ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

निर्भया के भाई की मदद में जुटे राहुल गांधी!

नई दिल्ली

4 अक्टूबर 2017

16 दिसंबर, 2012 की रात दक्षिणी दिल्ली में सामूहिक दरिंदगी झेलने के 13वें दिन सिंगापुर में इलाज के दौरान दुनिया से रुखसत होने वाली निर्भया का भाई  अपने सपनों की उड़ान के लिए राहुल गांधी का शुक्रगुजार है। निर्भया के पिता बद्रीनाथ सिंह ने आईएएनएस को बताया, "इस बात में सौ फीसदी सच्चाई है कि मेरे बेटे के सपनों को पूरा करने में राहुल जी की बड़ी भूमिका है। वह लगातार हमसे बात कर रहे थे, करियर को लेकर बेटे को प्रोत्साहित कर रहे थे।


अब पता चला है कि अकीडो में ब्लैक बेल्ट यह गांधी निर्भया के भाई के सपनों को पूरा करने में लगे हैं। निर्भया के घर वाले कहते हैं वह कभी घर तो नहीं आए, लेकिन फोन करते रहे हैं। उनकी सलाह से बेटे ने रायबरेली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान एकेडमी में दाखिला लिया, किसी के लिए इससे बड़ी मदद क्या हो सकती है?" ऐसी कई मीडिया रिपोर्टे हैं, जिसमें कहा गया है कि राहुल गांधी ने निर्भया के भाई को पायलट बनाने में आर्थिक मदद भी की है, लेकिन निर्भया के पिता इससे इनकार करते हुए कहते हैं, "वह सिर्फ हमारे बेटे की हौसलाअफजाई करते थे, उन्हें सही मार्गदर्शन देते थे कि उसे क्या करना चाहिए। करियर को लेकर वह अमूमन फोन करते, कई बार हम उनसे जाकर भी मिले, लेकिन उन्होंने हमारी आर्थिक तौर पर मदद नहीं की।" निर्भया की मां आशा देवी ने बताया, "जब बेटा रायबरेली में प्रशिक्षण ले रहा था, तब भी राहुल गांधी उसे फोन कर करियर पर फोकस करते रहने को कहते थे। उन्हें भला हमसे क्या मिलेगा, लेकिन वह नि:स्वार्थ भाव से मदद किए जा रहे हैं। मेरे बेटे को पायलट बनाने में उन्हीं का रोल है।"

राहुल गांधी को वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में देखा जा रहा है। उनके व्यक्तित्व में यकायक आई परिपक्वता और देश के भावी प्रधानमंत्री के रूप में देखे जाने के सवाल पर बद्रीनाथ कहते हैं, "यह एक राजनीतिक सवाल है, मुझे नहीं लगता कि मुझे इसका जवाब देना चाहिए, लेकिन जिस तरह से उन्होंने हमारी मदद की, मेरे बेटे को सही दिशा दिखाई, उससे उनके गंभीर व्यक्तित्व का पता चलता है।"


हाल के दिनों में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी बदले-बदले से नजर आ रहे हैं। उनका राजनीतिक मिजाज बदला है और अब वह खुद को मंझे हुए नेता के तौर पर साबित करने में बड़े शिद्दत से लगे हुए हैं। वह पहले से कहीं अधिक बेबाक हो गए हैं, उनकी राजनीति का ढंग अब जनता को लुभाने लगा है। उनके व्यक्तित्व के नए पहलू रोजाना सामने आ रहे हैं।


आशा देवी कहती हैं, "एक अच्छा नेता वही होता है, जो नि:स्वार्थ भाव से जनता की सेवा करे। हमारी मदद कर उनका कोई राजनीतिक लाभ तो नहीं हो रहा, लेकिन वह इतने वर्षो से हमारी मदद कर रहे हैं। हम उनका कोई वोट बैंक तो नहीं हैं।" साथ में समाचार एजेंसी साभार।


जरा ठहरें...
गुजरात चुनावों के बाद संसद का शीत सत्र होगा!
रेलवे को और बजट की जरूरत नहीं - गोयल
फोर्टिज अस्पताल की अंधेरगर्दी से बच्ची की मौत, नड्डा ने मांगा जवाब!
सुविधा के नाम पर रेलवे ने फिर लादी आम लोगों पर किराए की बोझ
देश में स्टील कार्गो की शुरूआत, आद्योगिक विकास को मिलेगा बढ़ावा - गड़करी
रेल गाड़ियों की रफ्तार बढ़ाया जा रहा है, दो घंटे पहले पहुंचेगी अब!
शाह के बेटे की संपत्ति एक साल में १६ हजार गुना बढ़ी -कांग्रेस
थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़, की पक्की ख़बर, गुजरात चुनाव 16 दिसंबर तक खत्म हो जाएंगे!
अमित शाह के बेटे का नाम आने के बाद कांग्रेस ने शाह से मांगा इस्तीफा
सिन्हा की आलोचना से तिलमिला उठी भाजपा, कांग्रेस की भौहें खिली!
पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में पिछले तीन सालों में भयानक वृद्धि
कांग्रेस ने कहा बुलेट ट्रेन का समझौता 2013 में ही हुआ था, मोदी देश को बरगला रहे हैं!
2019 की टीम मोदी तैयार हो चुकी है, जानिए अब कौन क्या है?
कसौटी पर खरी नहीं उतर रही है देश की सबसे लंबी सुरंग
19 साल बाद भी रेल हादसे का मुआवजा वही है!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें