ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

आर्डर देने के बावजूद प्याज लौटाई गई - विजेन्द्र गुप्ता

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली

५ नवंबर २०१९

भाजपा नेता विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि पिछले तीन महीनों के दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल के राजनीतिक प्रपंच के चलते आम आदमी की रसोई में रोजमर्रा प्रयोग होने वाली प्याज 80-100 रूपये के रिकोर्ड दाम पर बिक रही है। केन्द्र सरकार के बार-बार निवेदन के बावजूद मुख्यमंत्री अपने राजनीतिक खेल में इतनी बुरी तरह मशगूल रहे कि उन्होंने प्याज का बफर स्टाक नहीं बनाया और केन्द्र द्वारा सप्लाई की जाने वाली प्याज लोटा दी। उन्हें राजनीतिक दुर्भावना के चलते आम जनता के घरेलू बजट का ध्यान नहीं रहा। इस अवसर पर विधायक जगदीश प्रधान, पूर्व विधायक अनिल बाजपेई और मीडिया प्रमुख अशोक गोयल देवराहा उपस्थित थे।

विजेन्द्र गुप्ता ने खुलासा किया कि केन्द्र सरकार ने आज दिल्ली सरकार को भेजे गए पत्र में इस बात पर खेद व्यक्त किया कि दिल्ली सरकार ने केन्द्र सरकार के बार-बार कहने पर भी प्याज के दामों पर अंकुश लगाने के लिए बफर स्टाॅक नहीं बनाया। भारत सरकार के कन्ज्यूमर अफेयर मंत्रालय के इकोनोमिक एडवाइजर ने दिल्ली सरकार को आज लिखे गए पत्र में यह भी बताया कि 4 अक्टूबर, 2019 को भेजा गया सप्लाई आर्डर अचानक रोक दिया गया। सरकार ने कारण बताया कि उसके पास पहले ही काफी स्टाक है।

प्याज का भारी संकट होने पर दिल्ली सरकार ने 9 अक्टूबर, 2019 को केन्द्र सरकार को प्याज की सप्लाई के लिए कहा। केन्द्र ने दिल्ली राज्य नागरिक आपूर्ति निगम को महाराष्ट्र में अपनी टीमें भेजने के लिए लिखा। परन्तु केजरीवाल सरकार ने मात्र दो अधिकारी ही भेजे। यह इस बात की सहमति थी कि इन अधिकारियों के सिफारिश को दिल्ली सरकार स्वीकार करेगी।
परन्तु इसके बावजूद भी सरकार ने प्याज की डिलीवरी लेने से मना कर दिया। इसके कारण प्याज को अन्य माध्यमों से बिक्री के लिए भेजना पड़ा। स्पष्ट है कि आपरेशन प्याज में केजरीवाल सरकार का रवैया अत्यन्त असहयोगपूर्ण रहा।

विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि इस दौरान केजरीवाल सरकार ने करोड़ों रूपए सस्ती प्याज वितरित करने के नाम पर फूंककर आम जनता की आंखों में धूल झोंकी। सरकार प्याज के आसमान छूते दाम और उसकी चरमराई वितरण व्यवस्था से बेअसर रही। प्याज के ऊंचे दामों के कारण आम नागरिक के आंखों में आंसू आते रहे और दिल्ली सरकार बनावटी संकट पैदा कर अपनी राजनीतिक रोटियां सेक रही है। सरकार ने जिन 70 मोबाइल वैनों और 400 दुकानों के माध्यम से 23.90 रूपये किलो प्याज बेचने का वायदा किया था वे नदारद हैं।

पिछले एक महीने से न ही वैन और न ही किसी दुकान के माध्यम से जनता को प्याज पहुंची है। दिल्ली सरकार ने खुद ही सप्लाई बंद करने को लिखा और स्टाॅक को वापस लेने के लिए कहा। केजरीवाल के इस प्रपंच के चलते आम नागरिक बाजार से महंगी प्याज खरीदने को मजबूर रहे हैं।









जरा ठहरें...
केजरीवाल लोगों को बीमारियां बांट रहे हैं - भाजपा
राफेल पर क्लिीन चिट, शाह ने कहा राहुल मांगे मांफी
अनधिकृृत कलोनियों के लोगों को मिलेगा मालिकाना हक
यमुना खादर की 11 झीलों का होगा विकास – मनोज तिवारी
दिल्ली में प्रदूषण का स्तर फिर बहुत खराब हुआ
केजरीवाल ने दबाव में की स्कूलों की छुट्टियां - तिवारी
केंद्र के मंत्रियों का काम कमेडी करने का नहीं है - प्रियंका गांधी
मकान बनाने वालों का ऑनलाइन होगा घरों का नक्शा पास - विजय गोयल
बिहार पीड़ितों के लिए दिल्ली से राहत सामग्री भेजेगी भाजपा
केजरीवाल ने रेहड़ी - पटरी वालों से वादा करके धोखा दिया-मनोज तिवारी
शिक्षक दिवस के मौके पर सोनिया गांधी ने बधाई दी
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.