ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

खेल-खिलाड़ी

सरकार ने प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में योगासन को दिया मान्यता

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, 17 दिसंबर 2020

आयुष मंत्रालय और युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय नेआज एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में योगासन को एक प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में औपचारिक मान्यता देने की घोषणा की।केन्द्रीय आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीपद नाइक और युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरेन रिजिजू ने नई दिल्ली में संयुक्त प्रेस वार्ता आयोजित की। प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए, नाइक ने योगासन प्रतियोगिताओं को भारतीय योग परंपरा का हिस्सा बताया, जहां सदियों से ऐसी प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती रही हैं।उन्होंने कहा कि आज भी कई स्तरों पर ऐसी प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही है। लेकिन प्रतियोगिताओं को राष्ट्रीय पटल पर उभरने के लिए मजबूत और दीर्घकालिक स्वरूप का सामने आना बाकी है।


उन्होंने आगे कहा कि योगासन को प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में मान्यता देने का सरकार का फैसला योग क्षेत्र के हितधारकों के साथ 3-4 साल के व्यापक विचार-विमर्श के बाद लिया गया है। मंत्री ने कहा कि योगासन योग का एक अभिन्न और महत्वपूर्ण अंग है, जो सामाजिक मनोविज्ञान की प्रकृति है और फिटेनसव सामान्य स्वास्थ्य में अपनी प्रभावकारिता के लिए दुनिया भर में लोकप्रिय है। उन्होंने आगे कहा कि "योगासन के एक खेल बनने से, नई तकनीकें और नई रणनीतियां अनुशासित रूप से शामिल होना सुनिश्चित होगा, जिससे हमारे खिलाड़ियों और अधिकारियों को इस क्षेत्र में बेहतर करियर बनाने का लाभ मिलेगा इस अवसर पर मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए श्री किरेन रिजिजू ने कहा कि योगासन को खेलों के रूप में मान्यता मिलने से जो प्रतिस्पर्धा पैदा होगी, उससे दुनिया भर के लोगों में योग के प्रति रुचि बढ़ेगी।उन्होंने यह भी कहा कि दोनों मंत्रालय योगासन को एक प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में स्थापित करने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं।उन्होंने आगे कहा कि हम योगासन को खेलो इंडिया और यूनिवर्सिटी गेम्स में एक खेल के रूप में शामिल करने की योजना बना रहे हैं और हम इसे राष्ट्रीय खेलों का भी हिस्सा बनाएंगे लेकिन किसी भी खेल का लक्ष्य और उद्देश्य ओलंपिक खेलों में शामिल होना है और यह एक लंबी यात्रा की शुरुआत है।

रिजिजू ने यह भी कहा कि योग एक बहुत ही सुंदर, आकर्षक और लोकप्रिय खेल बनने जा रहा है। इस दौरान आयुष सचिव ने एक प्रस्तुति दी जिसमें बताया गया कि योगासन के खेल की प्रतियोगिताओं के लिए 4 स्पर्धाओं और 7 श्रेणियों में 51 पदक प्रस्तावित किये जा सकते है।पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए प्रस्तावित कार्यक्रमों में पारंपरिक योगासन, कलात्मक योगासन (एकल), कलात्मक योगासन (युगल), लयबद्ध योगासन (युगल), मुक्त प्रवाह/समूह योगासन, व्यक्तिगत ऑल राउंड- चैम्पियनशिप और टीम चैम्पियनशिप शामिल हैं।





जरा ठहरें...
इंटर रेलवे, रेलवे सुरक्षा बल कुश्ती चैंपियनशिप - 2022 का आयोजन
भारतीय स्टेट बैंक, दिल्ली मंडल द्वारा अंतर-मंडलीय क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन
स्पीहा इंटरनेशनल ड्रॉइंग एंड पेंटिंग प्रतियोगिता-2021 के विजेताओं की घोषणा
भारतीय स्टेट बैंक, दिल्ली मंडल ने अंतर मंडल हॉकी टूर्नामेंट की मेजबानी की
अवनि लेखरा दो पैरालंपिक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं
भारत ने 100 साल बाद स्वर्ण पदक जीतकर देश के ख्वाब को पूरा किया
अब खेल रत्न पुरस्कार हॉकी के जादूगर ध्यान चंद के नाम पर
टोक्यो ओलंपिक में फतेह हासिल करने के लिए भारतीय दल टोक्यो पहुंचा
ABVP द्वारा अरुणा घोष स्टेडियम में मैराथन दौड़ का आयोजन
भारत ने रचा इतिहास
“सचिन बताएं उनके लिए धन बड़ा या देश, होगा उनके खिलाफ प्रदर्शन”
आईपीएल के प्रायोजक के रूप में ड्रीम 11 को चुनने पर कैट ने गांगुली से जताया रोष
धोनी के सन्यास का फैसला धोनी पर छोड़ दें - धवन
दिल्ली की उभरती बाक्सिंग सितारा है ‘खनक’ स्वर्ण पदक जीतकर किया नाम रोशन
दिल्ली में सिक्ख खेल 22 दिसंबर से 3 हजार खिलाड़ी लेंगे हिस्सा!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.