ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

कारोबार-समाचार

दिवाली निकट है लेकिन बाजार से ग्राहक गायब - कैट

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

७ अक्टूबर २०१९

ज्यों ज्यों दिवाली का त्योहारी सीजन नजदीक आ रहा है त्यों त्यों दिल्ली के व्यापारियों की इस सीजन में अच्छा व्यापार करने की आशा धूमिल होती जा रही है क्योंकि बाज़ारों में ग्राहकी बेहद कम है और व्यापारियों के पास सामान के स्टॉक का अम्बार लगा हुआ है ! एक तरफ व्यापारियों के व्यापार पर ऑनलाइन व्यापार की मार पड़ पर रही है तो दूसरी ओर बाज़ार में नकद तरलता के बेहद अभाव है। इस स्तिथि को देखते हुए दिल्ली के सभी बाज़ारों में बेहद निराशा का माहौल है, त्योहारी बिक्री की कोई गहमा गहमी नहीं है और त्योहारों के होते हुए भी सभी प्रमुख खुदरा एवं थोक बाजार पूरी तरह सुनसान पड़े हैं।


उधर दूसरी तरफ सीलिंग पर बनी मॉनिटरिंग कमेटी से सीलिंग का साया भी व्यापारियों पर बुरी तरह मंडरा रहा है जिसने दिल्ली के सदियों पुराने व्यापारिक वितरण स्वरुप की चूलें हिला कर रख दी हैं। कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बाज़ारों की वर्तमान स्तिथि पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा की दिल्ली के बाज़ारों में व्यापार का सबसे ज्यादा नुक्सान विभिन्न ई कॉमर्स कंपनियों ने लागत से भी कम मूल्य पर माल बेच कर और भारी डिस्काउंट देकर उपभोक्ताओं को बाज़ारों से दूर कर दिया है। ये कंपनियां सीधे तौर पर केंद्र सरकार की एफडीआई नीति का खुला उल्लंघन करते हुए सरकार की नाक के नीचे धड्ड्ले से माल बेच रही हैं। अनेक बार सबूतों के साथ शिकायत करने के बावजूद भी अभी तक सरकार ने इन कंपनियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है जिससे इन कंपनियों के होंसले बुलंद हो गए है और पिछले सप्ताह ही एक फेस्टिवल सेल लगाने के बात ये कंपनियां अब एक बार फिर 12 अक्टूबर से फेस्टिवल सेल का दूसरा चरण शुरू कर रही हैं जो व्यापारियों की बची खुची आशाओं पर भी पानी फेर देगा।

पहली फेस्टिवल सेल के बाद इन कंपनियों ने अपनी बिक्री में 75 प्रतिशत के इजाफे और लगभग 50 प्रतिशत नए कस्टमर होने का दावा भी किया है !
एक अनुमान के मुताबिक दिल्ली में प्रतिदिन लगभग 500 करोड़ रुपये का कारोबार होता है और ऑनलाइन कंपनियों के कारण दिल्ली के विभिन्न बाज़ारों के व्यापारियों की बिक्री में पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 30 प्रतिशत की गिरावट हुई है।अगली फेस्टिवल सेल के बाद ये आंकड़ा 50 से 60 प्रतिशत हो सकता है जो दिल्ली के सदियों पुराने व्यापार के लिए एक बड़ा धक्का साबित होगा। खंडेलवाल ने कहा की दिल्ली में पहले नवरात्र से 14 दिसंबर तक त्यौहार के सीजन का पहला चरण होता है और उसके बाद 14 जनवरी से अप्रैल -मई तक शादियों का सीजन होने के कारण व्यापार का दूसरा चरण रहता है।


जिससे गत वर्षों में व्यापारियों की बिक्री में बेहद इजाफा होता था लेकिन इस वर्ष व्यापारियों के सामने व्यापार के अस्तित्व का संकट ही खड़ा हो गया है जिसको लेकर व्यापारी बेहद चिंतित भी है। दिल्ली में लगभग 10 लाख व्यापारी हैं जिन पर 40 लाख लोगों की आजीविका निर्भर रहती है। दिल्ली से देश भर में माल जाता है और पडोसी राज्यों से लगभग 5 लाख व्यापारी सामान खरीदने के लिए दिल्ली रोज़ आते हैं।




जरा ठहरें...
कैट ने बहुराष्ट्रीय एवं रीटेल कम्पनियों के उत्पादों के बहिष्कार की धमकी दी
इस बार दिवाली पर चीनी वस्तुओं की बिक्री 60 प्रतिशत घटी - कैट
देश भर के व्यापारी दिवाली पर भी कर रहे आर्थिक मंदी का सामना
टीम कैशलेस अभियान का पीयूष गोयल और एमएस धोनी ने किया लांच
अमेजन और फ्लिपकार्ट पर दिए जा रहे छूट से बौखलाया कैट!
अमेज़न और फ्लिपकार्ट के साथ कैट की बैठक बेनतीजा
7 करोड़ व्यापारी 2 अक्तूबर से प्लास्टिक थैलों का उपयोग नहीं करेंगे - कैट...!
भारत और अफगानिस्तान का संयुक्त विश्व व्यापार मेला दिल्ली में शुरू
सरकार को अर्थ व्यवस्था को गति देने की घोषणा, शेयर बाजार को लगे पंख
जानी मानी इलेक्ट्रानिक कंपनी शार्प ने भारत में अपने नए घरेलू उत्पाद उतारा!
अमेरिका का भारत के साथ बिगड़ते व्यापारिक रिश्ते से खुद अमेरिका चिंतित
ऑटो क्षेत्र में गिरावट के लिए बीएस-६ मॉडल जिम्मेदार - वित्त मंत्री
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री प्रधान खाड़ी देशों की यात्रा पर
ऑटो क्षेत्र में मंदी की कहर, मारूति ने बंद किया उत्पादन!!
वित्त मंत्री की बड़ी घोषणा, १० बैंकों को मिलाकर बने ४ बैंक
बेहिचक पीजिए रेलनीर, गुणवत्ता और स्वास्थ्य से नहीं होता समझौता!
वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए कई उपायों की घोषणा की
डेबिट और क्रेडिट कार्ड बंद करने की तैयारी में एसबीआई
ओयो ने दिल्ली में अपने नए इनोव8 सेंटर का ऐलान किया
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.