ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

देश एवं राजनीति

"एक दिन ऑक्साईचीन और पीओके हमारा होगा"

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, ७ जून २०२०

भाजपा के वरिष्ठ नेता और कभी आरएसएस के प्रवक्ता रहे राम माधव ने कहा है कि आक्साईचीन और पीओके एक दिन हमारा होगा। राम माधव का यह बयान उस समय आया है जब लद्दाख में चीन ने घुसपैठ करने की कोशिश की है और सरहद के पास अपनी फौज तैनात कर रखी है जिसको लेकर चीन और भारत के बीच इन दिनों तनाव काफी बढ़ा हुआ है। राम माधव ने कहा कि अक्साइ चीन हमारा है, ये बात 1963 में नेहरू जी ने संसद में कही थी। तब से हम इस बात को भूले नहीं हैं, लेकिन रोज वहीं बात बार-बार नहीं कह रहे हैं।


उन्होंने ये भी कहा कि इसी तरह पीओके भी हमारा है और 1994 में नरसिम्हा राव ने तो संसद में इसे लेकर सर्वसम्मति से प्रस्ताव भी पेश किया था। देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी कई मौकों पर ये बात कह चुके हैं कि पीओके भारत का है। अगर बात की जाए पीओके और अक्साइ चीन पर कब्जा करने की तो इस पर राम माधव ने जम्मू कश्मीर की धारा 370 का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसा नहीं लगता था कि उनकी आंखों के सामने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाई जा सकती है, लेकिन वह हट गई है। उन्होंने कहा कि वक्त आता है तो जो होना है वो हो जाता है। पीओके और अक्साइ चीन भी हमारा होगा, जब वक्त आएगा। हालांकि, उन्होंने ये नहीं बताया कि वह वक्त कब आएगा ना ही कोई संकेत दिया।

चीन की बदनीयती को देखकर और तनातनी के बीच भारत में लोगों के बीच ये भावना भी पैदा हो गई है कि चीन के सामान का बहिष्कार करना है। इसी बीच बीजेपी के महासचिव राम माधव ने एक टीवी चैनल पर सीमा पर तनाव को लेकर कुछ बातें कहीं हैं, जिसके दौरान ये भी साफ कर दिया कि पीओके और अक्साइ चीन हमारा है और जब सही वक्त आएगा तो वह हमारे कब्जे में भी होगा। चीन को लेकर इन दिनों भारत में लोग कह रहे हैं कि चीन के सामान का बहिष्कार करो, जिस पर राम माधव ने कहा कि ये सिर्फ जनता के मन की भावना है।


राम माधव ने कहा है कि सरकार ने ऐसा कोई आदेश या बयान नहीं दिया है। साथ ही उन्होंने अमेरिका के प्यू रिसर्च सेंटर का हवाला देते हुए कहा कि उसकी एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के अधिकतर लोकतांत्रिक देशों में जनता में एक गुस्सा है, क्योंकि किसी को भी चीन की आक्रामक रवैया वाली नीति पसंद नहीं आ रही है। इसकी वजह से चीन को लोग अब कम पसंद करने लगे हैं, जिस पर खुद चीन को सोचने की जरूरत है। राम माधव ने पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत वाले आग्रह को भी स्पष्ट किया और कहा कि आत्मनिर्भर भारत होना चाहिए, ताकि अर्थव्यवस्था भी आत्मनिर्भर बने।




जरा ठहरें...
सर्वोच्च न्यायालय ने कृषि विधेयक के लागू होने पर लगाई रोक, गठित की समिति
गाँव और कृषि आत्मनिर्भर व्यवस्था के दो मज़बूत आधार: नरेंद्र सिंह तोमर
कृषि विधेयक पास: प्रधानमंत्री बोले किसानों तक तकनीकि पहुंचने में आसानी होगी
हरिबंश दोबारा बने राज्यसभा के उपसभापति
भविष्य में हमारे जवान शहीद न हों इसके लिए देश को शक्तिशाली बनाना होगा – सत्य बहुमत पार्टी
लॉकडाऊन करने से पहले सरकार ने सभी परिस्थितियों पर विचार नहीं किया - सत्यदेव चौधरी
वॉपकॉस ने 1110 करोड़ रुपये की अब तक सर्वाधिक आय अर्जित की!
रेल इंजीनियरिंग की अद्भुत रचना है दुनिया का सबसे ऊंचा पुल
देश की सबसे बड़ी सुरंग देश को समर्पित, प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.