ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

क्या आप जानते हैं

जलियांवाला बाग: भाजपा का शीर्ष नेतृत्व श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचा
देश आज जलियांवाला नरसंहार के हुए १०० साल पर शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहा है

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

१३ अप्रैल २०१९

आज देश इतिहास की उस सबसे बड़ी बर्बर, कुरुर और भयावह घटना को याद कर रहा है जिसे अंग्रेजों ने अपनी निर्दयता की पराकाष्ठा को पार करके लिखी। जो इतिहास के पन्नों में जालियांवाला बाग के नाम से दर्ज है। उस घटना को बीते आज 100 साल हो रहे हैं। समूचा देश जलियांवाला बाग में मारे गए शहीदों और वीरांगनाओं को श्रद्धासुमन अर्पित कर रहा है। सुबह से ही देश के तमाम नेता अपनी श्रद्धांजलि दे रहे हैं। लेकिन आज इस मामले में वह राजनीतिक दल और उसके शीर्ष नेता फिसड्डी साबित हुए जो अपने को स्वंयभू राष्ट्रवादी कहते हैं।


ब्रिटेन के राजदूत श्रद्धांजलि देते हुए।

जी हां हम उस राजनीतिक दल की बात कर रहे हैं जिसे भारतीय जनता पार्टी कहते हैं। भारतीय जनता पार्टी का एक भी शीर्ष नेता जालियांवाल बाग नहीं गया। न तो देश के प्रधानमंत्री को जालियांवाला बाग जाने की फुर्सत मिली और न ही भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह को उन शहीदों और वीरांगनाओं की याद आई। जिन्होंने अंग्रेजों के सामने घुटने नहीं टेके और मौत को गले लगा लिया।

इससे पहले जलियांवाला नरसंहार के 100 साल होने पर शहर में सुबह से ही काफी संख्‍या में लोग पहुंचना शुरू हुए। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी तमाम व्यस्तम राजनीतिक कार्यक्रमों को छोड़कर जालियांवाला बाग पहुंचे। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के साथ पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह भी जलियांवाला बाग पहुंचे। उनके साथ कैबनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू सहित अन्‍य मंत्री भी थे। उन्‍होंने जलियांवाला बाग के शहीद स्‍मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।


कांग्रेस अध्यक्ष जलियांवाला बाग में श्रद्धांजलि देते हुए।

जलियांवाला बाग नरसंहार की बरसी पर ब्रिटिश सरकार ने एक बार फिर माफी मांगी और इसे शर्मनाक घटना करार दिया। भारत में ब्रिटिश उच्‍चायुक्‍त डोमिनिक एक्‍यूथ ने कहा कि 100 साल पहले हुई यह घटना एक बड़ी त्रासदी थी। यहां जो भी हुआ उसका हमें हमेशा खेद रहा है। यह बेहद शर्मनाक था। ब्रिटिश उच्‍चायुक्‍त ने शहीद स्‍मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की। बता दें कि तीन दिन पहले ब्रिटिश सरकार ने इस नससंहार के लिए माफी मांगी थी। ब्रिटिश संसद में प्रधानमंत्री ने दुखद कांड पर खेद व्यक्त कर चुके हैं। 2014 में जब डेविड कैमरून जलियांवाला बाग आए थे उन्होंने भी खूनी कांड को शर्मनाक बताया था।


देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी जालियांवाला बाग पहुंचे और शहीदों को श्रद्धांजलि दी। कमी खली तो सिर्फ देश की सत्ता पर राज कर रही भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेताओं की। भाजपा का एक भी शीर्ष नेता जालियांवाला बाग नहीं पहुंचा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्विटर के जरिए शहीदों को याद करके उनकी कुर्बानी को धन्य बना दिया। मोदी ने ट्वीट में लिखा, 'आज, जब हम भयावह जलियांवाला बाग नरसंहार के 100 वर्षों का निरीक्षण करते हैं, तो भारत उस घातक दिन पर शहीद हुए सभी लोगों को श्रद्धांजलि देता है। उनकी वीरता और बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा।

ट्विटर पर अपनी बात की इतिश्री करके प्रधानमंत्री अपने चुनावी अभियान में दक्षिण की तरफ प्रस्थान कर गए। सवाल उठता है जिस ब्रिटेन ने अब उस घटना को कलंकित घटना मानता है जिसे अपने पुरखों की करनी पर पछतावा है, खेद प्रगट करता है। उस घटना को मानवता के लिए सबसे बर्बर शर्मनीय घटना मानता है उस घटना पर और घटना स्थल पर भारत के सत्तारूढ़ दल के नेता और सरकार का कोई प्रतिनिधि को जाने की फुर्सत नहीं मिलती है। इससे बड़ी शर्मनाक बात और क्या हो सकती है। क्या भाजपा का राष्ट्रवाद का चेहरा सिर्फ वोट बटोरने के लिए एक छद्म रूप है और बाकी कुछ नहीं।



जरा ठहरें...
मोदी सरकार ने सारे सामाजिक ताने बाने को नष्ट कर दिया है - सोनिया गांधी
दिल्ली में सीएनजी के दाम बढ़े, सफर करना हुआ मंहगा!
दिल्ली के सातों सीटों के लिए भाजपा ने इन नामों की सूची आलाकमान को भेजी
चीन के खिलाफ व्यापारियों का फूटा गुस्सा, देश में जली चीनी सामानों की होलिका
देश की विभूतियों को राष्ट्रपति पद्म पुरस्कारों से किया सम्मानित
118 सालों में दिल्ली का मौसम मार्च माह में सबसे ज्यादा ठंड रहा
ये पार्टी लोकसभा चुनाव 2019 में 283 सीटों पर महिला उम्मीदवार उतारेगी
“सरकार की मंशा अच्छी, पर दिव्यांग कल्याण के लिए ठोस कदम उठाएं”- अमित कुमार
मंगला एक्सप्रेस में गंदे पानी से बनाया जाता है सूप और अन्य चीज
सरकार ने अनाजों के उत्पादन के आंकडे जारी किए!
दिल्ली में ४० प्रतिशत लोगों का मानना वह सुरक्षित नहीं
रेलवे ने मेल और एक्सप्रेस रैक्स के उन्नयन के लिए ’प्रोजेक्ट उत्कृष्ट’ शुरू किया
रंजन गोगोई बने देश के नए मुख्य न्यायाधीश
मोदी कैबिनेट का बड़ा फैसला तीन तलाक पर अध्यादेश जारी
बिना इंजन की ट्रेन-18 जल्द मिलेगी लोगों को सफर करने के लिए!
वैज्ञानिकों ने माना रामसेतु मानव निर्मित है
30 किलो से ज्यादा वजन के कुत्ते को घोड़ा मानता है रेलवे!
मानव मांस का शौकीन था ब्रिटिश राजघराना
२०५ साल के बाबा, १०५ साल से नहीं खाया एक अन्न भी!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.