ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

विज्ञान एवं रक्षा तकनीकि

राजनाथ सिंह ने भारत-बांग्लादेश सीमा पर बोल्ड किट सिस्टम का उद्घाटन किया

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

६ मार्च २०१९

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने असम के धुबरी जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर व्यापक एकीकृत सीमा प्रबंधन प्रणाली के तहत 'बॉर्डर एलेक्ट्रॉनिकली डोमिनेटेड क्यू-आर-टी सिस्टम' का 5 मार्च को उद्घाटन किया। इस अवसर पर सर्बानंद सोनोवाल, मुख्यमंत्री, असम सहित सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक रजनी कांत मिश्र, और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे। सीमा सुरक्षा बल बांग्लादेश के साथ 4,096 किलोमीटर लंबी अंतर्राष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा करने वाला देश का अग्रणी सीमा रक्षक बल है।


सीमाओं पर, विभिन्न स्थानों पर, भौगोलिक बाधाओं के कारण सीमा बाड़ को खड़ा करना संभव नहीं है। असम के धुबरी जिले का वह 61 किलोमीटर लम्बा सीमा क्षेत्र, जहाँ से ब्रह्मपुत्र नदी बांग्ला देश में प्रवेश करना आरम्भ करती है, ब्रह्मपुत्र और उसकी कई सहायक नदियों का विषम परिक्षेत्र है जो सीमा निगरानी को एक मुश्किल और चुनौती भरा कार्य बनाता है, विशेष रूप से बरसात के मौसम में। इस समस्या को दूर करने के लिए, 2017 में, गृह मंत्रालय ने बीएसएफ की जनशक्ति की भौतिक उपस्थिति के साथ ही तकनीकी समाधान का भी निर्णय लिया। 1 जनवरी 2018 में, बीएसएफ के सूचना और प्रौद्योगिकी विंग ने बॉर्डर इलेक्ट्रॉनिकली डोमिनेटेड क्यू- आर-टी सिस्टम - (BOLD-QIT ) पर काम करना शुरू किया और इसे विभिन्न निर्माताओं तथा आपूर्तिकर्ताओं के तकनीकी सहयोग से रिकॉर्ड समय में पूरा किया।

यह (व्यापक एकीकृत सीमा प्रबंधन प्रणाली) के तहत तकनीकी सिस्टम स्थापित करने की परियोजना है, जो विभिन्न प्रकार की सेंसर प्रणाली के उपयोग से बीएसएफ को ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियों के जलीय क्षेत्र में भारत-बांग्लादेश की बिना बाड़ वाली सीमाओं की प्रभावी निगरानी में सक्षम बनाती है। परियोजना के उद्घाटन के पश्चात इस पूरे क्षेत्र को डाटा नेटवर्क पर काम करने वाली संचार, ओ एफ सी केबल्स, डी एमआर कम्युनिकेशन, दिन और रात निगरानी करने वाले कैमरों और घुसपैठ का पता लगाने वाली प्रणाली द्वारा कवर किया गया है।


ये आधुनिक गैजेट बॉर्डर पर बीएसएफ कंट्रोल रूम को फीडबैक प्रदान करते हैं और क्रॉस बॉर्डर क्रॉसिंग/ सीमावर्ती अपराधों की किसी भी संभावना को विफल करने के लिए बीएसएफ की क्विक रिएक्शन टीमों को सक्षम बनाते हैं। इस परियोजना के कार्यान्वयन से न केवल बीएसएफ को सभी प्रकार के सीमा पार अपराधों पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी, बल्कि सीमा प्रहरियों को भी चौबीसों घंटे मानव निगरानी में व्यस्त रहने से राहत मिलेगी। गौरतलब है कि केंद्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने पिछले साल सितंबर के महीने में जम्मू में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पांच-पांच किलोमीटर की दो स्मार्ट बॉर्डर फेंसिंग पायलट परियोजनाओं का उद्घाटन किया था।




जरा ठहरें...
रूस से जो भी एस-400 खरीदेगा अमेरिका उसके खिलाफ है
AN-32 में सवार सभी 13 लोगों की मौत: वायुसेना
वायुसेना अपने लापता विमान का सुराग देने वाले को ५ लाख का ईनाम देगी
भारतीय वायुसेना के विमान का अभी कुछ अता पता नहीं
जब अपनी ही मिसाइल का शिकार हो गया वायुसेना का हेलीकॉप्टर....?
वायुसेना ने वीर चक्र से "अभिनंदन" की 'अभिनंदन' किए जाने की सिफारिश की!
मिशन शक्ति की सफलता पर जेटली बोले, कांग्रेस अपनी झूठी पीठ थप-थपा रही है
राफेल: शौरी, भूषण और सिन्हा कागजात के लिए दोषी हैं - सरकार
राफेल के आते ही वायुसेना मिग-२१ विमानों को अपने बेड़े से बाहर कर देगी
एनटीआरओ का दावा बालाकोट में ३ सौ मोबाइल फोन सक्रिय थे!
सेना का काम है लक्ष्य को तबाह करना, गिनती करना हमारा काम नहीं - वायुसेना प्रमुख
पाकिस्तान की हर गतिविधियों पर है इसरो की नज़र
पाकिस्तान का झूठ बेनकाब, एफ-१६ का मलबा सामने आया
सरकार ने सेना को पाकिस्तान पर खुली कार्रवाई की छूट दी
पाकिस्तान ने कहा भारतीय वायुसेना पाक सीमा घुसे
भारतीय वायुसेना ने वायु शक्ति के माध्यम से दिखाया अपना दम-खम
इसरो ने भावी योजनाओं का किया खुलासा, पहला अंतरिक्ष अभियान २०२० से शुरू
नौसेना के जांबाज कमांडर ने कहा बस ठीक होने का है इंतजार....!
बीएसएफ ने सेना को पछाड़कर बनाया विश्व रिकार्ड!
भारत को एस-400 के रूप में मिला अभेद्द्य रक्षा कवच!
भारतीय वायुसेना के उपाध्यक्ष ने उड़ाया राफेल को
भारतीय नौसेना को मिला एक और घातक युद्धपोत 'किलर'
ऑटोमोबाइल क्षेत्र के लिए BS-5 और BS-6 मानदंडों की अधिसूचना
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.