ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

शिक्षा/संस्कृति/पर्यटन

केंद्राय मानव संशाधन मंत्री ने देश में नए नवोदय विद्यालयों का किया उद्घाटन!

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, ११ अक्टूबर २०१९

केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज नयी दिल्‍ली में वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से पांच नए जवाहर नवोदय विद्यालयों-जेएनवी और एक नेशनल लीडरशिप इंस्‍टीट्यूट का उद्घाटन किया तथा 9 नए जवाहर नवोदय विद्यालयों की आधारशिला रखी। स्‍कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग की सचिव रीना रे, नवोदया विद्यालय समिति के आयुक्‍त बिस्‍वजीत कुमार सिंह, केन्‍द्रीय विद्यालय संगठन के आयुक्‍त संतोष कुमार मल्‍ल के अलावा मंत्रालय तथा जेएनवी के कई वरिष्‍ठ अधिकारी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।


पोखरियाल ने ग्रामीण क्षेत्रों में गुणवत्‍ता युक्‍त शिक्षा उपलब्‍ध कराने के लिए नवोदय विद्यालयों की संख्‍या बढ़ाए जाने के लिए समिति के सभी सदस्‍यों को बधाई दी और उम्‍मीद जताई कि नवोदय विद्यालय अपनी शिक्षा के प्रकाश से देश के हर क्षेत्र को रौशन करेंगे। उन्‍होंने कहा कि छ नए जेएनवी का काम पूरा हो चुका है और जिन नए विद्यालयों की आधारशिला रखी जा चुकी, उनके निर्माण का काम आने वाले दो वर्षों में पूरा हो जाएगा। इनके निर्माण पर कुल 417.06 करोड़ रुपए खर्च होंगे।केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि जेएनवी विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभावान बच्‍चों को गुणवत्‍तापरक आधुनिक शिक्षा प्रदान करते हैं। ऐसी शिक्षा में सामाजिक मूल्‍य, पर्यावरण के प्रति जागरूकता, सामूहिक गतिविधियां, और शारीरिक प्रशिक्षण शामिल है। उन्‍होंने कहा कि इन स्‍कूलों की गुणवत्‍ता इस बात में परिलक्षित होती है कि इससे पढ़कर निकले कई छात्र आज अपनी प्रतिभा के दम पर भारतीय प्रशासनिक सेवा तथा मेडिकल और इंजीनियरिंग आदि के प्रतिष्ठित क्षेत्र में सफलतापूर्वक काम कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि पिछले वर्ष जेएनवी के करीब  4451 छात्र जेईई की मुख्‍य परीक्षा में,  966 छात्र जेईई की एडवांस परीक्षा में और 12654 छात्र नीट परीक्षा में सफल रहे। इसके अलावा पिछले तीन सालों में जेएनवी के 12 छात्रों को अंतरराष्‍ट्रीय विश्‍वविद्यालयों में भी दाखिला मिला।

मानव संसाधन मंत्री ने बताया कि इस समय देश में कुल 661 जेएनवी हैं जो ग्रामीण क्षेत्रो में प्रतिभावान बच्‍चों को गुणवतत्‍तापरक शिक्षा देने का काम कर रहे हैं। इन स्‍कूलों में सह शिक्षा और छात्रावास की सुविधाएं हैं। इनका संचालन नवोदय विद्यालय समिति, नोएडा अपने 8 क्षेत्रीय कार्यालयो की मदद से कर रही है। विद्यालयों के नए 37 स्‍थायी परिसरों में निर्माण कार्य  जोर-शोर से चल रहा है और 12 नए विद्यालयों परिसरों का काम वित्‍त वर्ष 2019-20 में पूरा हो जाने की उम्‍मीद है।





जरा ठहरें...
भारत अपनी प्रतिभा की लोहा मनवाने के लिए 2021 की पिसा प्रतियोगिता में हिस्सा लेगा - निशंक
नई शिक्षा नीति: मानव संशाधन विकास मंत्री की रंगराजन और श्रीधर से मुलाकात
आरुषि निशंक साल भर में १० लाख पौधारोपण करने की बात कही
कांग्रेस की शिक्षा व्यवस्था से हमारे कार्यकाल में कहीं बहुत बेहतर हुआ काम!
2020 तक IIT में छात्रों की भर्ती संख्या बढ़ाकर एक लाख करने की योजना
भारतीय पुरातत्व विभाग की नई इमारत धरोहर का उद्घाटन किया प्रधानमंत्री मोदी ने
हुमायूं के मकबरे से मिला बेशकीमती खजाना!
कुंभमेला यूनेस्को के सांस्कृतिक विरासत में शामिल, मोदी बोले गर्व की बात!
रोमानिया में पढ़ाया जाता है रामायण और महाभारत के अंश
कौन है आज का प्रेमचंद? हिंदी साहित्य का अमर साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद
रामचरित मानस की दुर्लभ प्राचीन पांडुलिपि बरामद
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.