ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

खेल-खिलाड़ी

केंद्र सरकार ने पोटाश खाद की कीमतों में की भारी कटौती

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, १६ मई २०२०

इंडिया पोटाश लिमिटेड (आईपीएल) ने पोटाश म्यूरिएट की मौजूदा कीमत 19000 रुपये प्रति मीट्रिक टन से घटाकर 17500 प्रति मीट्रिक टन करने का फैसला किया है, यानी प्रति बैग 75 रुपये की कमी। घटी हुई कीमत 18 मई 2020 से प्रभावी होगी।

पोटाश म्यूरिएट, जिसे पोटेशियम क्लोराइड के रूप में भी जाना जाता है, पौधे के विकास और गुणवत्ता के लिए आवश्यक है। यह प्रोटीन और शर्करा के उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह पौधों में नमी को बनाये रखने में मदद करता है और इस प्रकार पौधे को सूखे से बचाता है। यह प्रकाश संश्लेषण प्रक्रिया के लिए फायदेमंद है क्योंकि पत्तियां अपने आकार और शक्ति को बनाए रखती हैं।

कंपनी ने कहा है कि किसानों के हित के लिए यह कटौती पिछले एक साल में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये के काफी कमजोर होने और एमओपी पर सरकार की सब्सिडी में 604 रुपये प्रति एमटी के कमी के बावजूद की गई है। सब्सिडी में कमी 1 अप्रैल, 2020 से प्रभावी हो गयी है।

इंडिया पोटाश लिमिटेड (आईपीएल) के एमडी डॉ पीएस गहलौत ने कहा कि हम मानते हैं कि इस कदम से उर्वरकों का संतुलित उपयोग होगा, जो भारत सरकार द्वारा किसानों को उर्वरकों पर लागत कम करने और कृषि उत्पादन को बढ़ाने के लक्ष्य की पूर्ति करने का एकमात्र तरीका है। उन्होंने कहा कि कंपनी हमेशा उर्वरकों के वैज्ञानिक और विवेकपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देने के पक्ष में रहती है।

केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री श्री डी वी सदानंद गौड़ा ने समय की जरूरत को ध्यान में रखते हुए किसानों की सहायता के लिए उठाये गए इस बड़े कदम के लिए डॉ पीएस गहलौत और आईपीएल प्रबंधन को बधाई दी। उन्होंने कहा, "कोविड -19 की अवधि के दौरान एमओपी की कीमत में कटौती से किसानों को विशेष रूप से सीमांत और छोटे किसानों को काफी फायदा होगा। कम लागत से कृषि उत्पादन में वृद्धि होगी और किसानों की आय में को समर्थन मिलगा।"








जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.