ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

अपराध जगत

सीबीआई का सरकार पर बड़ा आरोप, नीरव मोदी की जांच रोकने के लिए हुआ स्थानांतरण

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

१९ नवंबर २०१८

इस समय सीबीआई में घमासान लगातार जारी है। सीबीआई के डीआईजी मनीष कुमार ने सर्वोच्च न्यायालय में सरकार पर तीखा आरोप लगाते हुए कहा है कि नीरव मोदी से जुड़े घोटाले का आरोप से दूर रहने के लिए मेरा स्थानांतरण अन्य जगह पर कर दिया है। हम बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के बीच चल रहे विवाद के दौरान सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में जांच एजेंसी के एक अधिकारी ने अपने तबादले को चुनौती दी है।


फाइल फोटो।

सीबीआई के डीआईजी मनीष कुमार सिन्हा ने सर्वोच्च अदालत को बताया है कि विशेष निदेशक अस्थाना और नीरव मोदी से जुड़े पीएनबी बैंक घोटाले की जांच बेपटरी करने के लिए उनका ट्रांसफर नागपुर किया गया। सिन्हा ने सुप्रीम कोर्ट से उनके तबादले के आदेश को रद्द करने का अनुरोध किया। बता दें कि नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और उनसे जुड़े बैंकिंग घोटाले के मामले को लेकर कांग्रेस समेत पूरा विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है। भ्रष्टाचार के कथित मामले में सीबीआई के विशेष निदेशक अस्थाना की भूमिका की जांच कर रही टीम का हिस्सा रहे आईपीएस अधिकारी मनीष कुमार सिन्हा ने मंगलवार को अविलंब सुनवाई के लिये मुख्य न्यायाधीष रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच के समक्ष अपनी याचिका का उल्लेख किया। सिन्हा ने कोर्ट को बताया कि वह सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के नेतृत्व में सक्रियता से अस्थाना के कथित भ्रष्टाचार मामले की जांच कर रहे थे।

उधर, सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने सीवीसी की रिपोर्ट पर अपना जवाब सीलबंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट में दाखिल कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को वर्मा को स्पष्ट कर दिया कि इस मामले में मंगलवार को सुनवाई की तारीख को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा। वर्मा को शाम 4 बजे तक जवाब दाखिल करने को कहा गया। इसके बाद सीबीआई डायरेक्टर की तरफ से जवाब दाखिल कर दिया।


बता दें कि शीर्ष अदालत ने सीबीआई निदेशक के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर सीवीसी की प्रारंभिक रिपोर्ट पर 16 नवंबर को आलोक वर्मा को सीलबंद लिफाफे में सोमवार तक जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया था। इससे पहले, 16 नवंबर को कोर्ट ने कहा था कि सीवीसी ने अपनी जांच रिपोर्ट में कुछ 'बहुत ही प्रतिकूल' टिप्पणियां की हैं और वह कुछ आरोपों की आगे जांच करना चाहता है, इसके लिऐ उसे और समय चाहिए।


कोर्ट ने सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा के सभी अधिकार वापस लेने और उन्हें अवकाश पर भेजने के सरकार के फैसले को चुनौती देने वाली वर्मा की याचिका पर सुनवाई के दौरान पिछले शुक्रवार को यह निर्देश दिया था।



जरा ठहरें...
जज की कार गड्ढे में गिरी, गंभीर रूप से घायल
दिल्ली पुलिस आयुक्त को गृहमंत्री ने लगाई फटकार
पूरे देश में टिकट दलालों पर रेलवे की कार्रवाई
ईडी के सामने वाड्रा की हुई पेशी
चिटफंड मामला : सर्वोच्च न्यायालय ने राजीव कुमार की गिरफ्तारी से रोक हटाई
ममता सरकार को कोर्ट ने लताड़ा, कोर्ट ने कहा हमारे आदेश से बड़ा है मैन्युअल
भारत ने लिट्टे पर पांच साल के लिए और प्रतिबंध बढ़ाया
१९८४ सिक्ख दंगा: सर्वोच्च न्यायालय ने १५ लोगों को बरी किया
पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे शेखर तिवारी की दिल्ली में रहस्यमयी मौत...?
आयकर विभाग ने गिलानी का दिल्ली स्थिति प्लैट को कुर्क किया!
नीरव मोदी की गिरफ्तारी के पीछे कोई बड़ी साजिश तो नहीं...?
हर हालात से निपटने के लिए तैयार हैं हम - महानिदेशक सीआईएसएफ
किडनी कांड में दिल्ली के दो डॉक्टरों के नाम सामने आए
दिल्ली पुलिस भ्रामक फोन कॉल के खिलाफ कार्रवाई करे
वाड्रा और ईडी आमने सामने: पूछताछ की गोपनीयता भी है कोई..?
दिल्ली के शेल्टर होम के बच्चियों के साथ क्रूरता की हदें पार, मिर्च डाली जाती थी
दिल्ली से सटे गुरूग्राम में सिपाही को सरेआम अगवा किया गया
एसएसबी ने पूर्वोत्तर में चौकसी बढ़ाने के लिए 18 नई चौकियां बनाई!
सरकार गुड़ग्राम के लुटेरे पंचतारा ‘मेदांता’ अस्पताल पर कब कार्रवाई करेगी?
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.