ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

देश एवं राजनीति

गाँव और कृषि आत्मनिर्भर व्यवस्था के दो मज़बूत आधार: नरेंद्र सिंह तोमर

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, 21 दिसंबर 2020

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि कृषि क्षेत्र को उन्नत व रोजगारोन्मुखी बनाने में विभिन्न सरकारी योजनाएँ, नई शिक्षा नीति और नए कानूनी रिफ़ार्म्स महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। कृषि क्षेत्र को मजबूती प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लिए गए नीतिगत-निर्णयों, लाखों-करोड़ की फंडिंग वाली योजनाओं, कानूनी रिफ़ार्म्स (जिसके अंतर्गत किसान अब अपनी उपज को उचित कीमत और मनचाहे स्थान पर बेच सकते हैं) और कांट्रेक्ट फ़ार्मिंग का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इससे कृषि क्षेत्र और अर्थव्यवस्था को संबल मिला है। मंत्री ने जलवायु अनुकूल खेती तथा सूक्ष्म सिंचाई योजना को किसानों के हित में बताया।


उन्होंने किसानों के हित में केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही तमाम योजनाओं की जानकारी दी और कहा कि किसान उत्पादक संगठनें भी किसानो एवं कृषि-क्षेत्रों की चुनौतियों के समाधान में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।
मंत्री ने कहा कि पुरातन काल से लेकर वर्तमान समय तक और कोविड-19 जैसे प्रतिकूल दौर में भी कृषि-क्षेत्र ने अपनी प्रासंगिकता को बनाए रखा है। उन्होंने नौकरी खोजने वाला बनने की बजाए नौकरी देने वाला बनने पर ज़ोर देते हुए कहा कि छात्रों का ज्ञान उनकी ऊर्जा, अनुसंधान एवं उनके पढ़ाई-लिखाई का कृषि में उपयोग करने से एक तरफ जहाँ हम गुणवत्तापूर्ण कृषि के मानकों को पूरा कर पाएंगे, वहीं आत्मनिर्भर भारत के निर्माण की दिशा में आगे बढ़ पाएंगे। प्रधानमंत्री द्वारा ‘आत्मनिर्भर भारत’, ‘लोकल फॉर वोकल’, ‘किसानों की दुगुनी आय’ जैसे आह्वानों को पूरा करने के लिए गुणवत्तापूर्ण स्थानीय उत्पादों का अधिक-से-अधिक उत्पादन पर ज़ोर देते हुए मंत्री ने इन सबके लिए कृषि-छात्रों की भूमिका को अहम बताया। स्वामी विवेकानंद को उद्धृत करते हुए उन्होंने कहा कि उपहास और विरोध की स्थितियों से जो उबर जाते हैं, दुनिया उन्हें स्वीकार लेती है।

इस अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से तोमर ने लेह, लद्दाख क्षेत्र में निर्मित क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र ‘भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद-काजरी’ के प्रयोगशाला-सह-कार्यालय भवन का लोकार्पण किया। परशोत्तम रूपाला, कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री ने बतौर सम्मानित अतिथि अपनी उपस्थिति दर्ज करते हुए कहा कि ‘कृषि अवसंरचना निधि पर संवेदीकरण कार्यशाला’ कार्यक्रम के बहाने कृषि-क्षेत्र के छात्र-छात्राओं को पहली बार एक ऐसा मंच मिला है जहाँ उन्हें विभिन्न सरकारी योजनाओं की जानकारी मिलेगी। रूपाला ने दुर्गम क्षेत्र लेह, लद्दाख में भाकृअनुप-काजरी क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र जैसी सुविधाओं के निर्माण के लिए संबंधित अधिकारियों व नीति-निर्माताओं को बधाई दी तथा कहा कि इससे स्थानीय लोग लाभान्वित होंगे।





जरा ठहरें...
दिल्ली में 81वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन का आयोजन
लोकसभा अध्यक्ष के नेतृत्व में वियना जाएगा संसदीय शिष्टमंडल
प्रधानमंत्री ने लालकिले के प्राचीर से भरी हुंकार, बोले यह सही वक्त है काम करने का
लोकतांत्रिक देशों के साथ विचारों के आदान प्रदान में संसदीय समूह की अहम भूमिका - ओम बिरला
लोकसभा का मानसून सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित
समाजवादी पार्टी अपने दम पर उ.प्र. का अगला चुनाव लड़ेगी – अखिलेश यादव
राष्ट्रीय स्वयं सवेक संघ ने देशभर में की कोरोना पीड़ितो की मदद
उर्वरक कंपनियां प्रतिदिन 50 टन आक्सीजन की आपूर्ति करेंगी
केंद्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा कॉलोनियों का पुनर्विकास का काम तेज
एक राष्ट्र एक राशन कार्ड से प्रवासी मजदूरों को होगा फायदा - श्रम सचिव
गणतंत्र दिवस पर राजपथ पर दिखी भारत की आन बान शान की तस्वीर
सर्वोच्च न्यायालय ने कृषि विधेयक के लागू होने पर लगाई रोक, गठित की समिति
कृषि विधेयक पास: प्रधानमंत्री बोले किसानों तक तकनीकि पहुंचने में आसानी होगी
"एक दिन ऑक्साईचीन और पीओके हमारा होगा"
वॉपकॉस ने 1110 करोड़ रुपये की अब तक सर्वाधिक आय अर्जित की!
देश की सबसे बड़ी सुरंग देश को समर्पित, प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Third Eye World News: वीडियो
चौकिए मत यह भारत का...
Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.