ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

धर्म/तीज़-त्यौहार

दिल्ली के गुरूद्वारों के खाने सरकारी मापदंड पर उम्दा उतरे

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

१९ जून २०१८

दिल्ली के गुरूद्वारों का खाना सरकारी मापदंड पर खरे उतरे हैं। इन गुरुद्वारों के लंगर स्वच्छता, गुणवत्ता, पौष्टिकता और शुद्धता के मामले में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संगठन फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड आथॉरिटी आफ इंडिया के सख्त मापदंडों पर खरे उतरे हैं। इन गुरुद्वारों में विभिन्न साधनों के उपयोग से आम जनमानस को प्रदान किए जाने वाले लंगर प्रसाद को ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक और पौष्टिक बनाया गया है ताकि समाज के श्रमिक वर्ग को सेहतमंद बनाया जा सके, जोकि अपने आहार के लिए मुख्यत: गुरुद्वारों के लंगर पर निर्भर रहते हैं।


दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मंजीत सिंह जीके ने बताया, "सभी लंगर रसोइयों को पीला एप्रॉन, दस्ताने और पगड़ी पहनना अनिवार्य किया गया है ताकि सभी प्रकार के प्रदूषण को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि लंगर रसोइये का शारीरिक, मानसिक रूप से दृढ़ होना अनिवार्य है और किसी भी संक्रमण रोगी को लंगर बनाने की कतई अनुमति प्रदान नहीं की जाती।" उन्होंने बताया कि प्रत्येक लंगर परिसर पूरी तरह वायु प्रवाहक है और रसोई परिसर की संगमरमर टाइलों को दिन में बार-बार धोया जाता है। मंजीत सिंह जीके ने बताया कि लंगर में चपाती बनाने के लिए आधुनिक मशीन लगाई गई है। उन्होंने कहा कि बचे हुए भोजन, फलों आदि को बड़ी ट्रालियों में ढक कर रखा जाता है। उन्होंने कहा कि स्थानीय निकायों से नजदीकी समन्वय स्थापित करके सभी प्रकार के रोगों की रोकथाम और बचाव के समयबद्ध तरीके से उचित प्रबन्ध किए जाते हैं।

जी हां  दिल्ली के 10 ऐतिहासिक गुरुद्वारों में रोजाना लगभग एक लाख लोग लंगर प्रसाद ग्रहण करते हैं। इसमें चपाती, दाल, सब्जी, खीर, सलाद आदि पूर्ण डाइट शामिल होती है. जबकि गुरुपर्व होली, दीपावली तथा सप्ताह के अंतिम दिनों में इनकी संख्या बढ़कर लगभग पांच लाख तक पहुंच जाती है। नई दिल्ली के बंगला साहिब गुरुद्वारे में देश के विभिन्न हिस्सों से अपनी शिकायतों, मांगों को लेकर आने वाले आंदोलनकारियों, धरना-प्रदर्शनकारियों को नियमित रूप से 'घर का खाना' मुहैया कराया जाता है।


लंगर श्रद्वालुओं को स्वच्छ पेयजल प्रदान करने के लिए गुरुद्वारा परिसर में आर.ओ. लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रबन्धक समिति ने लंगर रसोइयों को खाना बनाने की नवीनतम तकनीक, उपकरणों तथा परंपराओं के प्रति कार्य कुशल बनाने के उद्देश्य से प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए एक गैर सरकारी संगठन का सहयोग लिया है। गुरुद्वारा के लंगर की गुणवत्ता, महक, स्वाद तथा पौष्टिकता में पिछले कुछ समय से महत्वपूर्ण सुधार दर्ज किया गया है।


यहां जाति, धर्म, क्षेत्र एवं राजनैतिक भेदभाव के बिना लंगर प्रदान किया जाता है।गुरुद्वारों में लंगर की गुणवत्ता, स्वच्छता, पौष्टिकता आदि सुधारने के लिए प्रबंधक समितियों का गठन किया गया है। इसके अंतर्गत देशी घी, खाद्य तेल आदि को प्रयोग से पहले सरकारी प्रयोगशाला में जांच परखा जाता है जबकि सब्जियों की ताजगी तथा पौष्टिकता को सुनिश्चित करने के लिए सीधे आजादपुर मंडी से खरीदा जाता है।



जरा ठहरें...
भगवान बुद्ध ने बौद्ध धर्म की शिक्षा से विश्व में अमन शांति का सँदेश दिया - अलोक कुमार
प्रधानमंत्री बाबा केदारनाथ के दर्शन के बाद, ध्यान साधना के लिए गुफा में गए
विहिप ने राम जन्मभूमि अयोध्या में भव्य मंदिर निर्माण संकल्प सभा का आयोजन किया
देश में हर्षोल्लास के साथ मनाई गयी होली
राममंदिर विवाद, मध्यस्थता का मौका देते हुए फैसला सुरक्षित
पुलवामा शहीदों को साधु संतों ने यज्ञ
शाही स्नान के साथ प्रयागराज में शुरू हुआ महापर्व कुंभ
महामण्डलेश्वर बोले हनुमान जी मुसलमानों के भी पूर्वज हैं!
अध्यात्म के माध्यम से व्यक्ति अपनी क्षमताओं को बढ़ा सकता है - सद्गुरू जग्गी वासुदेव
दिल्ली में जुटे लाखों लोग, एक स्वर में की राममंदिर निर्माण की मांग
श्रीराम मंदिर के लिए सरकार संसद में कानून लाए - विहिप
राम जन्मभूमि पर विश्वविद्यालय बनाने की बात कहने वाले सिसौदिया माफी मांगे - तिवारी
रविवार को दिल्ली में उमड़ेगा राम भक्तो का जनसैलाब : डॉ सुरेंद्र जैन
अध्यादेश की नौबत आयी तो काशी मथुरा भी लेंगे - संत समाज
राम मंदिर के निर्माण को लेकर विहिप का प्रतिनिधि मंडल हर्ष वर्धन से मिला
मंदिर निर्माण से कम कुछ भी स्वीकार नहीं - साधु संत
राममंदिर के लिए जो किया कांग्रेस ने किया! भाजपा सिर्फ राम"-राम" गाती रही?
आखाड़ा परिषद ने दो और बाबाओं को फर्जी घोषित किया
सरकार ने कहा रामसेतु को नष्ट नहीं किया जाएगा
पतांजलि के बाद श्रीश्री तत्वा बाजार में जल्द
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.