ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

कारोबार-समाचार

देश भर के व्यापारी दिवाली पर भी कर रहे आर्थिक मंदी का सामना

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, २७ अक्टूबर २०१९

दिवाली जैसे बड़े त्यौहार की गहमागहमी इस बार देश भर के बाज़ारों में कहीं भी देखने को नहीं मिल रही है और सभी प्रकार के व्यापारों में गहरी मंदी छाई हुई है। आज धनतेरस के त्योहारी दिन व्यापारियों ख़ास तौर पर सोना चांदी, बर्तन, किचन इक्विपमेंट्स, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम्स के व्यापारियों को आज व्यापार में खासी बढ़ोतरी की सम्भावना थी लेकिन देश भर में व्यापार आज भी बेहद सुस्त रहा और ग्राहकों की कमी बेहद दिखाई दी। कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) की गोल्ड एंड ज्वेलरी कमेटी के चेयरमैन पंकज अरोरा ने आज देश भर के विभिन्न बाज़ारों के व्यापारियों से बातचीत के आधार पर कहा की पिछले साल के मुकाबले आज सोना चांदी के व्यापार में लगभग 35 से 40 प्रतिशत के व्यापार की गिरावट दर्ज़ की गई जो बेहद चिंतनीय है।


फाइल फोटो।

देश भर के सोना चांदी के बाज़ारों में ग्राहक बेहद कम रहे और केवल शगुन के रूप में ही लोगों ने नाम मात्र का सोना चांदी ख़रीदा। आज धनतेरस के दिन जो की सोना चांदी की खरीदी के लिए बेहद शुभ माना जाता है पर भी बेहद मंदी ने देस्ग के सभी बाज़ारों की कमर तोड़ कर रख दी है। पिछले साल सोने के भाव रूपए 32500 प्रति दस ग्राम था जबकि आज सोने का भाव रुपये 39500 प्रति दस ग्राम रहा वहीँ चांदी का भाव पिछले वर्ष रुपये 39000 किलो था जबकि आज चांदी का भाव रुपये 48000 प्रति किलो रहा। पिछले वर्ष धनतेरस के दिन लगभग 17 हजार किलो के सोने की बिक्री हुई थी जिसकी कीमत लगभग 5500 करोड़ थी जबकि आज देश भर में लगभग 6 हजार किलो का व्यापार हुआ जिसकी कीमत लगभग 2500 करोड़ है। सरकार ने चार महीने पहले सोने के आयात शुल्क में वृद्धि की है तबसे देश में सोने का व्यापार पूरी तरह ठप्प है ! हर वर्ष लगभग 900 टन सोना इम्पोर्ट होता है जबकि इस साल अभी तक केवल 400 टन सोना ही इम्पोर्ट हुआ है। आयात शुल्क में वृद्धि होने के बाद अवैध व्यापार तेजी से बढ़ा है जिसके कारण ईमानदारी से व्यापार करने वाले व्यापारी बेहद परेशान है।

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया की कमोबेश यही हाल बर्तन, किचन इक्विपमेंट और इलेक्ट्रॉनिक्स के व्यापार में हुआ। इन वस्तुओं में भी पिछले साल के मुकाबले आज लगभग 40 प्रतिशत व्यापार की गिरावट रही ।धनतेरस पर इन वस्तुओं की खरीदी भी बेहद शुभ मानी जाती है और सभी वर्गों के लोग अपनी स्तिथि के अनुसार इन वस्तुओं की खरीद धनतेरस पर अवश्य करते हैं लेकिन आज धनतेरस के दिन पूरे देश में इन वस्तुओं की भी कोई ख़ास कारोबारी न होने से दिवाली को उत्साह व्यापारियों में अब लगभग ख़त्म ही हो गया है।


सही अर्थों में इस बार जिस प्रकार से अनैतिक व्यापार का सहारा लेकर ऑनलाइन कंपनियों ने देश के व्यापारियों की कमर तोड़ी है और बाज़ार में नकद की तरलता बेहद कम है , इसके कारण इस वर्ष व्यापारियों के लिए दिवाली त्यौहार का कोई मतलब ही नहीं रह गया है। भरतिया एवं खंडेलवाल ने कहा की यदि समय रहते सरकार ने देश के रिटेल व्यापार की और ध्यान नहीं दिया और आवश्यक कदम नहीं उठाये तो देश के रिटेल व्यापार बुरी तरह पस्त हो जाएगा जिसका सीधा प्रभाव देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा।




जरा ठहरें...
कैट ने बहुराष्ट्रीय एवं रीटेल कम्पनियों के उत्पादों के बहिष्कार की धमकी दी
इस बार दिवाली पर चीनी वस्तुओं की बिक्री 60 प्रतिशत घटी - कैट
टीम कैशलेस अभियान का पीयूष गोयल और एमएस धोनी ने किया लांच
अमेजन और फ्लिपकार्ट पर दिए जा रहे छूट से बौखलाया कैट!
अमेज़न और फ्लिपकार्ट के साथ कैट की बैठक बेनतीजा
दिवाली निकट है लेकिन बाजार से ग्राहक गायब - कैट
7 करोड़ व्यापारी 2 अक्तूबर से प्लास्टिक थैलों का उपयोग नहीं करेंगे - कैट...!
भारत और अफगानिस्तान का संयुक्त विश्व व्यापार मेला दिल्ली में शुरू
सरकार को अर्थ व्यवस्था को गति देने की घोषणा, शेयर बाजार को लगे पंख
जानी मानी इलेक्ट्रानिक कंपनी शार्प ने भारत में अपने नए घरेलू उत्पाद उतारा!
अमेरिका का भारत के साथ बिगड़ते व्यापारिक रिश्ते से खुद अमेरिका चिंतित
ऑटो क्षेत्र में गिरावट के लिए बीएस-६ मॉडल जिम्मेदार - वित्त मंत्री
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री प्रधान खाड़ी देशों की यात्रा पर
ऑटो क्षेत्र में मंदी की कहर, मारूति ने बंद किया उत्पादन!!
वित्त मंत्री की बड़ी घोषणा, १० बैंकों को मिलाकर बने ४ बैंक
बेहिचक पीजिए रेलनीर, गुणवत्ता और स्वास्थ्य से नहीं होता समझौता!
वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए कई उपायों की घोषणा की
डेबिट और क्रेडिट कार्ड बंद करने की तैयारी में एसबीआई
ओयो ने दिल्ली में अपने नए इनोव8 सेंटर का ऐलान किया
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.