ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

अपराध जगत

पत्रकार को अपनी ही जगह पर नहीं बनाने दिया जा रहा शौचालय
पुलिस ने पत्रकार को ही २४ घंटे थाने में रखा बैठाकर, विरोधी के खिलाफ अभी तक कार्रवाई नहीं

मनीष श्रीवास

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, २९ फरवरी २०२०

राजधानी लखनऊ से लगे जिला रायबरेली के तहत आने वाले थाना क्षेत्र सरेनी का मामला है। अपने घर में शौचालय बनाने के विवाद को लेकर थाने में नहीं लिखी गई पीड़ित की एफ आई आर। तब इस घटना की जाँच पड़ताल करने थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ संवाददाता ने इस घटनाक्रम की जानकारी चाही तो चौकी प्रभारी भोजपुर घनश्याम सिंह  ने जानकारी बताने से मना कर दिया। इस घटनाक्रम को लेकर कुछ लापरवाही सामने आने पर मीडिया की टीम ने जब इस की तहतक पहुंच कर जाना कि जिस जगह पर शौचालय का निर्माण किया जाना था ।


वह जगह पीड़ित व्यक्ति राम लखन पिता बजरंगी की जगह पर ही बन रही थी।
लेकिन उसी गांव के रहवासी शिवशंकर दुबे पिता राममनोहर दुबे ने जा कर पीड़ित परिवार के घर में घुसकर गाली गलौज व जान से मारने की धमकियां दी। रामलखन को शिवशंकर दुबे ने कहा कि तेरी हेकड़ी निकाल दूँगा । इस बात को लेकर काफी देर तक कहा सुनी हुई और उसके बाद रामलखन ने डायल 100 को सूचित किया कि मेरे गाँव में जगन्नाथपुर के शिवशंकर दुबे मेरे से मारपीट कर रहे हैं और मैं जो अपनी जगह पर शौचालय निर्माण करना चाहता हूँ तो बात विवाद कर लड़ाई करने लगते हैं। इस तरह 22 फरवरी को सरेनी थाने में रामलखन को बैठाकर रखा गया । जिसकी जानकारी जिला राबरेली एस पी व एडीशनल एस पी को फोन पर सूचना दी गई । जिस पर ADN एस पी नितरंजन राय ने थाना प्रभारी को बताया कि इस घटना की जाँच पड़ताल सही तरीके से कर मुझे जानकारी दें। घटना की जाँच चौकी प्रभारी भोजपुर घनश्याम सिंह को दी गई। पीडित रामलखन जो कि थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ चैनल में कार्यरत हैं जिनको पुलिस ने धारा 154 की कायमी दर्ज कर पूरे दिन व रात को पुलिस थाने में में बैठाये रखा। वही विवाद करने वाले सख्त के साथ इस घटित घटना को रफा दफा करने की तैयारी हो रही थी ।

लेकिन ADN एसपी के फोन के बाद इस घटना को संज्ञान में लेकर शिवशंकर दुबे को भी थाने में बैठाया गया। देर रात में एफआईआर दर्ज करनी पड़ी। जब कि कानूनी प्रक्रिया है कि जब तक कोई भी जाँच पड़ताल पूरी नहीं हो पाती तब तक किसी को भी अपराधी नहीँ बनाया जा सकता हैं । इस घटना को लेकर पुलिस जाँच अधिकारी घनश्याम सिंह को तहसीलदार, आर आई, एवं पटवारी को लेकर करनी चाहिए थीं ।


लेकिन उन्होंने जरूरी नहीं समझा जबकि इस प्रकार की समस्या को लेकर पीड़ित परिवार ने पहले से ही कई शिकायतें लिखित में थाना सरेनी से लेकर जिला मुख्यालय तक लगा कर रखी हुई थी । फिर भी इस तरह की परेशानी उसी पीड़ित को उठानी पड़ रही हैं ।




जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.