अनुसार इसको इजाज़त है।


कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने कहा की उच्चतम न्यायालय ने पटाखे बेचने पर प्रतिबंध लगाया हैलेकिन पटाखे फोड़ने पर नहीं और इसका लाभ उठाते हुए लोग दिल्ली के अलावा अन्य राज्यों से पटाखे ख़रीदकर यहाँ आतिशबाजि कर सकते हैं और यदि ऐसा होता है तो यह दिल्ली के व्यापारियों के साथ अन्याय होगा क्योंकि उनका व्यापार अन्य राज्यों में चला जाएगा। पटाखों के मामले में दिल्ली का व्यापारी अन्य राज्यों के व्यापारियों के बीच एक अंतर हो जाएगा जो न्याय की दृष्टि से उचित नहीं है। इसके अतिरिक्त बड़ी मात्रा में पर्यावरण को हानि न पहुँचाने वालेपटाखे भी आते है लेकिन प्रतिबंध के कारण वो भी बेचे नहीं जा सकेंगे। बहुत से व्यापारियों ने इस दिवाली के लिए पटाखों का स्टॉक अब तक माँगा लिया होगा लेकिन अचानक प्रतिबंध लगने से उन व्यापारियों को बहुत बड़ी वित्तीय हानि होगी ।

देश में पटाखे फोड़ने का सिलसिला सदियों से चला आ रहा है। मान्यता के अनुसार भगवान श्रीराम के वनवास के बाद अयोध्या लौटने पर दीप जलाए गए और आतिशबाज़ी की गयी वहीं दिवाली के मौक़े पर लक्ष्मी के आगमन और स्वागत में पटाखे फोड़े जाते हैं। वर्तमान में कोई भी बड़ा उत्सव हो या खेलों का आरम्भ या इसी प्रकार का कोई आयोजन हो तो पटाखे फोड़कर ख़ुशी का प्रदर्शन किया जाता है।





जरा ठहरें...
धर्म संसद में दावा एक साल के अंदर राममंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा!
अब एक दिन में ५० हजार ही वैष्णव देवी के दर्शन करेंगें
पतांजलि के बाद श्रीश्री तत्वा बाजार में जल्द
विश्व हिंदू परिषद का ऐलान ६ दिसंबर तक ५१ लाख बंजरगी शामिल किए जाएंगे
श्रीश्री से मुलाकात के बाद शिया धर्म गुरू ने राम मंदिर बनाने की बात कही
छठ महापर्व का हुआ समापन
छठ पूजा के लिए भाजपा ने किया घाटों की साफ-सफाई
अयोध्या में त्रेता के बाद कलयुग में दिखी ऐसी दिवाली!
जीएसटी की मार से बाजार से दीपावली की रौनक गायब!
चीनी पटाखों से भारतीयों का मोहभंग, ४० फीसदी तक गिरावट की संभावना!
विश्व पुस्तक मेले को देखने के लिए उमड़े लोग
रोमामिया में ११वीं में पढ़ाया जाता है रामायण और महाभारत के अंश
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें