ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

विज्ञान एवं रक्षा तकनीकि

चीन की हर गतिविधि पर है भारतीय खुफिया उपग्रह की नज़र...!

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, 26 जुलाई 2020

चीन और भारत के बीच चल रहे तनातनी के बीच भारत ने भी चीन की हर गतिविधि पर नजर ऱखनी शुरू कर दी है। सूत्रों के मुताबिक भारत ने चीन की सैनिक गतिविधियों पर नज़र रखने के लिए अपने खुफिया उपग्रह को लगा दिया है। दरअसल, भारत का एक जासूस सैटलाइट हाल ही में चीन के कब्जे वाले तिब्बत के ऊपर से गुजरा है। सूत्रों के मुताबिक सैटलाइट ने अच्छी खासी जानकारी जुटाई है। इसी के बाद से चीन में हड़कंप मच गया है। (डीआरडीओ) का यह सैटलाइट EMISAT इंटेलिजेंस इनपुट जुटाने का काम करता है। इसमें एक ELINT यानी इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सिस्टम 'कौटिल्य' लगा हुआ है, जिसकी खूबी है कि वह रक्षा क्षेत्र की अहम जानकारियां जुटा सकता है।


एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि यह सैटलाइट हाल में अरुणाचल प्रदेश के पास स्थित तिब्बत के उस हिस्से के ऊपर से गुजरा है, जो तीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के कब्जे में है। सूत्रों के मुताबिक, चीन ने डेप्सांग सेक्टर में भी अपने सैनिक जुटाए हैं। चीनी सैनिकों को एलएसी के पास गड्डा खोदते देखा जा सकता है। इससे पहले पीएलए ने 2013 में भी डेप्सांग में घुसपैठ की थी। शुक्रवार को सूत्रों ने बताया कि भारत के रेडार सैटलाइट RISAT-2BR1 चीन के पीप्लस लिबरेशन आर्मी नेवी (पीएलएएन) के जिबूती बेस (अफ्रीका) के ऊपर से गुजरा था। जिबूती नेवी बेस चीन का इकलौता ऐसा बेस है, जो देश के बाहर है। हाल ही में ऐसी खबरें भी आई थीं कि चीन ने जिबूती के पास अपने तीन युद्धपोत तैनात किए हैं। इससे पहले भी भारत के सैटलाइट EMISAT के ELINT ने पाकिस्तान नेवी के ओर्मारा बेस (जिन्ना नवल बेस) के ऊपर चक्कर लगाया था।
इस बेस के बारे में कहा जाता है कि यहां चीन के सहयोग से पाकिस्तान ने सबमरीन जुटा रखी हैं। हालांकि, भारत और चीन के बीच वार्ता जारी है लेकिन ऐसी आशंका जताई जा रही है कि पाकिस्तान और चीन मिलकर आगामी सर्दियों तक भारत के खिलाफ कश्मीर और लद्दाख में दोहरी लड़ाई की तैयारी कर रहे हैं।

भारत ने चीन को उसी की चाल से घेरा है तो चीन एकदम बिलबिला पड़ा है और उसने अपनी सेना जुटानी शुरू कर दी है। इसरो के बनाए EMISAT का ELINT सिस्टम दुश्मन के क्षेत्र में ट्रांसमिशन के लिए इस्तेमाल होने वाले रेडियो सिग्नल्स को पढ़ लेता है। लद्दाख में पैंगोंग सो के फिंगर 4 को लेकर हुई भारत-चीन की बातचीत के बेनतीजा होने के एक ही दिन बाद यह सैटलाइट गुजरने से चीन में हड़कंप मच गया है। हालांकि, अभी दोनों देश लद्दाख विवाद पर और वार्ता करने को तैयार हैं।





जरा ठहरें...
चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सी. डी. एस.) पद-स्थापना की प्रथम वर्षगांठ
भारतीय वायुसेना में शामिल होंगे 83 तेजस लड़ाकू विमान, 48 हजार करोड़ का सौदा
पाकिस्तान, चीन मिलकर भारत के लिए खतरा: जनरल नरावणे
भारत ने मीडियम रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल का सफल परीक्षण किया
देश ने मनाया विजय दिवस, शहीदों को दी श्रद्धांजलि
हम हर चुनौती से निपटने के लिए तैयार हैं – एडमिरल करमबीर सिंह
ब्रह्मोस का पराक्रम: नौसेना के युद्ध पोत से किया सफल परीक्षण...!
इसरो का पराक्रम: EOS01 के साथ दूसरे देशों के 9 उपग्रहों को किया लॉन्च
चीन सीमा से सटे, बीआरओ ने तैयार किए रिकार्ड समय में 45 पुल...!
भारत ने आज "रूद्रम" का सफल परीक्षण किया
भारत ने ब्रह्मोस मिसाइल के श्रेष्ठ वर्जन का सफल परीक्षण किया
भारतीय सेना ने उतारी अपनी आर्म्ड रेजीमेंट
"मिसाइल" के लिए डीआरडीओ ने "अभ्यास" का किया सफल परीक्षण!
भारत और चीन के बीच स्थिति विस्फोटक…! टैंक, मिसाइल, तोप, युद्धक विमानों ने कसी कमर!
प्रधानमंत्री के इशारा करते ही तेजस ने पश्चिमी मोर्चे को संभाला
दुश्मन के खिलाफ मोर्चा संभालने के लिए राफेल ने कसी कमर...!
राफेल को और शक्तिशाली बनाने के लिए भारत ने हैमर मिसाइलों की खरीदारी के दिए आदेश
सीमा क्षेत्रों में निर्माण परियोजनाओं में चीनी मशीनों के उपयोग पर प्रतिबंध लगे – कैट
चीन के साथ तनातनी के बीच भारत ने 38 हजार करोड़ के हथियारों की खरीद की मंजूरी दी
नौसेना द्वारा विकसित पीपीई सूट ‘नवरक्षक’ निजी कपंनी को हस्तांतरित की गयी
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.